विश्व जनसंख्या दिवस निबंध World Population Day Essay in Hindi

विश्व जनसंख्या दिवस निबंध World Population Day Essay in Hindi

विश्व जनसंख्या दिवस एक अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जागरूकता अभियान है, जिसे पूरे विश्व में मनाया जाता है ताकि लोगों को इस मंच पर हर साल जनसंख्या बृद्धि के कारण बताये जा सके, साथ ही साथ पूरे मानव समुदाय के साथ मिल कर इस समस्या को हल किया जा सके।

यह जागरूकता कार्यक्रम चलाया जा रहा है ताकि, विश्व स्तर पर आबादी क्रांति लाइ जा सके, साथ ही साथ गहरी नींद में सोये लोगों की नींद तोड़ी जा सके ताकि वो अपना ध्यान केन्द्रित कर सकें और जनसंख्या बृद्धि के मुद्दे पर मदद कर सकें।

विश्व जनसंख्या दिवस निबंध World Population Day Essay in Hindi

विश्व जनसंख्या दिवस कब है When World Population Day is Celebrated?

विश्व जनसंख्या दिवस प्रतिवर्ष 11 जुलाई को विश्व भर में मनाया जाता है।

विश्व जनसंख्या दिवस का इतिहास The History of World Population Day

विश्व जनसंख्या दिवस एक महान कार्यक्रम है जो कि 11 जुलाई को दुनिया भर में मनाया जाता है। यह दुनिया भर में जनसँख्या या बढ़ते आबादी के मुद्दों पर लोगों के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए मनाया जाता है।

ये संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (यूएनडीपी) की शासी परिषद द्वारा पहली बार 1989 में शुरू हुआ था।

जब जनता की आबादी करीब पांच बिलियन के करीब आ गई।] तब वर्ष 1987 में 11 जुलाई को जनता के हित के लिए इस दिन की शुरुवात की गयी। यह दुनिया भर में आबादी मुद्दों पर लोगों के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए मनाया जाता है।

इसे भी पढ़ें -  बाल दिवस के लिए भाषण व निबंध Childrens Day Speech Essay in Hindi

विश्व के विकास के लिए यह बड़ी चुनौती थी, जब पृथ्वी की आबादी वर्ष 2011 में 7 बिलियन के पास पहुंच गई।

संयुक्त राष्ट्र की गवर्निंग काउंसिल के फैसले के अनुसार, वर्ष 1989 में विकास कार्यक्रम में विश्व स्तर पर समुदाय की सिफारिश के द्वारा यह तय किया गया कि हर साल 11 जुलाई विश्व जनसंख्या दिवस के रूप में मनाया जायेगा, ताकि आम जनता में जागरूकता को बढ़ाया जा सके और आबादी के मुद्दों से निपटने के लिए वास्तविक समाधानों का पता लगाया जा सके।

यह जनसंख्या के मुद्दों के महत्व के प्रति लोगों के लिए आवश्यक ध्यान केंद्रित करने के लिए शुरू किया गया था।

विश्व जनसंख्या दिवस क्यों मनाया जाता है? What is Significance of World Population Day Celebration?

संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम की गवर्निंग काउंसिल का लक्ष्य समुदाय के लोगों में प्रजनन स्वास्थ्य समस्याओं की ओर ध्यान देना है। बीमार स्वास्थ्य ,दुनिया भर में गर्भवती महिलाओं की मौत का प्रमुख कारण है।

यह प्रतिष्ठित किया गया है, लगभग 800 महिलाएं एक बच्चे को जन्म देने की प्रक्रिया में रोजाना मर रही हैं। विश्व जनसंख्या दिवस अभियान हर साल दुनिया भर के लोगों में प्रजनन स्वास्थ्य और परिवार नियोजन के ज्ञान को बढ़ा रहा है।

करीब 1.8 अरब युवा अपने प्रजनन के वर्षों में प्रवेश कर रहे हैं और इसके लिए प्रजनन स्वास्थ्य के प्राथमिक भाग की ओर उनका ध्यान आकर्षित करना बहुत आवश्यक है।

आंकड़ों के अनुसार, यह नोट किया गया है कि 1 जनवरी 2017 विश्व की जनसंख्या 7,362,350,168 तक पहुंच गई है। वास्तविकता के बारे में लोगों को जागरूक बनाने के लिए विश्व जनसंख्या दिवस का वार्षिक उत्सव कई गतिविधियों और घटनाओं के साथ योजनाबद्ध है

इस महान जागरूकता उत्सव के माध्यम से लोगों को जनसंख्या के मुद्दों के बारे में जानने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है साथ ही साथ इसके द्वारा परिवारों की बढ़ती आबादी, लिंग असमानता, मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य, गरीबी, मानव अधिकार, स्वास्थ्य के अधिकार, कामुकता की शिक्षा, निरोधकों और कंडोम, प्रजनन स्वास्थ्य, किशोर गर्भावस्था, लड़की की शिक्षा, बाल विवाह, यौन संचारित संक्रमण और इतने सारे जैसे सुरक्षा उपायों का उपयोग आदि के विषय में जानकारी दी जाती है

इसे भी पढ़ें -  ईद-ए-मिलाद उन-नबी Eid e Milad Un Nabi Essay in Hindi

आंकड़ों के मुताबिक विशेष रूप से 15 से 19 वर्ष की उम्र के बीच युवाओं के बीच लैंगिकता से जुड़ी समस्या को सुलझाना बहुत जरूरी है, यह कहा जाता है कि इस युग की लगभग 15 मिलियन महिलाओं ने प्रत्येक वर्ष जन्म दिया है और चार मिलियन गर्भपात के लिए गई हैं।

विश्व जनसंख्या दिवस कैसे मनाया जाता है? Celebration of World Population Day

विश्व जनसंख्या दिवस,बढ़ती आबादी के मुद्दों पर सामूहिक लोगों के साथ मिलकर काम करने के लिए विभिन्न गतिविधियों और कार्यक्रमों का आयोजन करके मनाया जाता है।

कुछ कार्यक्रमों में सेमिनार चर्चा, शैक्षिक प्रतियोगिताओं, शैक्षिक सूचना सत्र, निबंध लेखन प्रतियोगिता, विभिन्न विषयों पर सार्वजनिक प्रतियोगिता, पोस्टर वितरण, गीत, खेल गतिविधि, भाषण, कविता, कलाकृति, नारे, विषयों और संदेश वितरण, कार्यशालाएं, व्याख्यान, प्रेस कॉन्फ्रेंस, टीवी चैनल और न्यूज चैनल के जरिए बहस, गोल मेज की चर्चा, समाचार वितरण, रेडियो और टेलीविजन पर जनसंख्या संबंधी कार्यक्रमों का रिले और बहुत से कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है।

विभिन्न स्वास्थ्य संगठनों और जनसंख्या डिवीजनों साथ मिलकर, आबादी मुद्दों को हल करने के लिए शोध कार्यों, बैठकों, परियोजना विश्लेषण और आदि के आयोजन करते हैं

विश्व जनसँख्या दिवस का उत्सव मनाने के कुछ उद्देश्य नीचे वर्णित हैं

  • यह लड़कियों और लड़कों दोनों के लिंग को संरक्षित करने और सशक्त बनाने के लिए मनाया जाता है।
  • उन्हें कामुकता और देर से विवाह के बारे में जानकारी देने के लिए, जब तक वे अपनी जिम्मेदारियों को समझने में सक्षम न हो जाएं।
  • युवाओं को उचित और युवाओं के अनुकूल उपायों का उपयोग करके अवांछित गर्भधारण से बचने के लिए शिक्षित करना।
  • लोगों से समाज से लैंगिक रूढ़िवाइयों को दूर करने के लिए शिक्षित करना।
  • प्रारंभिक जन्म के खतरे के बारे में जन जागरूकता बढ़ाना और उन्हें गर्भधारण संबंधी बीमारियों के बारे में शिक्षित करना
  • उन्हें एसटीडी (यौन संचारित रोगों) के बारे में शिक्षित करना ताकि उन्हें विभिन्न संक्रमणों से बचाया जा सके।
  • बालिका अधिकारों की रक्षा के लिए कुछ प्रभावी कानूनों और नीतियों के कार्यान्वयन की मांग करना।
  • लड़कियों और लड़कों दोनों को समान प्राथमिक शिक्षा के उपयोग के बारे में सुनिश्चित करना।
  • यह सुनिश्चित करना, कि हर जोड़े के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य हर जगह प्रजनन स्वास्थ्य सेवायें आसानी से पहुंच सकें।
इसे भी पढ़ें -  भारत के जनसंख्या वृद्धि पर निबंध Essay on Population problem in Hindi

1 thought on “विश्व जनसंख्या दिवस निबंध World Population Day Essay in Hindi”

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.