विडियो गेम के फायदे और नुक्सान Advantages Disadvantages of Video Games in Hindi

विडियो गेम के फायदे और नुक्सान Advantages Disadvantages of Video Games in Hindi 

विडियों गेम इलेक्ट्रॉनिक, इंटरैक्टिव गेम हैं जो उनके जीवंत रंग, ध्वनि प्रभाव और जटिल ग्राफिक्स के लिए जाने जाते हैं। यह तारों से जुड़े एक गेम बॉक्स को स्थापित करके एक टेलीविजन सेट या कंप्यूटर में चलाए जाते हैं।

तब बच्चा एक चरित्र या चरित्र की श्रृंखला को नियंत्रित करने के लिए जॉयस्टिक या नियंत्रक का उपयोग करता है क्योंकि पात्रों को स्क्रीन पर प्रदर्शित बाधाओं का सामना करना पड़ता है।

विडियो गेम के फायदे और नुक्सान Advantages Disadvantages of Video Games in Hindi

ये  मुख्य रूप से बच्चों और किशोरों को आर्कषित करने के लिए डिज़ाइन किए जाते हैं। एक कंप्यूटर गेम एक कंप्यूटर नियंत्रित गेम है जहां खिलाड़ी मनोरंजन के लिए स्क्रीन पर प्रदर्शित वस्तुओं के साथ खेलते हैं।

एक वीडियो गेम अनिवार्य रूप से मनोरंजन का ही रूप है, लेकिन न केवल व्यक्तिगत कंप्यूटर पर खेले जाने वाले गेमों के लिए, बल्कि कंसोल या आर्केड मशीन द्वारा चलाए जाने वाले गेमों को भी संदर्भित करता है।

“कंप्यूटर गेम” शब्द में ऐसे गेम भी शामिल होते हैं जो केवल टेक्स्ट प्रदर्शित करते हैं या जो ध्वनि या कंपन जैसे उनके प्राथमिक फीडबैक डिवाइस या नियंत्रक (कंसोल गेम्स) या उपर्युक्त में से किसी एक संयोजन के रूप में अन्य विधियों का उपयोग करते हैं।

इसे भी पढ़ें -  बेस्ट 10 बैडमिंटन रैकेट ऑनलाइन Best Badminton Rackets in India

हम एक ऐसे दशक में रहते हैं जहां वीडियो गेम उद्योग दुनिया के सबसे अमीर और बढ़ते उद्योगों में से एक है। कंप्यूटर और प्रौद्योगिकियों द्वारा युवा पीढ़ियों में प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। गेमिंग उद्योग युवा लोगों के दिमाग को आकार देने में भी एक बड़ा कारक है।

यहां इस आलेख में हम वीडियो गेम के फायदे और नुकसान के बारे में चर्चा करेंगे।

वीडियो गेम खेलने के फायदे / सकारात्मक प्रभाव Advantages of Video Games

रिफ्लेक्स और आईक्यू में सुधार करता है

अध्ययन से साबित हुआ हैं कि वीडियो गेम खेलना कई पहलुओं में खिलाड़ियों के प्रतिबिंब को बेहतर बनाता है। इसने गेमर्स को बेहतर सर्जन भी बनाया है। तथ्य यह है कि जिन लोगों ने वीडियो गेम 3 घंटे प्रतिदिन खेला, वे 32% सटीक और प्रभावी ढंग से लैप्रोस्कोपिक (छोटे चीरा) विशेषज्ञ होने के कारण बढ़िया प्रदर्शन करते थे। अध्ययनों ने यह भी साबित कर दिया है कि जो लोग नियमित गेमर्स हैं, वे मस्तिष्क की गतिविधियों में सुधार कर चुके हैं।

बेहतर बुनियादी दृश्य प्रक्रियाए

जो लोग सप्ताह में 30 घंटे खेलते हैं वे अधिक अनुबंध संवेदनशील बन जाते हैं और गैर-गेमर के मुकाबले में मुश्किल रंगों को अलग करने में सक्षम होते हैं। परीक्षण के नतीजे बताते हैं कि वीडियो गेम खेलने वाले लोग दृष्टि में सुधार दिखाते हैं।

बेहतर कार्यकारी कामकाज

कार्यप्रणाली व्यक्तियों को मानसिक क्षमता आवंटित करने की क्षमता को संदर्भित करती है। वीडियो गेम ने ध्यान और निर्णय लेने के कौशल में सुधार किया है। अध्ययनों ने साबित कर दिया है कि जो लोग वीडियो गेम खेलते हैं वे बेहतर निर्णय लेने में अच्छे होते हैं। अक्सर गेमर्स मल्टी टास्किंग पर अच्छे होते हैं।

मस्तिष्क की सेहत

विडियों गेम मस्तिष्क के काम करने की गति एवं क्षमता को बढ़ाते है। अब अगर आप एक माता-पिता हैं जो सोचते हैं कि आपके बच्चों के लिए वीडियो गेम खराब हैं तो इन कारकों के बारे में सोचें।  वीडियो गेम खेलना आपके बच्चों की मानसिक फिटनेस में सुधार करता है।

इसे भी पढ़ें -  कंप्यूटर और इसका महत्व निबंध Essay on Computer and Its Important in Hindi

वीडियो गेम खेलने के नुकसान – नकारात्मक प्रभाव Disadvantages of Video Games

वीडियो गेम के बहुत सारे सकारात्मक प्रभाव के साथ साथ इसके कुछ नकारात्मक प्रभाव भी हैं, ज्यादातर स्वास्थ्य समस्याएं।

आक्रामक विचार और व्यवहार

द अमेरिकन साइकोलॉजिकल एसोसिएशन (एपीए) के अध्ययनों ने साबित कर दिया है कि हिंसक खेलों के संपर्क में आने वाले बच्चे विचारों और भावनाओं में अधिक आक्रामक हो जाते हैं। इसके परिणामस्वरूप कई घटनाएं हुईं।

यह मुख्य रूप से उन खेलों के कारण हैं जो हिंसक होने के लिए खिलाड़ियों को अधिक पुरस्कार देते हैं। आक्रामक व्यवहार किसी भी तरह से अनैतिक मूल्यों को बढ़ाने के लिए प्रेरित करता है।

सामाजिक रूप से अलग

गेमिंग के बहुत सारे खिलाड़ी सामाजिक जिम्मेदारियों को दूर कर सकते हैं और सामाजिक अलगाव की संभावनाओं को बढ़ा सकते हैं। इसके अलावा, बच्चों के मामले में यह घर के काम, आउटडोर गेम और सामाजिक गतिविधियों में शामिल होने में रुचि की कमी को बढ़ा सकता है। आभासी दुनिया में भी अकेले रहना खतरनाक है।

प्रतिकूल स्वास्थ्य मुद्दे

नशे की लत, वीडियो गेमिंग के बाद प्रतिकूल स्वास्थ्य समस्या हैं।  दिल के दौरे का जोखिम, मोटापा, अवसाद और लत उनमें से कुछ हैं। ये बच्चों के बीच गंभीर नहीं हैं लेकिन वयस्कों जानते हैं कि यह खतरनाक हैं। बच्चों के लिए स्वास्थ्य जोखिम हैं जैसे, वीडियो प्रेरित दौरे, मांसपेशी और कंकाल विकार आदि।

माता-पिता की चिंताएं

वीडियो गेम में हिंसा की मात्रा माता-पिता के लिए एक महत्वपूर्ण चिंता है। इस समस्या से निपटने में मदद करने के लिए (जब एक बच्चा गेम खरीदता है या किराए पर लेता है और खेलता है) बच्चे की निगरानी करना महत्वपूर्ण है। यदि कोई बच्चा आर्केड या किसी अन्य बच्चे के घर पर हिंसक वीडियो गेम चलाता है, तो गेम और वास्तविकता के बीच के अंतर पर चर्चा होनी चाहिए।

सामान्य समस्यायें

बच्चे अक्सर वीडियो गेम में बहुत शामिल हो जाते हैं और उन्हें खेलना बंद नहीं करना चाहते हैं। गेम खेलने में खर्च किए जा सकने वाले समय के बारे में ठोस सीमाएं निर्धारित करना और फिर इन सीमाओं को लागू करना आवश्यक है।

इसे भी पढ़ें -  दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल्य योजना की पूरी जानकारी (DDU-GKY) Deen Dayal Upadhyaya Grameen Kaushalya Yojana details in hindi

यहां तक ​​कि शैक्षिक खेलों को भी ज्यादा नहीं खेला जाना चाहिए, क्योंकि वीडियो गेम खेलना सकारात्मक सामाजिक बातचीत या पारंपरिक शिक्षा के लिए एक विकल्प नहीं है। बच्चों को अन्य बच्चों के साथ खेल खेलने के लिए भी प्रोत्साहित किया जा सकता है, क्योंकि समूह में रणनीतियों और समस्या निवारण पर चर्चा करना एक सकारात्मक सामाजिक गतिविधि है।

कुछ राज्य ऐसे कानून पारित करने की कोशिश कर रहे हैं जो वीडियो गेम को कम उम्र के तहत लोगों के लिए कुछ रेटिंग के साथ बेचने के लिए अवैध बनाए। साथ ही साथ माता-पिता को भी सतर्क रहना चाहिए कि उनके किशोर क्या खेल रहे हैं। विडियों गेम युवाओं में काफी लोकप्रिय हैं, परन्तु इसका सिमित इस्तेमाल अथार्त सदुपयोग ही किया जाए तो ही बेहतर होगा।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.