टैल्गो ट्रेन की विशेषताएँ एवं विवरण Talgo Train Features History Benefits in Hindi

टैल्गो ट्रेन की विशेषताएँ एवं विवरण Talgo Train Features History Benefits in Hindi

टैल्गो ट्रेन स्पेनिश द्वारा बने गई है. जोकि भारत की सबसे तेज चलने वाली ट्रेन है. भारतीय रेलवे द्वारा किये गए परीक्षण में पाया गया कि ये ट्रेन 180 km/ hour  की स्पीड से चलने वाली ट्रेन है और इस ट्रेन ने 180 km/ hour चलने का नया रिकॉर्ड बनाया है.

स्पेनिश के द्वारा बने गई ये ट्रेन कई देशो में चल रही जैसे – अमेरिका, जापान, जर्मनी, स्वीटजरलैंड, उज्बेकिस्तान, कजाकिस्तान आदि देशो में चल रही है. इस ट्रेन ने गतिमान एक्सप्रेस के रेकोर्ड को तोड़ते हुए केवल 38 मिनटों में ही 85 किलोमीटर की दूरी तय की है.

टैल्गो ट्रेन की विशेषताएँ एवं विवरण Talgo Train Features History Benefits in Hindi

टैल्गो का इतिहास History of Talgo Train

टैल्गो शब्द प्रयोग रेल ओपरेटर  RENFE के द्वारा एक प्रकार के इंटरसिटी रेल सेवा के लिया किया जाता है. ALEJANDRO GOICOECHEA  और JOSE JUIS ORIOI इस कंपनी के संस्थापक थे. टैल्गो का पेटेंट सर्वप्रथम 1942 में शामिल किया गया.

टैल्गो हिंदुस्तान की सबसे तेज चलने ट्रेन का विवरण India’s  Fastest Train Talgo

टैल्गो ट्रेन को इंडिया में लाने से पहले 26 जुलाई को उसका परीक्षण किया गया जिसमे पाया गया ये भारत की संबसे तेज चलने वाली ट्रेन है और इसने गतिमान एक्सप्रेस के रिकॉर्ड को तोड़ते हुए केवल 38 मिनटों में ही 85 किलोमीटर की दूरी तय की है.

इसे भी पढ़ें -  आपके पर्स में ये 5 चीजे जरुर होनी चाहिये Things you must keep in your Purse in Hindi

टैल्गो की कुछ प्रमुख बातें Some important things about Talgo

इस ट्रेन की ख़ास बात यह है कि इसका जो डिज़ाइन है वो इसके वज़न को हल्का कर देता है और इसकी बॉडी एल्मुनियम से बना है जोकि लोहे की बनी ट्रेन से हलकी होती है यही कारण है की इस ट्रेन पर हवा का ज्यादा दबाव नही बन पता जिससे इसकी स्पीड तेज हो जाती है.  रेलवे अधिकारीयों का कहना है की ये ट्रेन बिना किसी बदलाव के भारत की पटरियों पर दौड़ सकती है और इसकी रफ़्तार 160 से 200 के बीच होगी.

इस ट्रेन को यात्रियों द्वारा भी पसंद किया जा रहा क्योकि इसमें हवा की प्रवाह को भी महसूस किया जा सकता है. इस ट्रेन की बोगियां इस तरह से बनाया गया की इसके अंदर आप केवल एक अटेची की जगह है और इससे ज्यादा आप और कुछ नही रख सकते है जोकि इसको हल्का बनती है. इनकी बोगियां का डिज़ाइन इस ट्रेन को मुड़ने में कोई परेशानी नही देती है और ये अपनी स्पीड से चलती रहती है.

टैल्गो की विशेषताओं और उसके लाभ को देखते हुए भारत सरकार और भारतीय रेलवे द्वारा इसको ख़रीदा गया है. जिससे पिछले साल जुलाई में इसके प्रदर्शन के लिए दिल्ली से लेकर मुंबई तक इसका टैक तैयार किया गया और इसकी 9 सिरीज़ को हिंदुस्तान में लाया गया था.

एक ट्रेन में 9 कोच होते है और इसमें पावर कर और बोगियां भी होती है. टैल्गो ट्रेन का इंजन 4500  हॉर्स पवार है जोकि डीजल से चलता है. इसका डीजल इंजन भारत में वाराणसी रेलवे प्लांट में तैयार किया गया है.

टैल्गो ट्रेन का अब तक का सफ़र

इस ट्रेन का पहला सफ़र मुंबई सेन्ट्रल और नई दिल्ली के बीच में इसका पहला ट्रायल हुआ था. talgo ट्रेन इस दिन शाम 7 बजकर 55 मिनट पर नई दिल्ली से सेन्ट्रल मुंबई के लिए रवांना हुई थी. उस दिन ट्रेन में RDSO  इंजीनियर , रेलवे के अधिकारी और स्पेन के इंजीनियर की टीम थी.

इसे भी पढ़ें -  इंटरनेट के फायदे और नुकसान Advantages and Disadvantages of Internet in Hindi

उस ट्रायल में ट्रेन नई दिल्ली से पलवल , मथुरा , कोटा ,रामताल ,सूरत होते हुए 2 अगस्त को सेंतारल मुंबई पहुंची और इसकी स्पीड 130 किलीमीटर प्रति घंटा थी. दो ट्रायल में इसकी अधिकतम रफ़्तार 130 किलोमीटर प्रति घंटा था.

5 अगस्त को इस्ट तीसरा ट्रायल किया गया जीकी नई दिल्ली और मुंबई के बीच हुआ था. ये इसका अंतिम ट्रायल था और इस बार इसकी स्पीड थी 180 किलोमीटर प्रति घंटा.

सीट के ऊपर एलईडी स्क्रीन LED Screens above seats

इस ट्रेन में सीट के ऊपर  एलईडी स्क्रीन लगी हुई है जिससे यात्री सफ़र के दौरान इसका आनंद ले सके. और इसकी सीट बहुत ही सुविधाजनक है.

बिजली की कम खपत Electricity consuption

टैल्गो ट्रेन में बिजली की खपत 30%  कम है भारतीय ट्रेनों की तुलना में ऐसा स्पेन की कंपनी का दावा है.क्योकि इसको लाइट वेट एयरोडायनेमिक तकनीक से बनाया गया है और ये फायर और साउंड प्रूफ है जिससे ट्रेन की आवाज यात्रियों को परेशांन   नही करेगी.

एक ट्रेन के  डब्बे भारतीय ट्रेन की डिब्बो से बहुत ही हल्के है क्योकि ये एल्मुनियम के द्वारा बनाये गये है. भारतीय रेल के डिब्बो का वजन 68 टन है जबकि टैल्गो  के डिब्बो का वजन केवल 16 टन ही है. लेकिन अगर टैल्गो के डिब्बो की बात करे तो भारतीय रेल के डिब्बो से इसकी कीमत 3 गुना ज्यादा है.

टैल्गो ट्रेन के कुछ मॉडल के नाम Talgo Train  Model names

Talgo  I, Talgo II, Talgo III, Talgo Pendular, Talgo VII, Talgo 8, Talgo 250, Talgo 250 Hybrid, Talgo 350

से यात्रा के फायदे Advantages of Talgo Train in Hindi

  1. इस ट्रेन से यात्रा करने से समय की बहुत बचत होगी.
  2. इसके ट्रेन के सभी डीब्बे बहुत ही लग्ज़री है और टाइम पास के लिए एलईडी स्क्रीन लगये गए है.
  3. टैल्गो में रिडिंग लाइट ,फूटरेस्ट, टेबल जैसे अन्य कई सुविधाए दी गई है जोकि इस ट्रेन को बाकि ट्रेनों के सुविधा से अलग करती है.
  4. इस ट्रेन से चलने वाले यार्तियों को ट्रेन की आवाज़ से कोई दिक्कत नही होगी.
  5. टैल्गो ट्रेन का मौसम हमेसा सुहाना रहता है जिससे यात्रिओं को बहुत सुविधा मिलती है.
  6. एक ट्रेन के अंदर रेस्टोरेंट की सुविधा भी उपलब्ध रहेगी.
इसे भी पढ़ें -  रसोई के कचरे से खाद कैसे बनायें? How to Compost Kitchen Waste India Hindi

Featured Image – Wikimedia

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.