सतर्कता जागरूकता सप्ताह 2020 Vigilance Awareness Week in Hindi

इस लेख सतर्कता जागरूकता सप्ताह (Vigilance Awareness Week in Hindi) में आपका स्वागत है। दोस्तों सतर्क और जागरूक रहना ये किसी भी इंसान या समाज के विकास के लिए बहुत ही सहायक होता है।

जो समाज या राष्ट्र जागरूक और सतर्क नहीं होता उसे बड़ी ही तकलीफें उठानी पड़ती हैं जिसका एक उदाहरण आप अपने देश के रूप में ले सकते हैं जो असतार्कता में सैकड़ों सालों तक गुलाम रहा और आज़ादी के लिए एक बहुत बड़ी कीमत चुकानी पड़ी, तो इस लेख में सतर्कता जागरूकता सप्ताह के बारे में हिंदी में जानेंगे।

सतर्कता जागरूकता सप्ताह क्या है? What is Vigilance Awareness Week in Hindi?

केन्द्रीय सतर्कता आयोग (Central Vigilance Commission) के द्वारा हर साल अक्टूबर के अंतिम सप्ताह को सरदार वल्लभ भाई पटेल के जन्मदिन को मद्देनजर रखकर “सतर्कता जागरूकता सप्ताह” के रूप में घोषित किया गया है।

सरदार पटेल का जन्म 31 अक्टूबर को हुआ था और भारत को एकत्रित और जागरूक करने में सरदार पटेल का बहुत बड़ा योगदान था।  पिछले साल सतर्कता जागरूकता सप्ताह 28 अक्टूबर से 02 नवम्बर तक तक मनाया गया था जिसमें भ्रष्टाचार से मुक्ति के प्रयासों पर जोर दिया गया था।

सतर्कता जागरूकता सप्ताह कुछ निम्न कारणों से अति-आवश्यक है।

  • विजिलेंस अवेयरनेस वीक के माध्यम से जागरूकता और सतर्कता फैलाने के प्रयासों में एक मिशन जैसी उर्जा आ जाती है।
  • सतर्कता जागरूकता सप्ताह में हज़ारो-लाखों की भूमिका शामिल हो जाती है जिससे हर इंसान या संस्थाओं के द्वारा अपने विस्तार में चुने हुए थीम पर जरुरी बातें समझाई जाती हैं
  • निरक्षर लोगों को समझने में आसानी होती है क्योंकि सतर्कता व् जागरूकता उनके ही लोकल लोगों के फैलाई जा रही होती हैं साथ ही रेडियो और टेलेविज़न के माध्यम से उन्हें जागरूक करने के हर संभव प्रयास किये जाते हैं।
  • पैम्पलेट्स तथा बैनर के माध्यम से शिक्षित और अशिक्षित दोनों प्रकार के लोगों को जरुरी जानकारी दी जाती है।
इसे भी पढ़ें -  भारत मे सम्प्रदायिकता पर निबंध Essay on Communalism in India Hindi

भारत में अशिक्षा और अस्वास्थ्य यह दो मुख्य चिंता के कारण रहें हैं और इन दोनों की कमी के कारण ही लापरवाही और अजागरुकता का जन्म होता है और सतर्कता जागरूकता सप्ताह जैसे कार्यक्रमों से समाज के ऐसे भागों में पहुचकर जागरूकता फैलाई जाती है जो उनके व्यक्तिगत अभावों के कारण समाज से कट चुके है।

केंद्रीय सतर्कता आयोग (CVC) Central Vigilance Commission

केंद्रीय सतर्कता आयोग को भ्रष्टाचार से लड़ने और लोक प्रशासन में ईमानदारी सुनिश्चित करने के लिए केंद्रीय सतर्कता आयोग अधिनियम, 2003 के अंतर्गत देश मे आया गाय। यह केंद्र सरकार के तहत सभी सतर्कता गतिविधियों की निगरानी और केंद्र सरकार और संगठनों में विभिन्न प्राधिकरणों को सलाह देने के लिए शुरू किया गया है।

साथ ही इससे शासन में प्रणालीगत सुधार लाने के लिए उनके सतर्कता कार्य की योजना, क्रियान्वयन और समीक्षा की जा रही है। इसके अतिरिक्त, आयोग अपनी पहुंच गतिविधियों के साथ पारदर्शिता, जवाबदेही और भ्रष्टाचार मुक्त शासन प्राप्त करने की नीति के प्रति आम आदमी, विशेषकर युवाओं में जागरूकता पैदा करने का भी प्रयास करता है।

सतर्कता जागरूकता सप्ताह का इतिहास History of Vigilance Awareness Week in Hindi

सतर्कता जागरूकता सप्ताह के इतिहास की बात करें तो इसकी शुरुवात सन 1999 में ही हो गई थी लेकिन 2006 में इसे मिशन मोड पर चलाने का प्रयास शुरु हुआ।

आयोग का मानना ​​है कि इस विषय से समाज के सभी वर्गों खासकर युवाओं का ध्यान एक ईमानदार, गैर-भेदभावपूर्ण और भ्रष्टाचार मुक्त समाज के निर्माण करने के तरफ आकर्षित होगा और समाज को वैचारिक रूप से स्वच्छ बनाने में मदद मिलेगी।

आयोग ने सभी केंद्र सरकार के मंत्रालयों / संगठनों से अनुरोध किया है कि वे अपने संगठन के भीतर इस विषय से संबंधित गतिविधियों का शुरू करें।

पिछले साल आयोग ने कुछ मुख्य दिशा-धाराएँ निर्मित की थी जैसे संगठन के भीतर आयोजित की जाने वाली सतर्कता और जागरूकता के कामों में सभी कर्मचारियों द्वारा वफ़ादारी की शपथ लेना, जागरूकता से जुडी बातें पैम्पलेट्स के माध्यम से फैलाना और अन्य भ्रष्टाचार विरोधी उपाय बताना इत्यादि शामिल था।

इसे भी पढ़ें -  मंगल ग्रह के बारे में 20 रोचक तथ्य Interesting facts about Mars planet in Hindi

साल 2017 में इस कार्यक्रम के द्वारा साठ हज़ार से भी अधिक जागरूकता अभियान की सभाएँ की गई थी और मुख्य सामजिक व्यवधान जैसे अशिक्षा,अस्वास्थ्य, भ्रष्टाचार इत्यादि जैसे विषयों से मुक्त होने के लिए जरुरी ताना-बाना बुना था। मौजूदा सरकार ने जागरुकाताओं को फैलाने में पूरी ताक़त झोक दी है चाहे वह शौचालय के प्रयोग की जागरूकता हो या जीविकापार्जन के लिए जरुरी जागरूकता सभी को ध्यान में रखते हुए जरुरी प्रयास किये जा रहें हैं।

सतर्कता जागरूकता सप्ताह के समय ली जानी वाली प्रतिज्ञाएँ Pledge for Vigilance Awareness Week

सतर्कता जागरूकता सप्ताह के समय व्यक्तिगत और संस्था के रूप में कुछ प्रतिज्ञाएँ ली जाती हैं जो निचे दी गई हैं।

मेरा मानना है कि भ्रष्टाचार यह समाज और देश के विकास में एक बड़ी बाधा रही है और मेरा यह भी मानना है कि आज इस बुराई को अपने समाज से दूर करने के प्रयास हमें मिल जुल कर करने की जरुरत है, मुझे एहसास है कि प्रत्येक नागरिक को सतर्क और प्रतिबद्ध होना चाहिए।

  • मैं भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई में खुद को शामिल करता हूँ।
  • जीवन के सभी क्षेत्रों में कानून का पालन करना यह मेरा परम कर्तव्य है
  • मैं प्रतिज्ञा लेता हूँ की न मै रिश्वत लूँगा और न ही किसी और को दूंगा।
  • सभी कार्यों में इमानदार और पारदर्शी रहूँगा।
  • ऐसे कार्य करूँगा जिससे समाज और देश का कल्याण हो।
  • भ्रष्टाचार के खिलाफ मैं भ्रष्टाचार विरोधी एजेंसीयों को सूचित करूँगा।

सतर्कता जागरूकता सप्ताह पर नारे हिंदी में Vigilance Awareness Week Slogans in Hindi

दोस्तों! नारों में बहुत शक्ति होती है ,नारों को कुछ विशेष शब्दों के मदद से तैयार किया जाता है और वे शब्द ही किसी भी पढने वाले के मष्तिष्क पर गहरे छाप छोड़ते हैं। यहाँ पर सतर्कता जागरूक सप्ताह के लिए कुछ बेहतरीन नारे दिए गए हैं जिन्हें पढ़कर सचमुच ही सतर्कता रखने का के महत्व का ज्ञान होता है।

  1. सतर्कता और जागरूकता सबसे पहले हमसे शुरू होती है।
  2. हम बदलेंगे हिन्दुस्तान बदलेगा।
  3. हमारा अब से एक ही नारा।
  4. न घुस लेना और न देना अब से काम है हमारा।
  5. भ्रष्टाचार यह समाज रूपी फसल में घुन के सामान है।
  6. जो धीरे-धीरे पूरी फसल को नष्ट कर देता है।
  7. सतर्कता और जागरूकता ही स्वतंत्रता की कीमत है।
  8. आओ मिलकर भ्रष्टाचार को चुनती दें और मिलकर उखाड़ फेकें।
  9. अब वक़्त आ गया है की पूरी शक्ति के साथ करप्शन को “ना” बोलें।
  10. हमें कानून पर भरोसा करना चाहिए, न कि टेबल के निचे की सहायता पर।
  11. वाहन चलाते  समय सतर्कता जीवन के सुरक्षा का कारण बनती है।
  12. AIDS से सुरक्षा ही असली जागरूकता है।
  13. कोरोना हारेगा भारत जीतेगा।
इसे भी पढ़ें -  पानी के बारे में 20 रोचक तथ्य Amazing Facts about Water in Hindi

निष्कर्ष Conclusion

इस सतर्कता जागरूकता सप्ताह लेख में आपने सतर्कता और जागरूकता के प्रयासों को बढ़ाने में भारत सरकार के तरफ से उठाये गए कुछ जरुरी कदम को पढ़ा। जिसमें आपने सतर्कता जागरूकता सप्ताह के इतिहास से लेकर वर्तमान तक के परिप्रेक्ष्य को जाना। सतर्कता जागरूकता सप्ताह के लिए कुछ बेहतरीन स्लोगन भी आपने पढ़े।

आशा है यह लेख आपको पसंद आया होगा इस सतर्कता जागरूकता सप्ताह लेख को आप पीडीऍफ़ फॉर्म में download कर सकते हैं तथा अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते हैं।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.