अकबर बीरबल की 3 मज़ेदार कहानियां Best Akbar Birbal Funny Stories in Hindi

अकबर बीरबल की 3 मज़ेदार कहानिया (Akbar Birbal Funny Stories in Hindi) हमने इस लेख में हमने लिखा है। यह कहानियाँ पढने में तो बहुत मज़ा आता ही है साथ में बच्चों को ज्ञान भी मिलता है।

अकबर बीरबल की कहानियाँ हम सबको अच्छे लगते हैं पर खास कर बच्चे इन कहानियों को बहुत पसंद करते हैं। कुछ माता-पिता और दाद-दादी भी रात को सोने से बहले छोटे बच्चों को ये कहानियां सुनती है जिससे की वह आराम से सोयें और उनका मानसिक विकास भी अच्छे से हो।

पढ़ें: अकबर बीरबल के 5 विश्व प्रसिद्ध कहानियां

आईये जानते हैं – वो कौन सी अकबर बीरबल की 3 मज़ेदार कहानिया

बच्चों के लिए अकबर और बीरबल की 3 मजेदार कहानियां (Akbar Birbal 3 Funny stories in Hindi)

1. बाल बीरबल की कहानी Birbal the child Story in Hindi (अकबर बीरबल लघु कहानी)

एक बार की बात है बीरबल राजा अकबर के दरबार में देर से पहुंचे। यह देख कर अकबर को बड़ा बुरा लगा।

अकबर ने गुस्से से बीरबल से पुछा, ” सभा में पहुचने में इतनी देर कैसी हुई। बीरबल ने सर झुका कर उत्तर दिया, ” महाराज मेरा बच्चा रो रहा था तो में उसे शांत कर रहा था।

यह सुनकर अकबर ने घुस्से से बीरबल से पुछा, क्या एक बच्चे को शांत करने में इतना देर लगता है। इससे यह पता चलता है बीरबल तुम्हें बच्चों को संभालना नहीं आता है।

महाराज ने बीरबल से कहा, ” चलो मैं तुम्हें बच्चों को संभालना सिखाता हूँ। तुम बच्चे बनो और मैं तुम्हारा पिता बनता हूँ। पूछो तुम्हें जो भी पूछना है?

इसे भी पढ़ें -  भगवान श्री कृष्ण की कहानियां Amazing Lord Krishna Stories in Hindi

बीरबल राज़ी हो गए और शुरू हो गए।
बीरबल: मुझे एक गाय चाहिए।

अकबर ने तुरंत एक गाय मंगवाया और सैनिक गाय लेकर आगये।
बीरबल ने बच्चे के आवाज़ में कहा: मुझे इसका दूध पीना है।

अकबर ने तुरंत अपने नौकरों को गाय का दूध निकालने के लिए कहा और बीरबल को देने के लिए कहा।

बीरबल को दूध पीने को दिया गया। बीरबल ने एक घूट दूध पिया और कटोरे को दोबारा अकबर के हाथों में पकड़ा दिया और कहा, ” इस दूध को जहाँ से आया था वहीँ डाल दो।

यह सुनकर अकबर को अपनी गलती का अनुभव हुआ और वो वहां से चले गए।

2. अंधों की गिनती कहानी List of Blinds Story in Hindi (अकबर बीरबल की ज्ञानवर्धक कहानी)

एक बार राजा अकबर ने बीरबल से एक प्रश्न पुछा, ” बीरबल क्या तुम मेरे पुरे राज्य में अंधे या नेत्र हीन व्यक्ति कितने हैं बता सकते हो?

बीरबल ने ख़ुशी से उत्तर दिया – जी महाराज, मुझे एक सप्ताह का वक्त दीजिये।

अगले दिन बीरबल शहर में सड़क के किनारे बैठ गए और कुछ जुते पकड़ कर उनकी मरम्मत करने लगे। लोग बीरबल को ऐसा कार्य करते देखकर दंग रह गए। कुछ लोग बीरबल के पास जाकर पूछने लगे – यह क्या कर रहे हो बीरबल जी?

जैसे ही कोई भी व्यक्ति बीरबल से यह सवाल पूछता की बीरबल तुम क्या कर रहे हो वह कलम लेकर कुछ लिख देते। जब राजा के पास यह खबर पहुंची तो वह भी यह सोच कर चिंतित पद गए की बीरबल ऐसा क्यों कर रहे हैं?

चिंतित हो कर राजा अकबर भी बीरबल को मिलने पहुंचे और  जब उन्होंने बीरबल को जूतों के मरम्मत करते देखा तो प्रश्न किया – बीरबल यह क्या कर रहे हो? यह सुनते ही बीरबल ने कलम लिया और पास रखे एक कागज़ पर कुछ लिख दिया।

इसे भी पढ़ें -  कोबरा और कौवे कहानी Panchatantra Moral Stories Hindi

बीरबल से उत्तर ना पाने पर राजा वहां से चले गए।

7 दिन पूरे होने पर बीरबल दरबार में पहुंचे और राजा को क कागज़ दिया और कहा ये लीजिये महाराज राज्य के सभी अंधों के नाम। राजा यह सुन कर खुश हो गए और सभी नाम पढने लगे।

जाब राजा ने देखा की उनका नाम भी उसमें लिखा हुआ है अकबर ने घुस्से से उसका कारण पुछा। बीरबल ने शांति से उत्तर दिए – हे महाराज जिस प्रकार बहुत सारे राज्य के लोगों ने मुझे जूतों की मरम्मत करते हुए भी पुछा कि मैं क्या रहा हूँ उसी प्रकार आपने ने भी मुझे वही सवाल किया।

दरबार में सभी लोग हंस पड़े और बीरबल की चालाकी से खुश हुए।

3. बीरबल का लौटना कहानी Return of Birbal (अकबर और बीरबल की रोचक कहानी)

एक बार बीरबल को फारस के राजा से उनके शहर कुछ काम के लिए न्योता आया। बीरबल ख़ुशी के साथ वह गए।

बीरबल को अच्छा खाना के साथ साथ अच्छे उपहार भी फारसी रजा ने प्रदान किये। शाम को खाना के समय एक ने बीरबल से एक आमिर व्यक्ति ने प्रश्न किया कि आप फारस के राजा को अपने राजा से कैसे तुलना करते हो।

बीरबल ने ख़ुशी के साथ उत्तर दिया – “आपके राजा पूरा चाँद हैं” और “हमारे राजा एक चौथाई चाँद हैं”। यह सुन कर सभी फारसी लोग बहुत खुश हुए।

जब बीरबल  कुछ दिनों बाद अपने राज्य लौटे तो महाराज अकबर बहुत ही क्रोधित हुए बोले, ” तुम देशद्रोही हो। मेरे राज्य से निकर जाओ।

यह सुन कर बीरबल घबरा गए और पूछने लगे मुझसे ऐसी क्या गलती हुई महाराज। अकबर ने उस चाँद वाली बात के बारे में बताया जिसके बारे में अकबर को अन्य लोगों से पता चला था।

बीरबल ने हँसते हुए उत्तर दिया, “नहीं महाराज मैंने आपको छोटा नहीं कहा था। पूरा चाँद हमेशा डूब जाता है जबकि एक चौथाई चाँद धीरे-धीरे बढ़ता है। मेरे कहने के मतलब है की फारसियों की ताकत ख़त्म होने वाली है और आपकी ताकत दिन ब दिन बढ़ते चले जा रहा है।

इसे भी पढ़ें -  कुतुबुद्दीन ऐबक का इतिहास व तथ्य Qutubuddin Aibak Life History in Hindi

अकबर को यह जान कर अपनी गलती का एहसास हुआ और बीरबल को दण्डित किये हुए चीजों को भूल जाने को कहा।

आशा करते हैं आपको यह अकबर बीरबल की 3 मज़ेदार कहानियाँ (Best Akbar Birbal Funny Stories in Hindi) अच्छे लगे होंगे।

1 thought on “अकबर बीरबल की 3 मज़ेदार कहानियां Best Akbar Birbal Funny Stories in Hindi”

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.