कंप्यूटर कीबोर्ड क्या होता है? इसके प्रकार Computer Keyboard and its types in Hindi

कंप्यूटर कीबोर्ड क्या होता है? इसके प्रकार Computer Keyboard and its types in Hindi : क्या आप जानते हैं कंप्यूटर या लैपटॉप में कीबोर्ड क्या होता है? यह क्या काम आता है? और यह कितने प्रकार में मिलते हैं?

कंप्यूटर कीबोर्ड क्या होता है? इसके प्रकार Computer Keyboard and its types in Hindi

कीबोर्ड क्या है? What is Computer keyboard? 

कीबोर्ड कंप्यूटर का एक अभिन्न हिस्सा है। कीबोर्ड के बिना कंप्यूटर की कल्पना करना ही नामुमकिन है। कंप्यूटर अलग अलग डिवाइस से मिलकर बना होता है। उन डिवाइस को दो कैटेगरी में बांटा जाता है। वे दो कैटेगरी निम्नलिखित हैं :- 

  1. इनपुट डिवाइस (Input device) :- इनपुट डिवाइस उन डिवाइस को कहा जाता है जो कंप्यूटर में किसी भी प्रकार का डाटा इनपुट करने के काम आते हैं। स्कैनर, माउस, कीबोर्ड इसके उदाहरण है। 
  2. आउटपुट डिवाइस (Output Device) :- आउटपुट डिवाइस, कंप्यूटर में प्रयोग किए जाने वाले कार्यों में दूसरे प्रकार के डिवाइस होते हैं। इन डिवाइस का काम कंप्यूटर का डाटा, यूजर के पास शो करना होता है। मॉनिटर, प्रिंटर, स्पीकर इसके उदाहरण हैं। 

कीबोर्ड एक इनपुट डिवाइस है। इसका कार्य कंप्यूटर में डाटा को प्रवेश कराने का है। कीबोर्ड कंप्यूटर का मेन डिवाइस है क्यूंकि इसका लगातार उपयोग किया जाता है। 

कंप्यूटर कीबोर्ड के प्रकार Types of Computer Keyboard

आम तौर पर कीबोर्ड को दो हिस्सों में बांटा गया है। कीबोर्ड की दो वर्गों के आधार पर छंटनी की जाती है। सबसे पहला यह कि उसमें कितने बटन हैं और दूसरा वह किस टेक्निक से कार्य करता है। दोनों ही वर्ग निम्नलिखित हैं। 

इसे भी पढ़ें -  सोशल मिडिया का समाज पर प्रभाव Impact of Social Media on Society in Hindi

बटन के आधार पर कंप्यूटर कीबोर्ड के प्रकार Types of Computer keyboards on basis of keys

  • बेसिक (Basic) :- बेसिक कीबोर्ड में 104 बटन होते हैं। ये बटन कंप्यूटर में सभी फंक्शन परफ़ॉर्म करने में कारगर होते हैं। आसान भाषा में अगर समझा जाए तो इन बटनों के अलावा किसी भी अतिरिक्त बटन की आवश्यकता नहीं होती। 
  • एक्सटेंडेड (Extended) :- इस तरह के कीबोर्ड में बेसिक कीबोर्ड से ज़्यादा बटन होते हैं। ऐसा कीबोर्ड अक्सर गेमिंग के लिए प्रयोग में लाया जाता है। ऐसे कीबोर्ड में बेसिक के 104 बटन होने के साथ ही, अलग से बटन लगा दिए जाते हैं। 

टेक्निक के आधार पर कंप्यूटर कीबोर्ड के प्रकार Types of Computer keyboards on basis of technique

कीबोर्ड को उनके चलने के आधार पर टेक्निक की कैटेगरी में बांटा जाता है। आसान भाषा में, कोई भी कीबोर्ड जिस तरह से किसी भी बटन के डाटा को कंप्यूटर तक पहुंचाता है, उसे उस कीबोर्ड की टेक्निक कहा जाता है। 

  • सीजर स्विच कीबोर्ड (Scissor Switch Keyboard) :- कीबोर्ड टेक्निक का ये सबसे सामान्य कीबोर्ड है। आज के समय प्रयोग किया जा रहा, लगभग हर कीबोर्ड इसी टेक्निक पर चलता है। ये कीबोर्ड सर्किट के आधार पर चलता है। सर्किट के आधार पर चलने का मतलब यह है कि, जब भी कोई बटन दबाया जाता है तब वह बटन एक पूरा सर्किट कंप्लीट करता है और करंट सीपीयू की तरफ फ्लो होता है।इस तरह के कीबोर्ड को चलाने का यह फायदा होता है कि ऐसे कीबोर्ड के बटन को आसानी से दबाकर चलाया जाता है, जिसे आसान भाषा में सॉफ्ट टच (Soft Touch) कहा जाता है। आसानी से दब जाने के कारण इसकी बटन भी जल्दी खराब नहीं होतीं। 
  • फ्लैट पेनल मेंब्रेन कीबोर्ड (Flat panel membrane keyboard) :- इस तरह के कीबोर्ड सामान्यतः प्रयोग नहीं किए जाते। आप इन कीबोर्ड को प्रिंटर्स और स्कैनर के डैशबोर्ड पर पा सकते हैं। ऐसे कीबोर्ड में दो प्लास्टिक मेंब्रेन लगे होते हैं। नीचे वाले प्लास्टिक मेंब्रेन में कन्डक्टिव स्ट्रिप लगी होती है, वहीं ऊपर वाले मेंब्रेन में बटन लगे होते हैं। जब भी ऊपर वाले मेंब्रेन में कोई भी बटन दबाया जाता हैं, तब वह उस कमांड को लेकर नीचे वाले मेंब्रेन में लेकर आता है, और वहीं से वह कमांड सीपीयू तक जाती है। इस तरह के कीबोर्ड में किसी तरह का आवाज़ नहीं होता लेकिन इनमें बटन दबाने पर लाइट जल जाती है। 
  • फूल प्रेस मेंब्रेन कीबोर्ड (Full press membrane keyboards) :- इस तरह का कीबोर्ड भी सर्किट के आधार पर ही कार्य करता है। जब भी कोई बटन दबाया जाता है, तब वह बटन सर्किट को पूरा करते हुए, करंट से कमांड बनाकर प्लास्टिक स्ट्रिप को ओर भेजता है। वहां से इनपुट सीपीयू में भेजा जाता है। 
  • डायरेक्ट स्विच कीबोर्ड (Directo Switch keyboard) :- इस तरह के कीबोर्ड आपको मोबाइल फोन में मिल जाएंगे। किपैड वाले मोबाइल में इन्ही कीबोर्ड का प्रयोग किया जाता है। ये कीबोर्ड मेटल कंडक्टर टेक्निक पर चलते हैं। इन कीबोर्ड की बनावट ऐसी होती है, जिसमें पहले ऊपर प्लास्टिक का एक कवर होता है जिसमें अलग अलग सिंबल बने होते हैं, उसके नीचे मेटल कंडक्टर की आईसी बनी होती है। बटन दबाने पर मेटल कंडक्टर नीचे की तरफ जाता है और वह कंप्यूटर को यह बता देता है कि एक बटन को दबाया गया है, यह सब कुछ एक नैनो सेकंड में कर दिया जाता है। 
इसे भी पढ़ें -  यूट्यूब पर पैसे कैसे कमायें? How to Monetize YouTube Videos with Adsense Hindi?

1हिंदी.COM की ओर से सुझाए गए बेहतरीन कीबोर्ड Best Recommended Computer Keyboard

आजकल बाजार काफी ज़्यादा फैल चुका है, और यह फैसला करना काफी ज़्यादा मुश्किल हो गया है कि कौन सा प्रोडक्ट विश्वास करने लायक है और किस प्रोडक्ट पर विश्वास नहीं किया जा सकता। ऐसा ही कीबोर्ड के साथ भी है।

महंगाई के इस जमाने में हर चीज को आजमा कर नहीं देखा जा सकता, इस कारण कुछ भी खरीदने से पहले एक्सपर्ट राय लेना सबसे ज़्यादा जरूरी है। नीचे 1हिन्दी के एक्सपर्टस की तरफ से बेहतरीन कीबोर्ड के सुझाव दिए गए हैं। 

1. माइक्रोसॉफ्ट अर्क कीबोर्ड (Microsoft Arc keyboard)

ये कीबोर्ड किसी पेंटर की बनाई हुई कृति जैसा खूबसूरत है। इस कीबोर्ड की खासियत यह है कि इसमें एरो बटन नहीं दिए गए हैं। यानी कि एक ही बटन को चारो तरफ घुमाकर एरो बटन की तरह प्रयोग किया जा सकता है। 

2. माइक्रोसॉफ्ट बिटी मोबाइल कीबोर्ड (Microsoft Bt Mobile Keyboard)

माइक्रोसॉफ्ट का यह डिजाइन भी देखने के बाद आपको हैरान कर देगा। इस कीबोर्ड की खासियत यह है कि इसमें साइड में दिया गया नंबर वाला हिस्सा, हटा दिया गया है। यानी कि अगर आप चाहे तो उसे लगा सकते हैं, और अगर ना चाहे तो उसे नहीं लगा सकते।

कई बार ऐसा होता है कि हम नोटपैड पर टाइपिंग करते समय, बगल वाले हिस्से का बिल्कुल भी प्रयोग नहीं करते। इस स्थिति को ध्यान में रखते हुए माइक्रोसॉफ़्ट ने इस तरह के कीबोर्ड का निर्माण किया है। इस कीबोर्ड को साथ लेकर घूमना काफी ज़्यादा आसान है। 

माइक्रोसॉफ्ट डेस्कटॉप कीबोर्ड 2000 (Microsoft Desktop keyboard 2000)

अगर आपको कंप्यूटर चलाते समय बटन की आवाज़ काफी ज़्यादा पसंद आती है तो यह कीबोर्ड आपके लिए ही है। इस कीबोर्ड की खासियत यह है कि यह वायरलेस है। आसान भाषा में अगर कहूँ तो यह कीबोर्ड बिना किसी तार के, कंप्यूटर के साथ जोड़ा जा सकता है।

इसे भी पढ़ें -  RAM और ROM में अंतर और इनके प्रकार के विषय में पूरी जानकरी

रेडियो वेव के जरिए इसकी कमांड कंप्यूटर तक पहुंचती है। इस कीबोर्ड के साथ माउस भी आता, जो कि इसी की तरह वायरलेस होता है। इस कीबोर्ड को बैट्री से चलाया जाता है और इसे प्रयोग न होने पर टर्न ऑफ किया जा सकता है। यह प्रक्रिया काफी ज़्यादा आसान है। अगर आप नया कीबोर्ड लेने के बारे में सोच रहे हैं तो इससे बेःतरीन कुछ नहीं हो सकता। 

 

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.