14वें दलाई लामा की जीवनी Dalai Lama Biography in Hindi -Tenzin Gyatso

14वें दलाई लामा की जीवनी Tenzin Gyatso Dalai Lama Biography Hindi

14वें दलाई लामा की जीवनी Dalai Lama Biography in Hindi -Tenzin Gyatso

क्या आप 14वें दलाई लामा तेनजिन ग्यास्तो Tenzin Gyatso के विषय में जानना चाहिते हैं?
क्या आप 14वें दलाई लामा इतिहास के विषय में जानना चाहते हैं?

हमारे 14वें दलाई लामा श्री तेनजिन ग्यास्तो Tenzin Gyasto के विषय में जानने से पहले हमें यह जानना जरूरी है कि दलाई लामा क्या है या दलाई लामा का क्या अर्थ है।

दलाई लामा क्या है और वो कहाँ रहेते हैं?

दलाई लामा Gelung स्कूल में बौद्ध धर्म के सबसे बड़े अनुनायी हैं जो की 1357–1419 में जे त्सोंग्खापा Je Tsongkhapa के द्वारा शुरू किया गया है।  आज के दिन में 14वें दलाई लामा तेनजिन ग्यास्तो Tenzin Gyatso हैं।

पढ़ें : महात्मा गांधी की जीवनी

तेनजिन ग्यास्तो जी की संक्षिप्त में जीवनी

ज़रूरी जानकारी

  • नाम – तेनजिन ग्यास्तो Tenzin Gyasto
  • पूरा नाम – ल्हामो धोण्डुप Lhamo Dondrub
  • जन्म – 6 जुलाई, 1935
  • पिता – चोएकयोंग त्सेरिंग Choekyong Tsering
  • माता – डिकी त्सेरिंग Diki Tsering
  • अध्यात्मिक कार्य – उनको पुरे विश्व भर में Man of Peace यानी की दुनिया भर में शांति फैलाने वाले व्यक्ति के रूप में जाना जाता है। तेनजिन ग्यास्तो, दलाई लामा के पद पर सबसे ज्यादा दिन तक रहने वाले एक मात्र हैं बुद्ध अनुनायी हैं।

श्री परम पूज्य दलाई लामा- तेनजिन ग्यास्तो बौद्ध धर्म के अनुनायी होने के साथ-साथ तिब्बत के राष्ट्राध्यक्ष और आध्यात्मिक गुरू हैं। – तेनजिन ग्यास्तो, स्वयं को बहुत ही साधारण सा बुद्ध अनुनायी मानते हैं।

उनका जन्म एक छोटे से गाँव तक्त्सेर , अम्दो उत्तरी तिब्बत में 6 जुलाई 1935 को एक किसान परिवार में हुआ था। 2 साल की उम्र में जब उनका नाम ल्हामो धोण्डुप Lhamo Dondrub कह कर बुलाया जाता था उसी समय उन्हें 13 वें दलाई लामा श्री थुबटेन ग्यास्तो Thubten Gyatso के पुनर्जन्म की मान्यता दे दी गयी थी।

दलाई लामाओं को अवलोकितेश्वर या चेंरेज़िग, बोधिसत्व और तिब्बत के संरक्षक संत के रूप में माना जाता है। बोदिसत्व वो व्यक्ति है जो अपने निर्वाण को स्थगित करके मानवता के लिए पुनर्जन्म को चुनता है।

पढ़ें : स्वामी राम देव की जीवनी

शिक्षा

श्री परम पूज्य दलाई लामा- तेनजिन ग्यास्तो ने 6 साल की आयु में ही अपनी मठ की शिक्षा शुरू कर दी थी। उनकी शिक्षा के कुछ मुख्य विषय थे तर्कशास्त्र, तिब्बत की कला और संस्कृति, संस्कृत, औषधियाँ और बौद्ध तत्वज्ञान जो की आगे जा कर 5 भागों में विवाजित हुआ – प्रज्नापरिमिता, मध्यमिका, विनय, अभिधर्म, परमानना और ज्ञान पद्धति शास्त्र।

अन्य 5 विषय थे कविता, संगीत और ड्रामा, ज्योतिष विज्ञानं। वर्ष 1959, 23 साल की उम्र में, परम पावन श्री दलाई लामा- तेनजिन ग्यास्तो नें ल्हासा के जोखांग मंदिर में वार्षिक मोनलम प्रार्थना त्यौहार के दौरान अपना अंतिम परीक्षा दिया।वे होनोर्स में पास हुए और उनको गेशे ल्हारम्पा डिग्री से नवाज़ा गया जो की सबसे बड़े डिग्री के नाम से जाना जाता है जिसे बौद्ध तत्वविज्ञान के डॉक्टरेट उपाधि के समान माना जाता है।

वर्ष 1950 में श्री परम पूज्य दलाई लामा जी को तिब्बत पर चीन के आक्रमण करने के बाद पूर्ण राजनीतिक सत्ता ग्रहण करने के लिए आवाहन किया गया। 1954 में, वे माओत्से तुंग और अन्य चीनी नेताओं, देंग जियाओपिंग और चाउ एनलाई के साथ शांति वार्ता के लिए बीजिंग के लिए भी गए।

पढ़ें : चीन और भारत के युद्ध का इतिहास

लेकिन तब भी 1959 लहोस में चीनी सैनिकों के विद्रोह के कारण, परम पूज्य दलाई लामा जी को निर्वासन से बचने के लिए मजबूर किया गया। तब से वे धर्मशाला, उत्तर भारत में रह रहे हैं। चीन के इतनी क्रूर भावना के बाद भी वे अपने शत्रुओं के प्रति क्षमा भाव रखते हैं।

लेकिन तब भी 1959 लहोस में चीनी सैनिकों के विद्रोह के कारण, परम पूज्य दलाई लामा जी को निर्वासन से बचने के लिए मजबूर किया गया। तब से वे धर्मशाला, उत्तर भारत में रह रहे हैं। चीन के इतनी क्रूर भावना के बाद भी वे अपने शत्रुओं के प्रति क्षमा भाव रखते हैं।

चीन के आक्रमण के बाद, केंद्रीय तिब्बती प्रशासन नें श्री परम पूज्य दलाई लामा जी के नेतृत्व में तिब्बत के सवालों पर सयुंक्त राष्ट्र से अपील की। महासभा नें 1959, 1961 और 1965 में तिब्बत पर तीन प्रस्तावों को अपनाया।

उनका शांति पहल

वे पिछले कई वर्षों से वह लोगों को शांति और प्रेम का संदेश देते आ रहे हैं। भारत में वह अपने देश की साहित्य, कला एवं चिकिस्ता संबंधी विरासत को जीवित रखना चाहते हैं। उन्होंने तिब्बत में शांति बनाये रखने के लिए 5 महत्वपूर्ण प्रस्ताव रखे –

  • पुरे तिब्बत को एक शांति स्थल बनायें।
  • चीन की जनसंख्या स्थानातंरण की नीति जो तिब्बतियों के अस्तित्व के लिए खतरनाक है, उसको पूरी तरह से छोड़ दिया जाये।
  • तिब्बत के लोगों के लिए आधारभूत मानवीय अधिकार और प्रजातंत्रीय स्वतंत्रता के प्रति सम्मान की भावना रखा जाये।
  • तिब्बत के प्राकृतिक पर्यावरण की पुनर्स्थापना और संरक्षण तथा चीन द्वारा आणविक शस्त्रों के निर्माण और परमाणु कूड़ादान के रूप में तिब्बत को काम में लाए जाने पर रोक।
  • तिब्बत के भविष्य की स्थिति और तिब्बतियों तथा चीनियों के आपसी संबंधों के विषय में गंभीर बातचीत की शुरुआत करना जरूरी।

दिए गए अवार्ड/पुरस्कार

  • Nobel Peace Prize 1989
  • Templeton Prize 2012
  • Honorary degree 2013, 2011, 2010, …
  • Congressional Gold Medal 2006
  • Four Freedoms Award 1994
  • Hanno R. Ellenbogen Citizenship Award 2009
  • Ramon Magsaysay Award for Community Leadership 1959
  • International Freedom Conductor Award 2010
  • World Security Annual Peace Award 1994
  • International League for Human Rights Award 2003
  • Ján Langoš Human Rights Award 2009
  • Jaime Brunet Prize for Human Rights 2003
  • Life Achievement Award 1999
  • German Media Prize Berlin 2009
  • Inaugural Hofstra University Guru Nanak Interfaith Prize 2008
  • Lantos Human Rights Prize 2009

परम पावन 6 महाद्वीपों के 62 से भी अधिक देशों की यात्रा कर चुके हैं। वे बड़े देशों के राष्ट्रपतियों, प्रधानमंत्रियों और राजकीय शासकों से मिले हैं। वे विभिन्न धर्मों के प्रमुखों और जाने माने वैज्ञानिकों से भी संवाद कर चुके हैं।

प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प की जीवनी US President Donald Trump Biography in Hindi

डोनाल्ड ट्रम्प 2016 Elect. अमरीकी राष्ट्रपति Donald Trump Biography in Hindi

प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प की जीवनी US President Donald Trump Biography in Hindi

  • नाम – डोनाल्ड जॉन ट्रम्प (Donald John Trump)
  • जन्म – जून 14, 1946 न्यू यॉर्क शहर, न्यू यॉर्क, अमरीका (New York City, New York, U.S)
  • माता – मैरी ऐनी Mary Anne
  • पिता – फ्रेड ट्रम्प Fred Trump
  • पत्नियाँ – इवाना ज़ेल्निक्कोवा (Ivana Zelníčková) विवाह – 1977 तलाक – 1991, मरला मैपल्स (Marla Maples) विवाह  -1993 तलाक 1999, मेलेनिया क्नौस विवाह – 2005
  • बच्चे – डोनाल्ड जूनियर, इवंका, एरिक, टिफ़नी, बर्रों (Donald Junior, Ivanka, Eric, Tiffany, Barron)
  • राष्ट्रीयता – अमरीकी U.S
  • पढाई – यूनिवर्सिटी ऑफ़ पेनसिलवेनिया, न्यू यॉर्क मिलिट्री अकादमी, फोर्द्हम यूनिवर्सिटी, व्हार्टन स्कूल ऑफ़ थे यूनिवर्सिटी ऑफ़ पेनसिलवेनिया, केव-फारेस्ट स्कूल (University of Pennsylvania, New York Military Academy, Fordham University, Wharton School of the University of Pennsylvania, The Kew-Forest School)
  • व्यवसाय – टेलीविज़न और रियल एस्टेट व्यापार
  • मशहूर –  2016 के अमरीकी चुनाव में चुने गए राष्ट्रपति, दुनिया के सबसे आमिर व्यक्तियों में 156 वे स्थान पर 11/13/16 में Forbes के अनुसार $3.7 बिलियन की संपत्ति के मालिक

डोनाल्ड ट्रम्प की जीवनी – अमरीकी राष्ट्रपति Donald Trump Biography in Hindi

डोनाल्ड ट्रम्प का परचिय Intrduction of Donald Trump

डोनाल्ड जॉन ट्रम्प Donald John Trump अमरीका के बहुत ही नामी व्यापारियों और टेलीविज़न में शख़्सियत गिने जाते हैं। वर्ष 2016 के अमरीका के राष्ट्रपति इलेक्शन में उन्हें जित मिली। वे जनवरी 20, 2017 को अमरीका के 45वे राष्टपति के रूप में अधिकारिक तौर पर जुड़ेंगे।

उनका व्यापर रियल एस्टेट, खेल, गेमिंग, से जुड़ा हुआ है। उन्होंने अपने शेयर्स में बहुत साड़ी गलतियां की और पर उन्हें हमेशा एक करिश्माई नेता का उत्कृष्ट रूप माना गया है। बहुत सारे लोगों का यह कहना है की उनमें हमेशा स्फूर्तिदायक क्षमता और भविष्य की कल्पना करेने की अच्छी तकनीक मौजूद है तथा कुछ लोग तो यह भी कहते हैं वह विश्वास खो चुके लोगों में भी विश्वास दिलाने की काबिलियत रखते हैं।

बहुत ही छोटी उम्र में उन्होंने आने पिता के व्यापर में बड़े प्रोजेक्ट पर मेनहट्टन में काम करना शुरू कर दिया था। उन्होंने ग्रैंड ह्यात्त भी बनाया, जो की बहुत ही मशहूर है और उससे उन्हें बहुत कमाई भी हुई। उनके स्टाइल, असाधारण जीवन शैली और खुलकर बोलने  के तरीके ने उन्हें बिज़नस मन के साथ-साथ सेलेब्रिटी का भी हैसियात दिया।

डोनाल्ड ट्रम्प का बचपन Childhood of Donald Trump

उनका जन्म जून 14, 1946 न्यू यॉर्क शहर, न्यू यॉर्क, अमरीका में एक बिल्डर और रियल एस्टेट व्यापारी पिता फ्रेडेरिक ट्रम्प (Frederick Trump) और माता मैरी मैकलीओड(Mary McLeod) के घर में हुआ। डोनाल्ड ट्रम्प अपने 5 भाई बहनों में एक थे।

उन्होंने अपनी पढाई की शुरुवात केव-फारेस्ट स्कूल, फारेस्ट हिल्स, न्यू यॉर्क से की। 13 वर्ष की आयु में उनके माता-पिता ने उन्हें न्यू यॉर्क मिलिट्री स्कूल भेज दिया। वे 1964 के ग्रेजुएशन के समय स्टार एथलीट और छात्र नेता के रूप में उभरे।

ट्रम्प ने फोर्द्हम यूनिवर्सिटी में 2 साल पढाई किया और उसके बाद व्हार्टन स्कूल ऑफ़ फाइनेंस (यूनिवर्सिटी ऑफ़ पेंन्स्ल्वानिया) 1968 में इकोनिमिक्स में ग्रेजुएशन की पढाई पूरी की।

डोनाल्ड ट्रम्प का व्यापार कैरियर Donald’s Trump Business Life

डोनाल्ड ट्रम्प ने अपने पिता की कंपनी “एलिज़ाबेथ ट्रम्प एंड सन” में अपने कॉलेज की पढाई के समय जॉइन किया। यह कंपनी ब्रुकलिन, कुईंस, और स्टेटन आइलैंड में माध्यम वर्ग के माकन किराये में देती थी।

ट्रम्प इस कारोबार में बहुत ही ज्यादा ध्यान देने लगे जिसमें उन्होंने $5लाख का निवेश किया। इस प्रोजेक्ट में कुल 1200 अपार्टमेंट सिनसिनाटी शहर में बनाये गए जो लगभग 2 वर्षों के भीतर 100% लोगों ने किराये में ले लिया।

वर्ष 1971, में वे मेनहट्टन, न्यू यॉर्क के स्टूडियो अपार्टमेंट में चले गए जहाँ वो बड़े बिल्डिंग प्रोजेक्टों पर काम करने लगे। उसी वर्ष उन्हें पहला करोड़ों डोलर की रियल स्टेट लेनदेन करने वाली कंपनी कहा गया जब उन्होंने Swifton Village, सिनसिनाटी, ऑहियो के अपार्टमेंट को बेचा।

साल 1985, में डोनाल्ड ट्रम्प ने Palm Beach, Florida पर Mar-a-lago Estate ख़रीदा, Barbizon Hotel और 100 Cantral Park South को पूरी तरीके से नया और सुन्दर बनाया।

वर्ष 1988, ट्रम्प ने न्यू यॉर्क शहर में Plaza Hotel ख़रीदा।

1989 में, ट्रम्प ने 727 Aeroplanes ख़रीदा और Trump Air Shuttle Service शुरू किया। दुर्भाग्य से उनका एक हेलीकाप्टर क्रेश हो जाने के कारण ट्रम्प के 3 Casino के अधिकारों की मृत्यु हो गयी थी जो बिच में एक बड़ा मुद्दा बन गया था।

प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प की जीवनी US President Donald Trump Biography in Hindi

वर्ष 1989 में ट्रम्प ने अपने तीसरे Casino, Taj Mahal को बनाने में $1 Million का निवेश किया था।  कुछ गलत व्यापार के निर्णय लेने के कारण यह वर्ष उनको दिवालिया बना देने की कगार में ले आया था।

पर डोनाल्ड ट्रम्प की सबसे बड़ी बात यही है कि वो आसानी से हार नहीं मानते। साल 1990 में ट्रम्प ने अपना नाम, दाम और काम दोबारा जमा लिया जब Atlantic City में Trump Taj Mahal Casino की शुरुवात की।

1996 में उन्हें Miss Universe Organisation का Ownership मिला। यह कंपनी Miss Universe, Miss USA और Miss Teen USA प्रतियोगियों को बनती है और सामने लाती है।

वर्ष 2003 में Donald Trump ने National Broadcasting Company (NBC) के साथ Joint Partnership की जहाँ ट्रम्प ने कार्यकारी निर्माता और NBC के रियलिटी शो The Apprentice में Host बन गए। इस show में उन्हें बहुत ज्यादा सफलता मिली। इससे प्रेरणा ले कर Trump ने दूसरा शो “The Celebrity Apprentice” में सह-निर्माता के रूप में ब्रिटिश टेलीविज़न के निर्माता Mark Burnett के साथ काम किया।

21अक्टूबर 2004 को Trump Hotels और Casino & Resort ने पुनर्गठन का एलान किया जिसके कारन ट्रम्प का निजी स्वामित्व 56% से घाट कर 27% हो गया। उसके बाद कंपनी ने “अध्याय 11 संरक्षण” के लिए Apply किया जिसके कारण वो दोबारा दिवालिया होने से बचे।

प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प की जीवनी US President Donald Trump Biography in Hindi

डोनाल्ड ट्रम्प ने अपने ज्यादातर उत्पादों में Trump नाम जोड़ दिया –

  • ट्रम्प फाइनेंसियल Trump Financial
  • ट्रम्प सेल्स एंड लीजिंग Trump Sales and Leasing
  • ट्रम्प इंटरप्रेन्योर इनिशिएटिव Trump Entrepreneur initiative
  • ट्रम्प रेस्टोरेंट Trump Restaurants
  • गो ट्रम्प Go TRUMP
  • डोनाल्ड जे. ट्रम्प सिग्नेचर कलेक्शन Donald J. Trump signature collection
  • डोनाल्ड ट्रम्प रियल एस्टेट टाइकून Donald Trump’s Real Estate Tycoon
  • ट्रम्प एयरलाइन्स Trump Airlines इत्यादि

डोनाल्ड ट्रम्प का राजनितिक कैरियर Political Career of Donald Trump

वर्ष 2000 के इलेक्शन में डोनाल्ड ट्रम्प ने अमेरिका के राष्ट्रपति पद के लिए तीसरे पक्ष के उम्मीदवार के रूप में खड़े होने का सोचा।

2004 और 2008 में ट्रम्प ने Republic Party की ओर से राष्ट्रपति पद के लिए लड़ने का अनुमान लगाया पर 2006 में न्यू यॉर्क के गवर्नर के लिए पार्टी के प्रतिनिधि के रूप में चुना गया।

2010-2012 में ट्रम्प ने अपने राजनीतिक कैरियर में तेजी दिखाई और सार्वजनिक रूप से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के लिए अपना नाम एलान किया। हलाकि उनके एसोसिएशन के एक ग्रुप ने यह कहा की बरैक ओबामा जिसने अमरीका में जन्म नहीं लिया है तुम्हारे पोलिटिकल कैरियर को तबाह कर देगा।

जनवरी 2013 में ट्रम्प ने इसरायली एलेतिओं के समय इजराइल के प्रधान मंत्री “बेंजामिन नेतान्याहू” का समर्थन किया और ट्रूम 2013 “कंजरवेटिव पॉलिटिकल एक्शन कांफ्रेंस” CPAC के विशेष स्पीकर भी थे।

2016 के अमरीकी राष्टपति चुनाव अभियान U.S Presidential Campaign 2016

प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प की जीवनी US President Donald Trump Biography in Hindi

डोनाल्ड ट्रम्प ने जून 2015 में Republican के रूप में राष्ट्रपति चुनाव के उम्मीदवार के लिए अपना नाम दिया था। उनके सफल व्यापार, मीडिया में मशहूर और ना हार मानाने वाले क्वालिटी के लिए वे जल्द ही पार्टी के नॉमिनेशन में आगे रहे और 2016 के Republican National Convention में उन्हें रष्ट्रपति पद के Nominate किया गया।

उनके चनाव अभियान का नारा था “Make America Great Again” यानि की दोबारा चलो अमरीका को महान बनायें- उनके चुनाव अभियान में उन्होंने कुछ अहम् मुद्दों को उठाया जैसे – अवैध आव्रजन, अपराध, इस्लामी आतंकवाद, अमेरिकी नौकरियों की ऑफशोरिंग, और अमेरिकी राष्ट्रीय ऋण।

उनके नए पालिसी प्लान के अनुसार ट्रम्प ने कॉर्पोरेट टैक्स को 15% कर देने का दावा किया और यह भी कहा कि वो अफोर्डेबल केयर एक्ट (ओबामा केयर) को भी किसी नए मुफ्त प्लान से बदलेंगे।

कुछ मीडिया चैनल और मैगज़ीन ने अशिष्ट और सेक्सिस्ट भाषा का प्रयोग करने के आलोचना भी की और कुछ ने तो ट्रम्प के खिलाफ  यौन दुराचार के कई आरोप लगाये। पर इन विवादों के बाद भी ट्रम्प ने अपने विपक्षी उम्मिस्वर हिलारी क्लिंटन (Hillary Clinton) को इलेक्शन में हरा कर 8 नवम्बर 2016 को अमरीकी प्रेसिडेंट – इलेक्शन में जित हासिक किया।

वो दुनिया के सबसे शक्तिशाली पद यानि की अमरीकी राष्टपति के ऑफिस को 45वे राष्टपति के रूप में 20जनवरी, 2017 को जॉइन करेंगे।

डोनाल्ड ट्रम्प के जीवन के कुछ अहम् कार्य Some Important Works done by Donald Trump

  • 1974, में न्यू यॉर्क शहर में दो रेल यार्ड ख़रीदा था। साथ ही दिवालिया हो चुके Commodore Hotel को खरीद कर Hotel Grand Hyatt बना दिया और साथ ही Trump Organization भी बनाया।
  • 1980 में Trump ने Trump Tower को न्यू यॉर्क में अच्छी अवस्था में बनाना शुरू किया और Atlantic City बिज़नस शुरू किया जिसके कारन उन्हें बहुत क़र्ज़ का सामना करना पड़ा।
  • 2001 में Trump Tower का बनना पूरा हुआ जो की 72 मंजिला बिल्डिंग। इसी वर्ष Hudson नदी के पास ट्रम्प ने Trump Plaza बनना शुरू किया।
  • 2006 में Trump ने Balmadie में Menie Estate ख़रीदा। उसी वर्ष Scotland में डोनाल्ड ट्रम्प ने दुनिया का श्रेष्ट Golf Course बनवाया।
  • 2009 में Trump ने Vince McMohan से WWE RAW शो को खरीद लिया।

डोनाल्ड ट्रम्प की लिखीं किताबें Donald Trump Books

  • Trump: The Art of the Deal दी आर्ट ऑफ़ दी डील
  • Think big: Make it happen in Business and Life मेक आईटी हैपन इन बिज़नस एंड लाइफ
  • Think like a champion: An Informal Education in Business and Life थिंक लाइक ए चैंपियन
  • Trump 101: The Way to Success दी वे टू सक्सेस
  • Trump: How to Get Rich हाउ तो गेट रिच
  • Trump: Surviving at the Top सरव्हाविंग एट दी टॉप

डोनाल्ड ट्रम्प का नीजी जीवन Personal Life of Donald Trump

प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प की जीवनी US President Donald Trump Biography in Hindi

Image Source – People.com

1977 में ट्रम्प ने Ivana Zelnickova से विवाह किया और उनके 3 बच्चे हुए – डोनाल्ड जूनियर, इवंका, और एरिक। 1992 में उनका तलाक हो गया।

प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प की जीवनी US President Donald Trump Biography in Hindi

Image Source – usmagazine.com

1993 में ट्रम्प ने Marla Maples से विवाह किया और विवाह से 2 महीने पूर्व उनका एक बच्चा हुआ – Tiffany. उनका भी तलाक हो गया 1999 में।

प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प की जीवनी US President Donald Trump Biography in Hindi

Image Source – NydailyNews.com

2005 में ट्रम्प ने Melania Knauss से शादी किया और उनका एक बेटा है Barron William Trump.

डोनाल्ड ट्रम्प के आलीशान NYC Penthouse

  • डोनाल्ड ट्रम्प का परिवार मुख्य तौर पर Trump Tower,  New York City, जो 725 Fifth Avenue में मौजूद है।
  • उनके घर में ज्यातर सामान 22 Carat सोने से बनाया गया है और रंग भी सोने से मिलता झूलता किया गया है।
  • घर के फर्नीचर में भी सोने का कारीगरी किया गया है।
  • ट्रम्प के लिविंग अपार्टमेंट की खिड़की से आसानी से पूरा सेंट्रल पार्क, न्यू यॉर्क के पांच नगर, और पास का न्यू जर्सी आसानी से दीखता है।
प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प की जीवनी US President Donald Trump Biography in Hindi

Image Source – housebeautiful.com

डोनाल्ड ट्रम्प अवार्ड Donald Trump Awards

  • नॉमिनेशन फॉर प्राइमटाइम एमी 2005
  • स्टार ओन वाक ऑफ़ फेम 2007
  • सेलेब्रिटी विंग ऑफ़ WWE हॉल ऑफ़ फेम 2013

डोनाल्ड ट्रम्प के 11 ज़बरदस्त तथ्य Donald Trump Facts in Hindi

  • डोनाल्ड ट्रम्प कभी भी शराब नहीं पीते, सिगरेट नहीं पीते।
  • वो हाँथ मिलाना बिलकुल पसंद नहीं करते। वे किसी भी बड़े इंसान को मिलते समय झट से अपने पास खीच लेते हैं ताकि उन्हें हाँथ मिलाना ना पड़े।
  • डोनाल्ड ट्रम्प में बहुत ही ज्यदा कॉन्फिडेंस होता है। एक बार  2004 के The Daily News में Trump ने कहा कि “अपरेंटिस पर लग भाग सभी महिलाओं ने मेरे साथ फ़्लर्ट / इस्क्बाज़ी की – जानबूझकर या अनजाने में”।
  • डोनाल्ड ट्रम्प को अमरीका के एक प्रोफेशनल फुटबॉल टीम “The Patriot” को खरीदने का मौका मिला था पर उन्होंने उस डील को छोड़ दिया पर आज के दिन में वह टीम $2बिलियन की है।
  • वे अकेले ऐसे र्श्त्पति उम्मीदवार हैं जिसका खुद का बोर्ड गेम है जैसे – Trump: The Game.
  • ट्रम्प ने Razzle Award में सबसे ख़राब समर्थक अभिनेता  का अवार्ड जीता, 1990 की ‘Ghosts Can’t Do It’ फिल्म के लिए।
  • वो “Birther” आन्दोलन के सक्रीय सदस्य थे जिसने President Obama के जन्म स्थान का सवाल पुछा।
  • डोनाल्ड ट्रम्प 4 बार लगभग व्यापार में दिवालिया हुए।
  • डोनाल्ड ट्रम्प ने WWE के मालिक Vince McMahon के सर के बाल Shave कर दिए थे।
  • Trump का कहना है उसने जिंदगी में कभी भी ATM का उपयोग नहीं किया है।
  • Trump ने 2006 में अपना एक Vodka का Brand भी शुरू किया था जो Consumers को पसंद ना आने के कारण जल्द ही बंद कर दिया गया।

प्रफुल्ल चन्द्र राय की जीवनी Biography of Prafulla Chandra Ray in Hindi

प्रफुल्ल चन्द्र राय की जीवनी Biogyaphy of Prafulla Chandra Ray in Hindi

प्रफुल्ल चन्द्र राय की जीवनी Biography of Prafulla Chandra Ray in Hindi प्रफुल्ल चन्द्र राय जी भारत के महान रसायन शास्त्र के वज्ञानिक होने के साथ साथ …

पूरा पढ़ें >>प्रफुल्ल चन्द्र राय की जीवनी Biography of Prafulla Chandra Ray in Hindi

टीपू सुल्तान का इतिहास Tipu Sultan History in Hindi

टीपू सुल्तान का इतिहास Tipu Sultan History in Hindi

टीपू सुल्तान का इतिहास Tipu Sultan History in Hindi

टिपू सुल्तान, मैसूर के साम्राज्य के एक शासक थे, जो ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी के खिलाफ युद्ध में बहादुरी के लिए प्रसिद्ध थे। अपनी वीरता और साहस के लिए प्रसिद्ध, उन्हें भारत के पहले स्वतंत्रतावादी सैनिक के रूप में माना जाता है, जो ब्रिटिशों के खिलाफ अपनी भयंकर लड़ाई के लिए सुलह के नियमों के तहत प्रदेशों को जीतने की कोशिश करता था।

टीपू सुल्तान का इतिहास Tipu Sultan History in Hindi

मैंगलोर की संधि, जिसमें उन्होंने ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी के साथ दूसरे एंग्लो-मैसूर युद्ध का अंत लाने के लिए हस्ताक्षर किए, यह आखिरी मौका था जब एक भारतीय राजा ने अंग्रेजों के लिए नियम तय किया था।

1782 में, मैसूर के सुल्तान हैदर अली के सबसे बड़े बेटे , टीपू सुल्तान अपने पिता की मृत्यु के बाद सिंहासन पर बैठे। शासक के रूप में, उन्होंने अपने प्रशासन में कई नवाचार लागू किए और लोह मामलों वाले मायसोरियन रॉकेट्स का विस्तार भी किया, जिसे उन्होंने बाद में ब्रीटीबल बलों की अग्रिमों के खिलाफ तैनात किया।

उनके पिता के फ्रांसीसी के साथ राजनीतिक संबंध थे और इस प्रकार टीपू सुल्तान ने एक युवा व्यक्ति के रूप में फ्रांसीसी अफसरों से सैन्य प्रशिक्षण प्राप्त किया था। शासक बनने के बाद, उन्होंने ब्रिटिश के खिलाफ अपने संघर्ष में फ्रैंच के साथ संरेखित करने की उनके पिता की नीति को जारी रखा।

बचपन और प्रारंभिक जीवन Early Life of Tipu Sultan

टीपू सुल्तान का जन्म 20 नवंबर 1750 को आज के बेंगलुरु ग्रामीण जिले में हैदर अली के घर हुआ था। उनके पिता दक्षिणी भारत में मैसूर राज्य में सेवा करने वाले एक सैन्य अधिकारी थे, जो 1761 में मैसूर के साम्राज्य के वास्तविक शासक बनने के लिए तेजी से बढ़ रहे थे।

हैदर अली, जो खुद अशिक्षित थे, अपने बड़े बेटे को एक राजकुमार के रूप में अच्छी शिक्षा देने के बारे में बहुत ही सजग थे। टीपू सुल्तान ने हिंदुस्तानी भाषा (हिंदी-उर्दू), फारसी, अरबी, कन्नड़, कुरान, इस्लामिक धर्म, सवारी, शूटिंग और बाड़ लगाने जैसे विषयों में शिक्षा प्राप्त की।

उनके पिता के फ्रांसीसी साथ राजनीतिक संबंध थे और इस प्रकार युवा राजकुमार को अत्यधिक कुशल फ्रांसीसी अधिकारियों द्वारा सैन्य और राजनीतिक मामलों में प्रशिक्षित किया गया था। वह 15 वर्ष के थे, जब वह 1766 में अपने पिता के साथ प्रथम मैसूर युद्ध में अंग्रेजों के खिलाफ थे। कुछ ही वर्षों में हैदर पूरे दक्षिणी भारत में सबसे शक्तिशाली शासक बन गए और टीपू सुल्तान ने अपने पिता के सफल सैन्य अभियानों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

राज्यकाल Tipu Sultan’s Reign

1779 में, अंग्रेजों ने माहे के फ्रांसीसी-नियंत्रित बंदरगाह पर कब्जा कर लिया, जो टीपू की सुरक्षा के अधीन था। हैदर अली ने 1780 में जवाबी कार्रवाई में अंग्रेजों के खिलाफ शत्रुतापूर्ण युद्ध शुरू किया, और दूसरे एंग्लो-मैसूर युद्ध के रूप में जाने जाने वाले शुरुआती अभियानों में महत्वपूर्ण सफलता हासिल की। हालांकि युद्ध की प्रगति के साथ, हैदर अली कैंसर से बीमार हो गये और दिसंबर 1782 में उनका निधन हो गया।

एक शासक के रूप में, टीपू सुल्तान एक कुशल शासक साबित हुए। उन्होंने अपने पिता के पीछे छोड़ी परियोजनाओं को पूरा किया, सड़कों, पुलों, सार्वजनिक भवनों, बंदरगाहों आदि का निर्माण किया और युद्ध में रॉकेट के उपयोग से कई सैन्य नई पद्धति भी बनाई। अपने निर्धारित प्रयासों के माध्यम से, उन्होंने एक मजबूत सैन्य शक्ति का निर्माण किया जिसने ब्रिटिश सेनाओं को गंभीर नुकसान पहुंचाया।

अब तक अधिक महत्वाकांक्षी, उन्होंने अपने प्रदेशों का विस्तार करने और त्रावणकोर पर अपनी आँखें लगाई और योजना बनाई, जो मंगलौर की संधि के अनुसार, ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी के सहयोगी थे। उन्होंने दिसंबर 1789 में त्रावणकोर की तर्ज पर हमला किया, लेकिन त्रावणकोर के महाराजा की सेना से विरोध किया गया। यह तीसरा आंग्लो-मैसूर युद्ध की शुरुआत को दर्शाता है।

त्रावणकोर के महाराजा ने ईस्ट इंडिया कंपनी से सहायता के लिए अपील की, और जवाब में, लॉर्ड कॉर्नवालिस ने टीपू का विरोध करने के लिए मराठों और हैदराबाद के निजाम के साथ गठजोड़ का गठन किया और एक मजबूत सैन्य बल बनाया।

1790 में कंपनी सेना ने टीपू सुल्तान पर हमला किया और जल्द ही कोयम्बटूर जिले में से अधिकांश पर कब्जा कर लिया। टिपू का मुकाबला हुआ, लेकिन उनका अभियान बहुत सफल नहीं था। संघर्ष दो साल तक जारी रहा और 1792 में उन्होंने सरिंगपट्टम की संधि पर हस्ताक्षर करने के बाद ही इसे समाप्त कर दिया, जिसके परिणाम स्वरूप मलबार और मंगलोर सहित कई प्रदेशों को खो दिया।

हालांकि उन्होंने अपने कई प्रदेशों को खो दिया था, मगर साहसी टीपू सुल्तान को अभी भी अंग्रेजों ने एक मजबूत दुश्मन माना था। 1799 में, मराठों और निजाम के साथ गठबंधन में ईस्ट इंडिया कंपनी ने मैसूर पर हमला किया जो कि चौथे एंग्लो-मैसूर युद्ध के रूप में जाना जाता था, और मैसूर की राजधानी श्रीरंगपट्टम को कब्जा कर लिया था। युद्ध में टीपू सुल्तान मारे गये थे।

मुक्य युद्ध Some Major Battles

वह एक बहादुर योद्धा थे और उन्होंने दूसरे आंग्लो-मैसूर युद्ध में अपनी ताकत को साबित कर दिया। उन्हें अपने पिता द्वारा ब्रिटिश सेना से लड़ने के लिए भेजा गया, उन्होंने प्रारंभिक संघर्षों में बहुत साहस दिखाया। उनके पिता युद्ध के मध्य में मृत्यु हो गई और 1782 में वह मैसूर के शासक के रूप में सफल रहे और 1784 में सफलतापूर्वक मैंगलोर की सफलता के साथ युद्ध समाप्त कर दिया।

1784 में मैंगलोर की संधि Treaty of Mangalore in 1784

तीसरा आंग्लो-मैसूर युद्ध एक अन्य प्रमुख युद्ध था जो उन्होंने ब्रिटिश सेनाओं के खिलाफ लड़ा था। हालांकि, यह युद्ध एक बड़ी विफलता साबित हुआ और सुलतान को लागत बहुत ही महंगी पड़ी।

युद्ध सेरिंगापट्टम की संधि के साथ समाप्त हो गया, जिसके अनुसार उन्हें अपने आधे प्रदेशों के अन्य हस्ताक्षरकर्ताओं को छोड़ देना पड़ा, जिसमें ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी, हैदराबाद के निजाम और महारत्न साम्राज्य के प्रतिनिधियों को शामिल किया गया था।

व्यक्तिगत जीवन और विरासत Tipu Sultan’s Personal Life & Death

टीपू सुल्तान के पास कई पत्नियां थीं और शाहजादा हैदर अली सुल्तान, शाहजाद अब्दुल ख़लीक सुल्तान, शाहजादा मुहही-दीन सुल्तान और शाहजादा म्यूजउद्दीन सुल्तान सहित कई बच्चे थे। एक बहादुर योद्धा, जिनकी मृत्यु 4 मई 1799 को हुई जब चौथी एंग्लो-मैसूर युद्ध में ब्रिटिश सेना से लड़ रहे थे।

वे औपनिवेशिक ब्रिटिशों के खिलाफ अपने राज्य की रक्षा करते हुए युद्ध के मैदान पर मृत्यु होने वाले पहले भारतीय राजा थे, जिन्हें स्वतंत्रता सेनानी के रूप में भारत सरकार द्वारा आधिकारिक तौर पर मान्यता मिली।

हालांकि उन्हें भारत और पाकिस्तान के कई क्षेत्रों में भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के एक नायक के रूप में सम्मानित किया जाता है, लेकिन उन्हें भारत के कुछ क्षेत्रों में एक अत्याचारी शासक भी माना जाता है। ब्रिटिश सेना के राष्ट्रीय सेना संग्रहालय ने टीपू सुल्तान को सबसे बड़ा दुश्मन कमांडरों के बीच रखा था जिसने कभी भी ब्रिटिश सेना का सामना किया था।

सामान्य ज्ञान

टीपू को आमतौर पर मैसूर के टाइगर के रूप में जाने जाते थे और उन्होंने अपने पशु के प्रतीक (बबरी / बबरी) के रूप में इस जानवर को अपनाया। डॉ। एपीजे अब्दुल कलाम, भारत के पूर्व राष्ट्रपति, टीपू सुल्तान को दुनिया के प्रथम रॉकेट के प्रर्वतक कहते हैं।

रामायण की कहानी Hindu Epic Ramayana Story in Hindi

रामायण की कहानी Hindu Epic Ramayana Story in Hindi

रामायण की कहानी Hindu Epic Ramayana Story in Hindi (जय श्री राम / Jai Shree Ram) वैसे तो रामायण की कहानी बहुत लम्बी है परन्तु आज हम …

पूरा पढ़ें >>रामायण की कहानी Hindu Epic Ramayana Story in Hindi