ब्रायलर फार्म के लिए सही जगह का चुनाव कैसे करें? Selection of Best Place for Broiler Farming Hindi

  ब्रायलर फार्म के लिए सही जगह का चुनाव कैसे करें? Selection of Best Place for Broiler Farming Hindi   ब्रायलर फार्मिंग शुरू करने के लिए सबसे पहले आपको सही जगह का चुनना होगा। ब्रायलर मुर्गी के पालन और देखबाल के साथ-साथ उनके लिए सही घर का निर्माण करना बहुत जरूरी है।   ब्रायलर मुर्गी के घर को शेड कहते हैं जिन्हें कैसे बनाना है और कहाँ बनाना है उसके बारे में हमने नीचे सभी जानकारियाँ प्रदान किया है।

ब्रायलर फार्म के लिए सही जगह का चुनाव कैसे करें? Selection of Best Place for Broiler Farming Hindi

1. ब्रॉयलर फार्म बनाने के लिए उपयुक्त जगह का चयन Selection of Best land / place for Broiler Farming Details in Hindi

    ·        जिस भी  जगह में आप ब्रायलर शेड बनाना चाहते हैं वह जगह समतल होना चाहिये और कुछ ऊंचाई पर होना चाहिए, ताकि की बारिश पानी फार्म में जमा ना हो सके। ब्रायलर फार्म में पानी जमने से दुर्गन्ध, कई बीमारियाँ और काम करने में मुश्किल हो सकती है।   ·       

जगह मुख्य सड़क के पास होना चाहिए, जिससे की खरीदारों और वाहनों को फ़ार्म में आने में आसानी हो। ज्यादा सड़क के पास वाले फार्म के लिए आपको विज्ञापन भी नहीं देना पड़ता और व्यापार जल्द-जल्द रफ़्तार पकड़ता है।   ·         

उस क्षेत्र में बिजली कि अच्छी सुविधा होनी चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि चूज़ों के ब्रूडिंग के लिए बिजली का हमेशा रहना बहुत आवश्यक होता है और साथ ही ब्रायलर मुर्गियां रात के समय भी खाते रहते हैं इसलिए उन्हें रात को रौशनी के लिए भी बिजली की आवश्यकता होती है।          

इसे भी पढ़ें -  कार्बनिक देसी मुर्गी दाना कैसे बनायें How to make Free range chicken feed at home in Hindi

ब्रायलर मुर्गियों के लिए पानी की अच्छी सुविधा होनी चाहिए। अन्य प्रजातियों के मुर्गियों से ब्रायलर मुर्गियां बहुत ही अधिक मात्र में पानी पीते हैं। पानी हमेशा उनके लिए उपलब्द होना चाहिए। पानी कम होने से ब्रायलर मुर्गोयों को कई प्रकार कि बीमारियाँ हो सकती है।        

जिस भी स्थान में आप ब्रायलर फार्म शुरू करना चाहते हैं वहां पास में या कही से भी ब्रायलर चूज़े कि सप्लाई अच्छे से होने चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि आपको प्रति सप्ताह या महीने चूज़ों की ज़रुरत होती है बैच के अनुसार।          

Loading...

चूजों के साथ-साथ ब्रायलर मुर्गी दाना भी पास में उपलब्द होना चाहिए। ब्रायलर मुर्गियां बहुत तेज़ी से खाते हैं इसलिए उन्हें बहुत ज्यादा दाना कि आवश्यकता होती है। साथ ही पास में आपको ब्रायलर मुर्गियों के रोगों से उन्हें बचाए रखने के लिए दवाइयां और वैक्सीन भी उपलब्ध होना चाहिए।

2. ब्रॉयलर फार्म के लिए शेड्स का निर्माण How to make best Shed for Broiler Farming details in Hindi?

ब्रायलर मुर्गी का शेड शहर या गाँव से 2-3 किलोमीटर की दूरी पर बनायें। ब्रायलर फार्मिंग के लिए शेड बनाने से पहले नीचे दिए हुए पॉइंट्स को जरूर पढ़ें क्योंकि इन नियमों के बिना शेड बनाना बेकार हो सकता है।    

शेड को हमेशा पूर्व-पश्चिम दिशा में बनाया जाना चाहिए। तार का जाली वाला साइड उत्तर-दक्षिण दिशा में रखना चाहिए। ऐसा करने से वायु आसानी से प्रवाहित होती है,  शेड के अंदर धूप ना जा सके।  

शेड की चौड़ाई 30-35 फीट होनी चाहिए और आप अपनी आवश्यकता के अनुसार और भी लम्बा बना सकते हैं।शेड का फर्श कंक्रीट से बनाया जाना चाहिए।

ब्रोयलर शेड को नियमित रूप से साफ करने की जरूरत है इससे दुर्गन्ध और बीमारियाँ नहीं फैलता है।   तार के जाली वाले साइड की ऊंचाई 6 इंच से ज्यादा नहीं होनी चाहिए।   शेड की छत को सीमेंट के एसबेस्टस या टीन शीट का लगा सकते हैं।

इसे भी पढ़ें -  मुर्गियों के लिए उपलब्ध फीडर और ड्रिंकर Poultry Feeder and Drinker Details in Hindi

ज्यादा धुप या गर्मी वाले क्षेत्रों में टीन की चादर नहीं लगाना चाहिए क्योंकि इससे शेड का तापमान बढ़ जाता है।  आप चाहें तो ज्यादा गर्मी वाले क्षेत्रों में छोटे शेड बना कर धान के भूसे कि छत भी बना सकते हैं।    

से कुछ वेंटिलेशन के साथ बनाना चाहिए। एसबेस्टस को दोनों साइड 3 फीट तक लम्बा रखना चाहिए जिससे कि बारिश का पानी शेड के भीतर न जाये।   साइड पर शेड की ऊंचाई 8-10 फुट होनी चाहिए और बिच में  यह 14-15 फुट ऊँचा होना चाहिए। 

ब्रॉयलर चिकन के लिए इलेक्ट्रिक बल्ब, फीडर, वाटर टैंक और ड्रिंकर की भी उचित व्यवस्था होनी चाहिए।   एक शेड दूसरे शेड से दूर बनाना चाहिए। इससे एक शेड कि बीमारियाँ दुसरे में जल्दी से नहीं फैलता है। आप एक लंबा शेड कर सकते हैं और समान भागों में अंदर बांट सकते हैं।

Loading...

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.