चाणक्य नीति स्त्री Chanakya Niti in Hindi for Women PDF Download

आज हैप आपको इस लेख में चाणक्य नीति के विषय में बताएँगे जो चाणक्य ने महिलाओं या स्त्रिओं के लिए कहे थे Chanakya Niti in Hindi for Women PDF Download

चाणक्य नीति स्त्री Chanakya Niti in Hindi for Women PDF Download

चाणक्य कौन थे? Who was Chanakya?

चाणक्य, सम्राट चन्द्रगुप्त मौर्य के महान महामंत्री थे। वे अर्थशास्त्र राजनीति, अर्थनीति, कृषि, समाजनीति के महान ज्ञाता थे जिन्होंने इन विषयों पर कई स्वरचित ग्रन्थ भी लिखें हैं। उनको कौटल्य और विष्णुगुप्त के नाम से भी जाना जाता है।

चाणक्य ने अपनी बुद्धि से प्रथम मौर्य सम्राट चन्द्रगुप्त को अपनी सेना और राज्य की शक्ति बढ़ाने में मदद की थी। मौर्य साम्राज्य निर्माण और इतिहास में चाणक्य का बहुत ही अहम योगदान रहा।

चाणक्य ने दोनों सम्राटों चंद्रगुप्त और उनके बेटे बिन्दुसार के लिए मुख्य सलाहकार के रूप में कार्य किया।

आज हम आपको उसी चाणक्य के कुछ महत्वपूर्ण स्त्री के विषय में लिखे हुए चाणक्य नीतियों के विषय में बताएँगे। आप चाहें तो इस Post के अंत में दिए हुए PDF Button पर Click करके इन चाणक्य नीति स्त्री Chanakya Niti in Hindi for Women PDF Download भी कर सकते हैं।

चाणक्य नीति पर कुछ किताबें  Books on Chanakya Neeti

  1. Chanakya Neeti (Hindi) by Ashwini Parashar
  1. Chanakya Neeti (Hindi) by Chanakya 
  1. Sampoorn Chanakya Neeti, Sutra Evam Jeevan Parichay (Hindi) Paperback by Mahendra Mittal

चाणक्य नीति स्त्री Chanakya Niti in Hindi for Women PDF Download

1. He whose son is obedient to him, whose wife’s conduct is in accordance with his wishes, and who is content with his riches, has his heaven here on earth.

अर्थ : जिसका पुत्र आज्ञाकारी हो,  जिसकी पत्नी का आचरण उसकी इच्छा के अनुसार हो, जिसको अपने धन-दौलत पर संतुष्टि हो, उसके लिए यह सब पृत्वी पर स्वर्ग समान है।

इसे भी पढ़ें -  विडियो गेम के फायदे और नुक्सान Advantages Disadvantages of Video Games in Hindi

2. Separation from the wife, disgrace from one’s own people, an enemy saved in battle, service to a wicked king, poverty, and a mismanaged assembly: these six kinds of evils, if afflicting a person, burn him even without fire.

अर्थ : अपनी पत्नी से अलग होना, अपने ही लोगों से अपमानित होना, दुश्मन को लड़ाई में बचाना, एक दुष्ट राजा की सेवा करना, गरीबी, और एक कुप्रबंधित सभा, यह बुराइयों के छह प्रकार अगर किसी व्यक्ति के जीवन को पीड़ा देते हैं तो वह बिना अग्नि के जल जायेगा।

3. Trees on a riverbank, a woman in another man’s house, and kings without counsellors go without doubt to swift destruction.

अर्थ : नदी किनारे का पेड़, दुसरे के घर में स्त्री और बिना सलाहकारों के राजा, शक के बिना तेज़ विनाश के कारण हैं।

Loading...

4. A wicked wife, a false friend, a saucy servant and living in a house with a serpent in it are nothing but death.

अर्थ : एक दुष्ट पत्नी, एक झूठा दोस्त, एक गुस्ताख नौकर और एक नागिन के साथ रहना मृत्यु से घिरे रहना है।

5. One should save his money against hard times, save his wife at the sacrifice of his riches, but invariably one should save his soul even at the sacrifice of his wife and riches.

अर्थ : अपने कठिन समय के लिए हर किसी को पैसा बचाना चाहिए, और अपनी पत्नी के लिए इन पैसों का बलिदान देना सही है। परन्तु अपनी पत्नी और धन का बलिदान अपनी आत्मा को बचने के लिए करना चाहिए।

6. Save your wealth against future calamity. Do not say, “What fear has a rich man, of calamity?” When riches begin to forsake one even the accumulated stock dwindles away.

अर्थ : अपने भविष्य के आपदाओं के लिए पैसों की बचत करें। यह ना कहें कि “आमिर आदमी को पैसे का क्या डर”? क्योंकि जब पैसा त्यागने / दूर भागने लगता है तो जमा किये हुए पैसे भी कम पड़ जाते हैं।

इसे भी पढ़ें -  रेडियोधर्मी प्रदूषण पर निबंध Essay on Radioactive Pollution in Hindi

7. Do not stay for a single day where there are not these five persons: a wealthy man, a brahmin well versed in Vedic lore, a king, a river and a physician

अर्थ : ऐसी जगह पर एक पूरा दिन ना रुकें जहाँ ये पांच लोग ना हों – एक आमिर आदमी, अच्छी तरीके से वैदिक विद्या में निपूर्ण ब्राह्मण, एक राजा, एक नदी और एक चिकित्सक।

8. Wise men should never go into a country where there are no means of earning one’s livelihood, where the people have no dread of anybody, have no sense of shame, no intelligence, or a charitable disposition.

अर्थ : बुद्धिमान व्यक्ति को कभी भी ऐसे देश या राज्य में नहीं जाना चाहिए जहाँ आजीविका के लिए कमाने का स्त्रोत ना हो, जहाँ लोगों को किसी भी चीज का डर ना हो, जहा शर्म का कोई मतलब ना हो, सभी बुद्धिहीन हों या वहां के लोगों में अगर धर्मार्थ भावना ना हो।

9. Test a servant while in the discharge of his duty, a relative in difficulty, a friend in adversity, and a wife in misfortun.

अर्थ : एक नौकर की परीक्षा लें उसके कर्तव्य के निर्वहन के बाद, कठिनाई में एक रिश्तेदार, विपरीत परिस्तिथि में एक दोस्त की तरह, और दुर्भाग्य में एक पत्नी की तरह।

10. A wise man should marry a virgin of a respectable family even if she is deformed. He should not marry one of a low-class family, through beauty. Marriage in a family of equal status is preferable.

अर्थ : एक बुद्धिमान व्यक्ति को एक सम्मानजनक परिवार के एक कुंवारी लड़की से शादी करनी चाहिए, भले ही वह विकृत क्यों ना हो। उन्हें बिलकुल भी अपने से कम वर्ग के परिवार से विवाह नहीं करना चाहिए, सुंदरता को देखकर। अपने से बराबर दर्जे के परिवार में ही विवाह करना उचित है।

11. Untruthfulness, rashness, guile, stupidity, avarice, uncleanliness and cruelty are a woman’s seven natural flaws.

अर्थ : असत्यता, आतुरता, छल, मुर्खता, लालच, गंदगी, और क्रूरता, महिला के सात प्राकृतिक खामियां हैं

12. Women have hunger two-fold, shyness four-fold, daring six-fold, and lust eight-fold as compared to men.

इसे भी पढ़ें -  लड़कियों की शिक्षा पर निबंध Girl Education Essay in Hindi

अर्थ : महिलाओं में दोगुना ज्यादा भूख, शर्म चार गुना, साहस छह गुना और वासना आठ गुना पुरुषों की तुलना में होता है।

Loading...

1 thought on “चाणक्य नीति स्त्री Chanakya Niti in Hindi for Women PDF Download”

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.