खुद से कैसे प्यार करें ? How to Love Yourself in Hindi ?

खुद से कैसे प्यार करें ? How to Love Yourself in Hindi ?

क्या आपको ऐसा लगता है कि अब आपका जीवन बेकार है आप जीवन में कुछ नहीं कर सकते ? क्या आप अपने आपसे नफरत करने लगे हैं? अगर हाँ ! तो इस पोस्ट को ध्यान से पढ़ें ! मैं आपको गारंटी के साथ कह सकता हूँ इस पोस्ट से को पढने के बाद आप जरूर अपने दिल से घृणा को निकाल कर स्वयं से प्यार करने लगेंगे। जीवन में दूसरों को प्यार करने से पहले यह जानना बहुत जरूरी है कि खुद से कैसे प्यार करें (Learn how to love yourself in Hindi) और क्यों करें।

हमारे लिए अपने जीवन की अहमियत को समझना बहुत ही जरूरी है। इस दुनिया में जितने भी लोग हैं उन सब में कुछ ना कुछ खास प्रतिभा है। मुश्किल यही है की लोग अपनी प्रतिभा को अपने अन्दर ढूंढ नहीं पाते है।

घर में बेकार की बातों पर बैठ कर कोई फायदा होने वाला नहीं है। सबसे पहले अपनी प्रतिभा को समझें और पहल(Initiative) करें। जीवन में confuse हो कर कुछ नहीं मिलता, बस गलत रास्ता मिलता है। खुद से प्यार करने के लिए अपने अंतर-मन की शक्ति और जीवन के उद्देश्य को समझें। कैसे ? चलिए आगे बताते हैं !

खुद से कैसे प्यार करें ? How to Love Yourself in Hindi ?

निचे हमने खुद से प्यार करने के बेहतरीन तरीकों के बारे में बताया है –

1. खुद की आलोचना करना बंद करें Refuse to criticize yourself in Hindi

जब तक आप अपने आपसे आलोचना करना बंद नहीं करेंगे आप कभी अपने आपसे प्यार नहीं कर सकते। आलोचना कुछ भी कभी नहीं बदलता। अगर आप दूसरों की नकारात्मक आलोचनाओं को सुनोगे तो भी आप पर उसका बहुत ही बुरा प्रभाव पड़ेगा। अपने आपको पहचाने और अपनी असली ताकत को समझें।

“To avoid criticism say nothing, do nothing, be nothing.”
आलोचनाओं से बचने के लिए, कुछ ना कहें, कुछ ना करें और कुछ ना बनें। –  Aristotle

हर कोई इंसान अपने अन्दर बदलाव ला सकता है। अगर आप खुद अपने आपकी आलोचना करोगे तो आपके बदलाव नकारात्मक होंगे, अगर आप अपनी काबिलियत को समझेंगे तो आपके बदलाव सकारात्मक होंगे

इसे भी पढ़ें -  नेहरू रिपोर्ट का इतिहास और अन्य जानकारी History of Nehru Report 1928 in Hindi

2. अपने अन्दर से डर को हटायें Remove your Inner fear in Hindi

आपने वह कहावत तो सुना ही होगा “जो डर गया वो मर गया”। यह बात यहाँ पर भी लागु होती है। अगर आप अपने जीवन में डर को जगह देंगे तो डर आपके जीवन की खुशियों और प्यार को समाप्त कर देगा।

इसके हल के लिए जितना हो सके ऐसा रास्ता ढूँढें जिससे की आपको मानसिक रूप से ख़ुशी मिले। जैसे सोचिये मुझे जब भी डर लगता है में पीछे मुड कर नहीं देखता और अपने वेबसाइट के बारे में सोचने लगता हूँ या अपने माँ-पापा के बारे में सोचता हूँ। उसी प्रकार जब भी आप डर महसूस करते हों अपने मन के अनुसार किसी भी दुसरी यादगार बात की ओर सोचने लगें इससे आपका डर निकल जायेगा।

“There is no illusion greater than fear.”
डर से बड़ा मोह और माया जाल दुनिया में कोई नहीं।

  3. जीवन में धैर्य रखें Be patient in life in Hindi

अपने जीवन में कोमलता और दयालुपन बनाये रखें। हमेशा जीवन में आगे बढ़ने की एक नई चिन्ताधारा बनाईये। सफलता के लिए शॉर्टकट या छोटा रास्ता ना ढूँढे। हमेशा मेहनत करें और जीवन में धैर्य रखें।

“All human wisdom is summed up in two words – wait and hope.”
सभी मानव ज्ञान एक ही शब्द में अभिव्यक्त किया जाता है – इंतज़ार और उम्मीद

#4 मन से दयालु रहें Be kind to your Mind in Hindi

अपने जीवन से घृणा को हटायें क्योंकि घृणा की भावना रखने वाला इंसान कभी अपने मन और अपने आपसे प्यार नहीं कर सकता। कभी भी अपने विचारों में नफरत की भावना उत्पन्न ना होनें दें। अपने शब्दों में कोमलता और विनम्रता रखें।

“Be kind to your mind: use it regularly by thinking critically. When thinking stops, the quality of the mind drops. And with a lazy brain there’s little or no gain.”
मन से दयालु बनें : गंभीर रूप से सोचने के साथ इसका नियमित रूप से उपयोग करें। जब सोचना बंद हो जायेगा, मन की गुणवत्ता में गिरावट आ जाएगी और एक अलसी दिमाग में या तो छोटा या कोई भी वृधि नहीं होता।

5. हमेशा अपनी प्रशंसा करें Always Praise Yourself in Hindi

नकारात्मक बातें और आलोचनाएँ(critic) हमेशा मनुष्य के भीतर की भावनाओं को तोड़ देती हैं। उस समय अपनी प्रशंसा करने से हमको समर्थन मिलता है। बैठें और अपने आपसे पूछें कि आप अपने कार्यों के लिए कितनी मेहनत करते हैं चाहें वह छोटी-छोटी बात ही क्यों ना हो।

6. अपने नकारात्मक विचारों को सकारात्मक में बदलें Convert your Negative thoughts into positive in Hindi

अगर आप को लगता है आपके भीतर कुछ नकारात्मक विचार हैं या कुछ नकारात्मक आदतें हैं तो सबसे पहले उन्हें ढूँढने की कोशिश करें। जब आपको उन नकारात्मक चीजों के विषय में पता चल जाये तो उन्हें सकारात्मक में बदलने की सोचें। कैसे ? चलिए बताते हैं …

उदहारण के लिए चलिए सोच लेते हैं आप सुबह बहुत ही देर से उठते हैं। यह बात देखें तो हमारे लिए एक नकारात्मक आदत है। देर से उठने के कारण मनुष्य के जीवन में आलस आता है और आलास के कारण असफलता। ऐसे में मनुष्य अपने सभी कार्य सही से पूर्ण ना होने क्व कारन अपने आपसे घृणा करने लगता है।

इसका उपाय कुछ इस तरीके का है ! पहली बात तो आपको जल्दी कैसे उठना है उसका रास्ता खोजना पड़ेगा। जैसे या तो आप अपने घडी में अलार्म लगा सकते है या अपनी माँ या पत्नी से कह कर जल्दी सुबह उठाने को कह सकते हैं। हर दिन सुबह जब धीरे-धीरे आपकी नींद जल्दी खुलने लगेगी तो आपकी भी आदत जल्दी उठने की हो जाएगी।

“Positive anything is better than negative nothing.”
सकारात्मक कुछ भी नकारात्मक से ज्यादा बेहतर हैं।

7. अपने स्वास्थय का ख्याल रखें Take care of your Health in Hindi

कुछ भी करने के लिए शारीरिक रूप से स्वस्थ्य रहना बहुत ही आवश्यक है। वैसे तो अच्छा खाना और नियमित रूप से व्यायाम करना बहुत ही मुश्किल है हम सब के लिए। एक अच्छे स्वस्थ्य के लिए अच्छा खाना बहुत ही जरूरी है जिससे की सही विटामिन और पोषण शारीर को मिल सके।

अगर आप हमेशा स्वस्थ्य रहेंगे तो आपका चेहरा हमेशा उज्जवल रहेगा, मानसिक रूप से मजबूत रहेंगे, कई प्रकार की बिमारियों से आप दूर रहेंगे और आप अपने आपसे हमेशा प्यार करेंगे। इसलिए हमेशा अपने स्वास्थय का ख्याल रखें तथा अपने जीवन को खुशनुमा बनाये रखें।

“The doctor of the future will no longer treat the human frame with drugs, but rather will cure and prevent disease with nutrition.”
भविष्य के डॉक्टर दवाईयों की मदद से मनुष्य का इलाज नहीं करेंगे, परन्तु वे आहार-पृष्टि की मदद से बीमारी का इलाज और उसे रोकेंगे।

 8. अपने असली चेहरे को समझें Understand your real face in Hindi

अपने अन्दर के असली चेहरे को समझें और पहचानें। अपने आपको शीशे में देखना बंद करें और अपने अन्दर की सभी खूबियों और काबिलियत के बारे में सोचें। अपने गुणवत्ताओं को जानें जिससे कि आप अपने आपसे प्यार करने लगें और आगे बढ़ सकें।

“There comes a time when you look into the mirror and you realize that what you see is all that you will ever be. And then you accept it. Or you kill yourself. Or you stop looking in mirrors.”
एक ऐसा समय आयेगा जब आप शीशे में देखेंगे और एहसास करेंगे कि आपने ने जिन सभी चीजों को देखा वह होना संभव है और उसके बाद आप उसे मान लेंगे। या तो आप अपने आपको मार डालेंगे या आप शीशा देखना बंद कर देंगे।

 9. अपने आपका समर्थन स्वयं करें Support Yourself in Hindi

जो कोई व्यक्ति आपकी मदद या समर्थन करे या ना करे खुद का समर्थन होना बहुत जरूरी है। अपने आपको तथा अपने विचारों को हमेशा समर्थन देने के लिए आपके पास रास्ता तैयार रहना चाहिए। अगर आपको किसी मुश्किल को सुलझाने में मदद चाहिए हो तो आप अपने मित्रों और माता-पिता से बात कर सकते हैं।

“Worry about lovingyourself, instead of loving the idea of other people loving you.” अपने आपसे प्यार करने की चिंता करें, ना की दुसरे लोगों के द्वारा प्यार करने के विषय में।

अगर आपको “खुद से कैसे प्यार करें ? How to Love Yourself in Hindi ?” पोस्ट से कुछ मदद मिले या अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो अपने सुझाव कमेन्ट और ईमेल के माध्यम से हमें भेजें।

8 thoughts on “खुद से कैसे प्यार करें ? How to Love Yourself in Hindi ?”

  1. Thank you sir … It is help me alot …. I like your post….After reading I’m feeling better… And I will follow your post

    Reply

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.