मेट्रो रेल पर निबंध Essay on Metro Train in Hindi

इस लेख में मेट्रो रेल के ऊपर निबंध (Metro Train Essay in Hindi) दिया गया है। इसमें आप मेट्रो ट्रेन का इतिहास, महत्व और लाभ के विषय में पढ़ेंगे।

मेट्रो रेल पर निबंध कक्षा 5 से 12 तक परीक्षाओं में विभिन्न रूपों से पूछा जाता है। यहां पर दिया गया हिंदी निबंध बहुत ही सरल है और पूछें गए परीक्षाओं में बेझिझक लिखा जा सकता है।

मेट्रो रेल पर निबंध Essay on Metro Train in Hindi (800+ Words)

मानव इतिहास के परिवहन के साधनों में हुए कुछ ऐतिहासिक बदलावों में मेट्रो ट्रेन प्रारंभिक तथा मुख्य बदलावों में से है। रेल निर्माण के शुरुआती दिनों में यात्रा बेहद लंबी हुआ करती थी जिसमें थोड़ी दूरी पर जाने के लिए भी कम से कम एक दिन लगते थे और लंबी दूरी के लिए कभी-कभी एक हफ्ते भी लग जाते थे। इंसान के विकास के रूप में मेट्रो मुख्य है।

मेट्रो रेल का इतिहास History of Metro Train in Hindi

यातायात को सुगम और त्वरित बनाने के लिए मेट्रो रेल एक बेहतरीन खोज है। मेट्रो रेल यह भारत की राजधानी दिल्ली के परिवहन का एक बेहतरीन नमूना है। मेट्रो रेल को दिल्ली मेट्रो रेल निगम लिमिटेड के द्वारा संचालित किया जाता है जिसमें समय, श्रम और धन का एक बड़ा रूप खर्च होता है।

मेट्रो रेल की शुरुआत 24 दिसंबर 2002 को दिल्ली के शाहदरा तीस हजारी रूट से हुई। मेट्रो की अधिकतम स्पीड विभिन्न रूटों के अनुसार 80 किलोमीटर प्रति घंटा तक रखी गई है क्योंकि इसे इंटरसिटी परिवहन के लिए उपयोग में लिया जाता है। मेट्रो रेल को रुकने के लिए स्पेशल मेट्रो स्टेशन का निर्माण किया गया है जहां मेट्रो अधिकतम 20 सेकंड के लिए रूकती हैं।

इसे भी पढ़ें -  भारतीय शिक्षा प्रणाली पर निबंध Education system in India Hindi

भारत के सभी मेट्रो रेल का निर्माण दक्षिण कोरिया की कंपनी ROTEM करती है। दिल्ली में मेट्रो के सफल उपयोग के बाद भारत के अन्य राज्य जैसे उत्तर प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा वह गुजरात में भी मेट्रो को शुरू करने  का प्रयास किया जा रहा है।

दिल्ली की मेट्रो दुनिया के सबसे व्यस्ततम मेट्रो सेवाओं में से एक है तथा पूरी दुनिया में नवें नंबर की सबसे बड़ी मेट्रो सेवा है इसकी कुल लंबाई अलग-अलग डिवीज़न के हिसाब से 317 किलोमीटर होती है तथा इसके 229 स्टेशनों के माध्यम से इसे एयरपोर्ट बस स्टॉप तथा जरूरी जगहों से जोड़ा जाता है।

दिल्ली के मेट्रो को संयुक्त राष्ट्र ने सन 2011 में क्लीन डेवलपमेंट सिस्टम के तहत दुनिया का पहला कार्बन क्रेडिट दिया था और साथ ही 7 सालों के लिए 95 लाख डॉलर भी दिया था।

मेट्रो रेल के लाभ Advantages of Metro Train in Hindi

दिल्ली भारत की राजधानी होने कारण सबसे व्यस्ततम प्रदेशों में से एक है इसलिए राजधानी को आधुनिक बनाने के लिए मेट्रो का निर्माण किया गया, मेट्रो रेल के अनेक लाभ है। जहां सामान्य रेलगाड़ी का उपयोग महंगा और अधिक समय लेने वाला है वही मेट्रो सस्ता व तीव्र है।

मेट्रो ट्रेन से परिवहन बेहद सस्ता हो गया है तथा अंतर शहरी आवागमन की सुविधा बढ़ गयी है। मेट्रो यह पूरे वर्ष सुबह 5:00 बजे से रात 11:30 बजे तक चलने वाली सेवा है जिसमें पूरे साल लगभग 100 करोड़ लोग यात्रा करते हैं। मेट्रो में खाने-पीने, धूम्रपान, च्यूंगम खाने पर पूर्ण प्रतिबंध है। 2010 से  मेट्रो का प्रथम कोच महिलाओं के लिए आरक्षित करके रखा जाता है।

मेट्रो रेल के दरवाजे स्वचालित होते हैं तथा मेट्रो रेल के अंदर सुरक्षा को ध्यान में रखकर आपातकालीन सिस्टम तथा अग्निशामक सिस्टम भी लगाया गया है। मेट्रो ट्रेन के डिब्बे वातानुकूलित होते हैं इसके माध्यम से यात्रियों को बिना धूल मिट्टी के नजदीक आये अपने गंतव्य तक सुरक्षित पहुंचने की सुविधा मिलती है।

इसे भी पढ़ें -  सूर्य पर निबंध हिंदी में Essay on Sun in Hindi

मेट्रो सेवा चालू होने से लोगों को ट्रैफिक जाम से मुक्ति मिली है तथा जरूरी जगहों जैसे कि दफ्तर या नौकरियों पर समय पर पहुंचने  के लिए एक तोहफा मिला है। मेट्रो रेल को और आधुनिक करने की योजना केंद्र तथा दिल्ली सरकार कर रही है।  मेट्रो में महिलाओं के लिए विशेष सुरक्षा का प्रावधान किया गया है जिसमें सीसीटीवी कैमरा तथा सिक्योरिटी गार्ड की व्यवस्था भी की गई है।

मेट्रो रेल यह अन्य परिवहन माध्यमों से सस्ता है जहां टैक्सी या बसों की सवारी में अधिक समय व अधिक पैसा लगता है वही मेट्रो में बेहद कम कीमत पर और कम समय में यात्रा करने की सुविधा मिलती है।

मेट्रो व्यवस्था पूरी तरह से आधुनिक होने के कारण यात्रियों को समय सारणी व मेट्रो की पूरी जानकारी ऑनलाइन मिल जाती है तथा टिकट लेने के लिए भी पारदर्शी सिस्टम का निर्माण किया गया है ताकि यात्रियों को बिचौलियों का सामना ना करना पड़े।

मेट्रो ट्रेन के उपयोग से प्रदूषण नहीं फैलता क्योंकि यह पूर्णतः इलेक्ट्रिक से चलने वाली सेवा है। जहां सामान्य ट्रेनों में टिकट लेने की आवश्यकता होती है तथा कंडक्टर व आवश्यक गार्डों की आवश्यकता पड़ती है वही मेट्रो में इतने झंझट नहीं रहते वहां टोकन से टिकट लेना व यात्रा करना होता है।

21वीं सदी को इंसानों के लिए विकास की सदी कहीं गई है। लेकिन विकास में प्राकृतिक संतुलन में बाधा डालना यह इंसानियत को खतरे में डालने जैसा होगा क्योंकि मेट्रो को लागू करने के लिए वृक्षों का एक बहुत बड़ा समूह काटना पड़ा था। विकास अच्छी बात है लेकिन पर्यावरण से समझौता नहीं किया जाना चाहिए आज मेट्रो रेल तथा बुलेट ट्रेन की बात हो रही है लेकिन विकास के कारण वृक्षों का विनाश नहीं होना चाहिए।

निष्कर्ष Conclusion

इस लेख में आपने मेट्रो रेल पर निबंध Essay on Metro Train in Hindi हिन्दी में पढ़ा जिसमें मेट्रो के इतिहास तथा मेट्रो से लाभ के बारे में विस्तार से बताया गया है। दिया गया निबंध सरल भाषा में लिखने का प्रयास किया गया है ताकि विद्यार्थियों को समझने में मुश्किल न हो। अगर मेट्रो ट्रेन पर यह लेख जानकारी से भरपूर लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.