मार्क ज़ुकरबर्ग की जीवनी Mark Zuckerberg Biography in Hindi

इस पृष्ट पर आप मार्क ज़ुकरबर्ग की जीवनी (Mark Zuckerberg Biography in Hindi) पढ़ सकते हैं। यहाँ आप उनके Real success story और Facebook की history को पूरा जान सकते हैं।

Mark Zuckerberg (मार्क ज़ुकेरबर्ग ) का पूरा नाम Mark Elliot Zuckerberg है। वह एक अमरीकी कंप्यूटर प्रोग्रामर और इंटरनेट उद्यमी हैं। इंटरनेट की दुनिया में फेसबुक को लाकर उन्होंने सोशल मीडिया क्रांति को बढावा दिया

वह आज के दिन में फेसबुक के CEO(Chief executive officer), मुख्य कार्यकारी तथा साथ ही को-फाउंडर भी हैं। वर्ष 2020 फरवरी में Forbes के अनुसार उनकी निजी संपत्ति $77.8 बिलियन है।

आईये जानते हैं मार्क ज़ुकरबर्ग की जीवनी (Mark Zuckerberg Biography) जिसे आप पढ़ कर ज़रूर मोटीवेट हो जायेंगे।

जन्म Birth

उनका जन्म 14 मई, 1984 White Plains, न्यू यॉर्क शहर में पिता एडवर्ड ज़ुकरबर्ग (Edward Zuckerberg) एक दन्त चिकित्सक और माँ करेन केम्प्नेर (Karen Kempner) मनो चिकित्सक के घर में हुआ था।

प्रारंभिक जीवन Early Life

मार्क ज़ुकरबर्ग ने कंप्यूटर पर सॉफ्टवेयर प्रोग्रामिंग सबसे पहले अपने पिता से सिखा। वह सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट को लेकर इतने उत्साहित थे की उन्होंने उस उम्र में ही ZuckNet नामक सॉफ्टवेयर बनाया था जिससे उनके परिवार के लोग, जैसे पिता के दन्त चिकित्सालय में उपयोग किया जाता था। उनके घर में भी एक कंप्यूटर से दुसरे कमरे के कंप्यूटर पर बातचीत या कुछ भी सूचित करने के लिए उनका सॉफ्टवेयर उपयोग में लाया जाता था।

FaceMash की शुरुवात

मार्क ज़ुकरबर्ग की जीवनी Mark Zuckerberg Biography in Hindi PDF Download
FaceMash (facebook history)

मार्क ज़ुकरबर्ग और उनके 3 मित्र Andrew McCollum, Chris Hughes and Dustin Moskovitz ने 28 अक्टूबर, 2003 में FaceMash नाम से एक वेबसाइट भी डिजाईन किया था जिसके ऑनलाइन सॉफ्टवेयर के द्वारा उपयोगकर्ता एक छात्र से दुसरे छात्र के फोटो के लिए “हॉट” या “नॉट” रेटिंग कर सकते थे।

मार्क ज़ुकरबर्ग की जीवनी Mark Zuckerberg Biography in Hindi PDF Download

Synapse Media Player म्यूजिक प्लेयर को डेवेलोप किया

साथ ही अपने स्कूल के दौरान Zuckerberg ने एक म्यूजिक प्लेयर भी बनाया था जिसका नाम था Synapse Media Player.

आज के दिन में फेसबुक का नाम लेते ही लोग मार्क ज़ुकरबर्ग को याद करते हैं। पर क्या आपको पता है फेसबुक की शुरुवात कहाँ से हुई थी?

इसे भी पढ़ें -  स्वामी विवेकानंद पर निबंध Essay on Swami Vivekananda in Hindi

फेसबुक का इतिहास और मार्क ज़ुकरबर्ग का करियर Facebook History and Mark Zuckerberg Career in Hindi

जैसा की हमने आपसे बताया फेसबुक की शुरुवात फरवरी 4, 2004 Harvard University में पढाई करने के दौरान उन्होंने अपने यूनिवर्सिटी के हॉस्टल कमरे में रहने वाले मित्रों के साथ शुरू किया था।

सबसे पहले Zuckerberg के पास सोशल नेटवर्क वेबसाइट बनाने का विचार लेकर दिव्य नरेन्द्र आए थे। दिव्य नरेन्द्र एक अमेरिकी कारोबारी हैं जिन्होंने अपने शिक्षा के समय Harvard University में Zuckerberg को एक सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट बनाने की सलाह दी थी जिसका नाम HavardConnection रखा गया। पर बाद में Zuckerberg को अपना सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट बनाने का विचार आया जिसका डोमेन नाम उन्होंने Thefacebook.com लिया था जो आज Facebook.com या fb.com के नाम से मशहूर है।

TheFacebook.Com फेसबुक को उस समय अपने स्कूल के छात्रों के लिए ही बनाया गया था। उन्होंने इसे कुछ इस तरीके से बनाया गया था जिससे की छात्र अपने गुणों जैसे अपने कक्षा , अपने मित्रों तथा टेलीफोन नंबर के बारे में सूची कर सकें।

कुछ ही दिनों में मार्क ज़ुकरबर्ग ने फेसबुक को अन्य स्कूली छात्रों तक पहुँचाने का सोचा और Columbia, New York University, Stanford, Dartmouth, Cornell, Penn, Brown, and Yale से शुरू किया।

मार्क ज़ुकरबर्ग बचपन से बहुत ही बुद्धिमान थे। उन्हें अपने स्कूल के गणित, खगोल विज्ञानं, भौतिकी और शास्त्रीय अध्ययन के लिए पुरस्कृत भी किया गया था। उनके कॉलेज के अनुसार वह फ्रेंच, हिब्रू, लैटिन, और प्राचीन यूनानी भाषा बोल और लिख सकते हैं।

जब मार्क ज़ुकरबर्ग, हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में पढाई कर रहे थे उन्होंने अपने यूनिवर्सिटी के हॉस्टल कमरे में रहने वाले मित्रों (Eduardo Saverin, Andrew McCollum, Dustin Moskovitz और Chris Hughes) के साथ मिल कर फेसबुक को लांच किया था। हलाकि उन्होंने अपने देश-भर में लोगों के सामने फेसबुक को बाद में रखा। फेसबुक की मदद से Mark Zuckerberg 23 साल की उम्र में करोड़पति बन चुके थे । देखते ही देखते फेसबुक इंटरनेट पर बहुत ज्यादा मशहूर बन गया।

अक्टूबर 2006, जैसे ही फेसबुक पर 50 करोड़ ट्रैफिक पुरे हुए Yahoo! ने फेसबुक को 1 अरब $ में खरीदने का ऑफर दिया पर मार्क ज़ुकरबर्ग नें पूरी तरीके से इसके लिए मना कर दिया था।

मार्क ज़ुकरबर्ग की जीवनी Mark Zuckerberg Biography in Hindi PDF Download
Palo Alto, California, फेसबुक का ऑफिस : Mark Zuckerberg Biography in Hindi 2016

वर्ष 2006 में Zuckerberg Palo Alto, California चले आए और वहाँ उन्होंने एक छोटा सा घर लीज पर लिया जहाँ उन्होंने अपना एक छोटा ऑफिस खोला।

इसे भी पढ़ें -  रबींद्रनाथ टैगोर की जीवनी Rabindranath Tagore Biography in Hindi

24 मई, 2007 को उन्होंने फेसबुक प्लेटफार्म की घोषणा दुनिया भर में किया। इस घोषणा के कारण पुरे विश्व भर से 800000+ से भी ज्यादा developer फेसबुक से जुड़े । एप्लीकेशन डेवेलोप करने के लिए बहुत सारी थर्ड पार्टी कंपनीयां फेसबुक से जुड़ने लगी। उनमे से कुछ मुख्य कंपनियां थी, Microsoft, Amazon, Slide, RockYou, Box.net, Red Bull, Washington Post, Project Agape, Prosper, Snapvine, iLike, PicksPal, Digg, Plum.

मई, 2008 को Mark Zuckerberg ने फेसबुक कनेक्ट(Facebook Connect) की घोषणा की जिससे फेसबुक पर लोगो को एक दुसरे से तथा दुसरे वेबसाइट के लिए उनके फेसबुक पहचान, मित्रों और गोपनीयता को साँझा करने में आसानी हो।

मार्क ज़ुकरबर्ग जितना हो सके लोगों से सिखने की चाह रकते है। वह आज भी इतना सफल होने पर भी 12-14 घंटा या कभी-कभी तो पुर दिन Facebook के कार्यालय में काम करते हैं।

वर्ष 2009 में Mark Zuckerberg ने अपने वित्तपोषण रणनीतियों के लिए Netscape के पूर्व मुख्य वित्तीय अधिकारी Peter Currie से सलाह लिया। 2010 में अमरीकी पत्रकार Steven Levy का कहना था कि Mark Juckerberg अपने आपको स्पष्ट रूप से हैकर(Hacker) मानते थे। ऐसा सच में था क्योंकि Zuckerberg कहते थे :-

It’s OK to break things” “to make them better

मतलब अगर आप किसी भी चीज को सही से जोड़ना चाहते हैं या ठीक करना चाहते हैं तो आपको पहले उस चीज को अलग-अलग करना पड़ेगा या तो तोडना पड़ेगा।

वर्ष 2010 में Vanity fair मैगज़ीन में सुचना युग के सबसे प्रभावशाली लोगों में उन्हें प्रथम स्थान पर जगह मिली थी जबकि 2009 में उन्हें 23वां स्थान पर रखा गया था। उसी वर्ष NewStatesMan ब्रिटिश राजनीतिक और सांस्कृतिक पत्रिका में उन्हें मुख्य 50 प्रभावशाली फिगर्स के लिस्ट में रखा गया।

मार्क ज़ुकरबर्ग ने वर्ष 2011 में अमरीकी Public Broadcasting Service (PBS) के इंटरव्यू में बताया कि फेसबुक को इन्टरनेट पर मजबूत बनाने और सही प्रबंधन टीम के निर्माण के लिए Apple के सह-संस्थापक स्टीव जॉब्स ने उन्हें सलाह दी थी।

मार्क ज़ुकरबर्ग की जीवनी Mark Zuckerberg Biography in Hindi PDF Download
zuckerberg and pricilla with august and maxima

Mark Zuckerberg ने 19 मई 2012 को अपनी लम्बे समय की प्रेमीका Priscilla Chan, California की रहने वाली से शादी की और आज उनकी दो बेटी हैं Maxima Chan Zuckerberg जिसका जन्म 1 दिसम्बर 2015 को हुआ और August Chan Zuckerberg का जन्म अगस्त 2017 में हुआ।

मार्क ज़ुकरबर्ग की जीवनी Mark Zuckerberg Biography in Hindi PDF Download

वर्ष 2012 को Zuckerberg ने Moscow में रूस के प्रधानमंत्री Dmitry Medvedev से सोशल मीडिया के प्रचार तथा फेसबुक के मार्केट को और आगे बढ़ाने के लिए।

इसे भी पढ़ें -  मार्क ज़ुकरबर्ग के अनमोल विचार Mark Zuckerberg Quotes in Hindi

वर्ष 2013 में Zuckerberg ने इन्टरनेट की दुनिया में एक और नया प्रोजेक्ट Internet.org को शुरू किया। इस प्रोजेक्ट को फेसबुक के साथ-साथ अन्य 6 कंपनियां Samsung, Ericsson, MediaTek, Opera Software, Nokia and Qualcomm) भी जुड़े है जिससे इन्टरनेट की सुविधाओं को ज्यादा-ज्यादा इन्टरनेट ना उपयोग कर पाने वाले लोगों तक पहुंचा सकें।

दिसम्बर 11, 2014 में Zuckerberg ने अपनी कंपनी के मुख्यालय में एक प्रश्न उत्तर सत्र में लोगों का जवाब देते हुआ कहा फेसबुक से लोगों का समय बर्बाद नहीं होता क्योंकि इससे लोग अपनों से और अपने समाज से जुड़े रहते हैं। साथ ही Facebook ने साल 2014 में दुनिया कि सबसे पोपुलर Chatting App -WhatsApp को 20 बिलियन अमरीकी डॉलर में ख़रीदा। (पढ़ें: WhatsApp बनने की Motivational कहानी)

मार्क ज़ुकरबर्ग की जीवनी Mark Zuckerberg Biography in Hindi PDF Download
Zuckerberg and PM Modi

सितम्बर 27, 2015 Mark Zuckerberg भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मिले जिसमे उन्होंने भारत में सोशल मीडिया और इंटरनेट को बढ़ावा देने के बारे में कई बातचीत हुई और मोदी ने भी उनकी तारीफ की।

प्रेरणा Inspiration

मार्क ज़ुकरबर्ग ने इतने कम समय में सफलता प्राप्त की यह कोई जादू नहीं है उनकी कड़ी मेहनत का फल है। उन्होंने अपने रूचि को अपना उत्साह बनाया और आगे बढ़ते चले गए। लोग अपने अन्दर के ज्ञान को समझ नहीं पाते पर उन्हें यह बात बचपन से ही समझ में आगया था जब उनको क्या करना है और किस दिशा को अपनाना है।

एक और बात उन्होंने कभी भी हार नहीं माना ! जब उनकी कंपनी में बहुत सारी मुश्किलों का दौर चल रहा था ताब भी उन्होंने हार नहीं मन और Yahoo! को अपनी कंपनी बेचने के लिए मना कर दिया। उनकी हार एक छोटी-छोटी बातों से पता चल जाता है कि वह इतने सफल आज क्यों है , और आगे भी सफलता प्राप्त करते रहेंगे।

7 thoughts on “मार्क ज़ुकरबर्ग की जीवनी Mark Zuckerberg Biography in Hindi”

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.