प्लूटो ग्रह के बारे में 20 रोचक तथ्य Interesting facts about Pluto Planet in Hindi

प्लूटो ग्रह के बारे में 20 रोचक तथ्य 20 Interesting facts about Pluto planet in Hindi

प्लूटो (यम) ग्रह सूर्य मंडल का दूसरा सबसे बौना ग्रह है। आकार और द्रव्यमान में यह काफी छोटा है। पृथ्वी के उपग्रह चंद्रमा के आकार का सिर्फ एक तिहाई है।

वर्तमान में प्लूटो ग्रह को एक संपूर्ण ग्रह नहीं माना जाता है। बल्कि सौरमंडल के बाहरी घेरे जिसे “काइपर घेरा” कहते हैं। उसमें स्थित एक बड़ी खगोलीय वस्तु माना जाता है। प्लूटो ग्रह का सूर्य की परिक्रमा करने का ढंग अनियमित है।

प्लूटो ग्रह के बारे में 20 रोचक तथ्य Interesting facts about Pluto Planet in Hindi

प्लूटो ग्रह के विषय में अनोखे तथ्य –

  1. प्लूटो ग्रह इतना छोटा है कि यह किसी दूसरी ग्रह की कक्षा पर कोई प्रभाव नहीं डाल सकता है।
  2. प्लूटो ग्रह की खोज वैज्ञानिकों की एक गलती से हुई थी जब वे यूरेनस और नेपच्यून की गति के आधार पर गणना कर रहे थे। वैज्ञानिक क्लायड टामबाग़ (Clyde Tombaugh) ने आकाश का सावधानीपूर्वक अध्ययन किया और प्लूटो ग्रह को 18 फरवरी 1930 को खोज निकाला था।
  3. अभी तक प्लूटो ग्रह पर सिर्फ एक अंतरिक्ष यान न्यू हरिजन (New Horizons) पहुंचा है जिसे 19 जनवरी 2006 को लांच किया गया था। 14 जुलाई 2015 को यह प्लूटो के निकट से गुजरा था। इसने प्लूटो ग्रह की अनेक तस्वीरें ली थी और गणना की थी। तस्वीरों को देखकर यह पता चलता है कि प्लूटो पर कई बर्फीले पर्वत हैं। इसके साथ ही प्लूटो का आकार उससे बड़ा है जितना इसका अनुमान लगाया गया था।
  4. अभी तक प्लूटो ग्रह के पांच चंद्रमा (उपग्रह) – Styx or P5, Kerboros or P4, Hyrda and Nix, Charan खोजें जा चुके हैं।
  5. प्लूटो ग्रह का वायुमंडल अनिश्चित है। सूर्य से दूर होने पर यह बर्फ से जमा हुआ होता है और सूर्य के निकट आने पर इस पर जमी हुई मिथेन नाइट्रोजन और कार्बन मोनोऑक्साइड गैस में बदल जाती है। वैज्ञानिकों का कहना है कि वायुयान भेजकर ही प्लूटो के वायुमंडल को समझा जा सकता है।
  6. प्लूटो की कक्षा बहुत अंडाकार है। इस वजह से यह नेपच्यून ग्रह के मुकाबले 20 सालों तक सूर्य के सबसे निकट रहता है। प्लूटो जनवरी 1979 से फरवरी 1999 तक नेपच्यून के मुकाबले सूर्य से ज्यादा निकट रहा था।
  7. प्लूटो सौर मंडल के 7 उपग्रहों से छोटा है। यह पृथ्वी के उपग्रह – चंद्रमा के व्यास का 65% और द्रव्यमान का मात्र 18% है।
  8. प्लूटो ग्रह का 1 साल (सूर्य की परिक्रमा करने की अवधि) पृथ्वी के 246.04 साल के बराबर होता है।
  9. प्लूटो की सूर्य से दूरी 587 करोड 40 लाख किलोमीटर है।
  10. इसका व्यास 2372 किलोमीटर है।
  11. प्लूटो का द्रव्यमान 13050 अरब किलोग्राम है।
  12. प्लूटो को 24 अगस्त 2006 में अंतरराष्ट्रीय खगोल संगठन (IAU) ने ग्रहों के वर्ग से निकाल दिया है और इससे “बौने ग्रह” का दर्जा दिया है।
  13. इस संगठन का कहना है कि प्लूटो अन्य ग्रहों की तरह सूर्य की परिक्रमा एक ही पथ पर नहीं करता है। इस कारण इससे ग्रह का दर्जा वापस ले लिया गया है। खगोल वैज्ञानिकों के अनुसार ग्रह उसे कहते हैं जो सूर्य की परिक्रमा अपनी निश्चित कक्षा में करता है और अन्य उपग्रहों को अपनी कक्षा में मंजूरी देता है।
  14. प्लूटो तक सूर्य के प्रकाश को पहुंचने में साढ़े 5 घंटे लगते हैं।
  15. प्लूटो का रंग काला नारंगी और सफेद का मिश्रण है।
  16. इसके उत्तरी ध्रुव पर सफेदी दिखाई देती है जिसे मालूम पड़ता है कि यहां पर बर्फ जमी होगी। प्लूटो पर बदलते मौसम का संकेत मिलता है।
  17. यदि पृथ्वी पर आपका वजन 45 किलो है तो प्लूटो पर आपका वजन 3 किलो होगा।
  18. प्लूटो का एक तिहाई हिस्सा पानी है। यह पानी बर्फ के रूप में जमा हुआ है। यह पृथ्वी पर पाए जाने वाले महासागरों की तुलना में 3 गुना अधिक है। प्लूटो का शेष दो तिहाई भाग चट्टाने हैं। इसमें कई पर्वत श्रृंखलाएं और गहरे गड्ढे हैं।
  19. प्लूटो से आकाश बहुत अंधकारमय लगता है। आप दिन में भी तारे देख सकते हैं।
  20. प्लूटो पर सूर्य पश्चिम दिशा में उगता है और पूर्व में डूबता है, क्योंकि यह पृथ्वी से विपरीत दिशा में घूमता है।
  21. प्लूटो का ऑर्बिट (Orbit) इस प्रकार का है कि यह सूर्य से सबसे अधिक दूरी पर भी जा सकता है और सबसे निकट भी आ सकता है।
इसे भी पढ़ें -  मिटटी या मृदा प्रदुषण पर निबंध Essay on Soil Pollution in Hindi or Land Pollution

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.