एसिडिटी का कारण लक्षण और इलाज Acidity Symptoms Cause Treatment in Hindi

एसिडिटी का कारण लक्षण और इलाज Acidity Symptoms Cause Treatment in Hindi

क्या आप एसिडिटी से परेशान हैं?
क्या गैस, बदहज़मी और पेट में जलन ने आपको परेशान कर रखा है?
क्या आप Acidity के घरेलु इलाज जानना चाहते हैं?

अगर हाँ to इस पोस्ट को Complete और अच्छे से पढ़ें क्योंकि यह आपकी बहुत मदद करने वाला है।

आज के युग में एसिडिटी Acidity / पेट में गैस या अम्लता की शिकायत बढ़ते चले जा रहा है। नए आधुनिक काल के रहन सहन और खान-पान ही इसका सबसे बड़ा कारण है परन्तु कुछ ऐसे भी लोग होते हैं जो बहुत कुछ परहेज़ करने पर भी उन्हें Acidity की शिकायतटी रहती है।

आज इस पोस्ट में एसिडिटी के बारे में कुछ ऐसी जानकारी देंगे जो आपको एसिडिटी से दूर और स्वस्थ जीवन व्यतीत करने में बहुत मदद करने वाला है। एसिडिटी आखिर होता क्यों है, इसके लक्षण क्या हैं और साथ ही घर बैठे हम कैसे इसको दूर कर सकते हैं इसके विषय में चलिए समझते है।

Contents

इसे भी पढ़ें -  जल प्रदुषण पर निबंध व पूरी जानकारी Essay on Water Pollution in Hindi

एसिडिटी का कारण लक्षण और इलाज Acidity Symptoms Cause Treatment in Hindi

एसिडिटी क्या है? What is Acidity?

एसिडिटी उस अवस्था को माना जाता है जब किसी व्यक्ति के पेट / आमाशय (Stomach) के गैस्ट्रिक ग्रंथियों से एसिड का अतिरिक्त उत्पादन होता है। मनुष्य के आमाशय में हाइड्रो क्लोरिक एसिड (HCL) निकलता है जो मुहं द्वारा खाए हुए खाने को हज़म करने में मदद करता है।

जैसे ही कोई व्यक्ति कुछ भोजन करता है या कुछ खाने की इच्छा होने पर भी हमारा आमाशय एसिड निकालने लगता है।

लेकिन जब Stomach की ग्रंथियां जरूरत से ज्यादा हाइड्रो क्लोरिक एसिड (HCL) निकालने लगते हैं तो यह एसिडिटी का रूप धारण कर लेता है। ज्यादा एसिड निकलने के कारण पेट में अपचन (खाना हज़म ना होना), छाती में जलन , आमाशय में सुजन, और अलसर (Ulcer) जैसे लक्षण दिखाई देते हैं।

लोगों में एसिडिटी की शिकायत दिन ब दिन बढ़ते चले जा रहा है। आज के युग में जहा देखों खेतों में कई प्रकार के जहरीले उर्वरक और कीटनाशकों का उपयोग हो रहा है जो बाद में एसिडिटी और कई अन्य बड़े बिमारियों का कारण भी बन रहा है। एसिडिटी के सबसे ज्यदा मरीज़ उन देशों में पाए गए हैं जहाँ पर लोग ज्यादा चटपटा खाते हैं और मांसाहारी हैं।

एसिडिटी के कारण क्या हैं? What are causes of Acidity?

एसिडिटी होने के कुछ मुख्य कारण हैं –

1. उर्वरक और कीटनाशक Fertilizers and Insecticides

आज कल किसान अपने फसल को सही तरीके से उगाने और अच्छी पैदावार के लिए कई प्रकार के कीटनाशक और उर्वरक का इस्तेमाल कर रहे हैं। यह जहरीले रासायनिक पदार्थ जब धीरे-धीरे खाद्य सामग्रियों के माध्यम से मनुष्य के शरीर को हनी पहुंचा रहे हैं। कुछ ऐसे रासायनिक पदार्थ आज कल उपयोग में लाये जा रहे हैं जो पेट में एसिडिटी और अलसर को बढ़ावा दे रहे हैं।

2. मांसहारी खाना Non-Veg Foods

आप लोग तो जानते ही होंगे मांसाहारी खाना में पहले से बहुत ज्यादा Fat की मात्र होती है और ऊपर से उसे बनाने के लिए लोग ज्यादा मात्र में तेल का उपयोग किया जाता है। ऐसे में यह पेट के लिए सही आहार नहीं होता है और ज्यादातर लोगों को acidity की शिकायत इसी के कारण होता है।

इसे भी पढ़ें -  महत्वपूर्ण एक्यूप्रेशर पॉइंट्स Important Acupressure Points in Hindi

3. तेल, चटपटा और फैट युक्त भोजन Oily, Spicy and  Fatty Foods

जो लोग मांसाहारी नहीं है वो लोग अपने खाने में क्यातर तेल, मिर्ची, मसाले, और फैट (घी, दही) युक्त भोजन का उपयोग करते हैं। ऐसा भोजन भी एसिडिटी का मुक्य कारण होता है। इसलिए जितना हो सके उतना तेल का उपयोग खाने में कम करना चाहिए।

4. मानसिक चिंता और तनाव Mental Stress

मनुष्य का शारीर कुछ इस प्रकार का बना हुआ है कि अगर किसी व्यक्ति की चिंता बढती है और मन में तनाव बढ़ता है तो आमाशय में एसिड निकलने की मात्रा भी बढ़ जाती है।

5. धुम्रपान और शराब Smoking and Alcohol

सिगरेट, बीडी या शराब का सेवन करने से भी आमाशय में बहुत ही अधिक मात्रा में एसिडिटी बढ़ता है।

6. नान स्टेरॉयड एंटी इंफ्लेमेटरी ड्रग्स NSAIDs (Non Steroidal Anti Inflammatory Drugs)

जब किसी मरीज़ को बुखार होता है डॉक्टर्स कई प्रकार की दवाइयां Prescribe करते हैं। उनमें कुछ NSAID दवाइयां होती हैं जिनसे भी एसिडिटी बढ़ता है।

एसिडिटी के लक्षण क्या हैं? What are Symptoms of Acidity?

  • छाती में जलन
  • पेट में जलन
  • मध्य पेट में अत्यधिक दर्द
  • उलटी लगना या होना
  • गले में जलन
  • मुह में स्वाद ना आना
  • अपच
  • कब्ज

एसिडिटी का इलाज क्या है? What is Treatment of Acidity?

खासकर एसिडिटी (Acidity) के लिए Antacids का सेवन करके कम किया जा सकता है जिनमें मंगनेसियम या कैल्शियम, या एल्युमीनियम होते हैं। Antacids मनुष्य के पेट में जा कर acid के साथ मिल कर उसे Neutralize कर देते हैं और रहत दिलातेहैं।

कुछ बार डॉक्टर H2 receptor blockers दवाईयां भी Prescribe करते हैं जैसे Ranitidine, Famotidine. या Proton Pump Inhibitor दवाईयां जैसे Omeprazole भी देते हैं।

अगर Acidity बहुत ज्यादा बढ़ जाये तो Surgery (Vagotomy) भी करवाना पड़ सकता है।

एसिडिटी के लिए घरेलु उपचार क्या हैं? What are the best Home Remedies for Acidity?

1. केला से कम करें एसिडिटी Banana Cures Acidity

केला एक Alkaline फल है जो Acid की मात्र को आमाशय में कम करता है। इसलिए जिन लोगों को Acidity की ज्यादा शिकायत है उन्हें हर दिन केला खाना चाहये। इससे एसिडिटी के कारण छाती जलने वाली प्रॉब्लम भीदूर होती है। 

2. तुलसी के पत्ते एसिडिटी में लाभदायक Tulsi Leaf Benefits in Acidity

तुलसी को भारत में सबसे पवित्र धार्मिक पौधे के रूप में जाना जाता है। इसके बहुत सारे आयुर्वेदिक लाभ हैं परन्तु एसिडिटी को कम करने में इसको बहुत लाभदायक पाया गया है। 5-6 तुलसी के पत्ते प्रतिदिन सुबह चबाने से आपका एसिडिटी दूर हो जायेगा। यह आपके Stomach में Mucous को बढ़ा कर Acidity को कम करता है।

इसे भी पढ़ें -  ग्रीन टी पीने के फायदे Green Tea Benefits in Hindi

3. एसिडिटी में पियें ठंडा दूध Drink Cold Milk to Overcome Acidity

ठंडा दूध आपके आमाशय में उत्पन्न होने वाले Gastric Juice को Stabilize करता है और Acidity से Relief दिलाता है। याद रहे दूध ठंडा होना चाहिए।

4. सौंफ चबाएं और एसिडिटी दूर करें Chew Fennel Seeds for Acid Reflux

सौंफ की खुशबू बहुत ही सुन्दर होती है और इसे पेट के कई प्रकार की बिमारियों जैसे बदहज़मी या एसिड रिफ्लक्स में भी बहुत लाभकारी पाया गया है।

5. जीरा से कम करें एसिडिटी Cumin Seeds for Acidity

एसिडिटी कम करने में जीरा बहुत ही लाभदायक होता है। अगर आपका एसिडिटी बढ़ जाये या पेट दर्द हो तो कच्चे जीरे को थोडा सा ले कर चबाएं। उसके बाद आधा गिलास पानी पियें। आधे घंटे में आपको एसिडिटी से राहत मिलेगी।

6. एसिडिटी में पुदीना है लाभदायक Pudina Best for Acidity

एसिडिटी में पुदीना के पत्तों की चटनी या पत्ते चबाने से पेड़ का दर्द कम होता है और एसिडिटी भी कम होता है। साथ ही जिन मरीजों को IBS(Irritable Bowel Syndrome) की शिकायत होती है उन्हें भी इससे बहुत फायदा होता है।

7. एसिडिटी में अदरक है लाभदायक Use Ginger in Acid Reflux

सबसे पहले अदरक के छिलके को निकाल दें। उसके बाद छोटे-छोटे टूकड़ों में काट लें। उन टुकड़ों को आप चाय में दाल सकते हैं, सूप बना कर पी सकते हैं, और सलाद में भी दाल कर खा सकते हैं। यह आपके एसिडिटी को control करने में बहुत मदद करता है।

एसिडिटी से कैसे दूर रहें? What are the best Prevention Tips for Acidity?

  • चटपटा खाना ना खाएं।
  • ज्यादा तेल और फैट युक्त भोजन ना खाएं।
  • ज्यादा चाय ना पियें।
  • कम खाएं और समय पर खाना खाएं।
  • उपाय दिए हुए घरेलु तरीकों को अपनाएं।
  • ज्यादा फल और सब्जियों का सेवन करें।
  • NSAIDs दवाईयां लेना बंद करें।
  • मन को शांत रखें और चिंता छोड़े।

8 thoughts on “एसिडिटी का कारण लक्षण और इलाज Acidity Symptoms Cause Treatment in Hindi”

  1. बहुत अच्छी जानकारी | एसिडिटी के लिए हमको घर पर हाजमोला , इनो , हिंगोली या नीम्बू हमेशा रखना चाहिए जाने कब काम आ जाए | बिजय , आप इमेज के लिए कोई सॉफ्टवेयर प्रयोग करते है या फोटोशॉप , मुझे बहुत पसंद आये और दूसरा आप जो भी लिखते है उसके बारे में पुरी जानकारी देते है ये अच्छी बात है क्योंकि आजकल ब्लॉगर केवल टाइटल तड़क-भडक डालते है और पोस्ट में कुछ नही होता है | ऐसे ही अनोखी पोस्ट लिखते रहे |

  2. आपके द्वारा दिये गए जानकारी से मैं बहुत संतुस्ट हूंइसलिए आपको धन्यवाद।
    आपने लिखा है कि Acidity बहुत ज्यादा बढ़ जाये तो Surgery (Vagotomy) भी करवाना पड़ सकता है।ये क्या होता है और इसके बारे में जानकारी दें

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.