KYC क्या है? इसका Full Form, Use, Importance in Hindi

आज हमने इस आर्टिकल में बताया है KYC क्या है? इसके Full Form, उपयोग, महत्व, आवेदन पत्र, ज़रूरी डाक्यूमेंट्स, cKYC, eKYC के विषय में पूरी जानकारी।

KYC क्या है? इसका Full Form, Use, Importance in Hindi

KYC क्या है?

KYC  को हम अंग्रेज़ी  भाषा में know your customer कहते है और हिंदी भाषा में इसका अर्थ है कि अपने ग्राहक को पहचानना।  KYC आज के युग में हमारी सबसे अहम ज़रूरत बन चुका है।

हमारी जनता के लिये आज वित्त से सम्बंधित किसी भी कार्य को पूर्ण करने के लिये KYC अत्यंत महत्ववपूर्ण हो गया है। अतः सरल शव्दों में हम कह सकते है कि जब हम अपनी पहचान किसी भी संसथान या अन्य किसी जगह वेरीफाई कराते है, तो हम इसे KYC कहते है।

हम KYC कहाँ-कहाँ उपयोग करते है?

बैंक और हमारी  वित्तीय कम्पनियाँ आज के समय में एक KYC नाम का फॉर्म उपयोग करती है  जैसे-

आपको किसी बैंक में कोई खाता खुलबाना है, फिक्स्ड डिपाजिट (FD)  करना हो, जीवन बीमा लेना हो या फिर ऑनलाइन म्यूच्यूअल फण्ड में आपको कही पैसे लगाना हो,बैंक लॉकर्स,सोने में निबेश करने जैसी अन्य सभी प्रक्रियाओं में, बैंक या कंपनी के कर्मचारी  ग्राहक से उनका KYC मांगते है या बैंक हमें KYC करने को कहती है। इसके आलावा जब हम कोई नया सिम कार्ड लेना चाहते है तो हमें अपनी पहचान के लिये हमारा आधार कार्ड से वेरीफाई कराना होता है  इस प्रक्रिया को भी हम KYC के नाम से जानते है।

जब हमारा बैंक का खाता निश्क्रिय हो जाता है या किसी कारणबश बंद हो जाता है, तो उसे दोवारा से चालू करने की प्रक्रिया में भी बैंक हमसे सबसे पहले KYC मांगता है। आज हमारी (RBI)भारतीय रिज़र्व बैंक के द्वारा बैंकों की अपनी सुरक्षा के लिये ग्राहकों से KYC फॉर्म भरवाना अनिवार्य हो गया है।

इसे भी पढ़ें -  Aadhar card Apply Correction Update Download Online in Hindi

KYC का महत्व

वित्तीय सस्थानों और हमारी बैंकों में आज KYC का महत्वपूर्ण स्थान है क्यूँ कि इसी के आधार पर एक समाज में रहने वाले व्यक्ति की पहचान सुनिशिचित हो जाती है और इस प्रक्रिया के पूरे हो जाने से किसी भी प्रकार की धोकेधड़ी से कंपनी या बैंक दोनों को बचाया जा सकता है।

KYC का आवेदन पत्र

वैसे तो KYC के फॉर्म हर संस्थान कंपनी सभी बैंकों में अलग अलग होते है पर सभी में कुछ समानताएं होती है जैसे-

  1. KYC फॉर्म में हमें अपनी एक पासपोर्ट आकार की फोटो लगानी होती है।
  2. अपनी बैंक से संबंधित खता क्रमांक भरना होता है।
  3. ग्राहक को अपना और अपने पिता का नाम भरना पड़ता है ।
  4. आपको आपका फ़ोन नम्बर तथा मोबाइल नम्बर जो भी आप वर्तमान में उपयोग कर रहे  है उसको भरना पड़ता है।
  5. ग्राहक को अपनी जन्म तिथि भरना पड़ती है।
  6. ग्राहक को अपना पेन कार्ड का क्रमांक भरना पड़ता है।
  7. ग्राहक को अपने घर का पता डालना पडता है जो कि आधार कार्ड में दिया गया हो।
  8. अगर आप कोई ईमेल आई डी उपयोग करते है तो फॉर्म में लिखना होगा।
  9. और आप कोन सा आई डी इस फॉर्म के साथ लगा रहे है या आपको इस फॉर्म में बताना होगा या कोई चिन्ह लगाना होगा।
  10. और ग्राहक को अंत में अपने हस्ताक्षर करने होते है।
  11. इस तरह हम अपने KYC का कार्य पूर्ण करके इसे बैंक के अधिकारी को जमा कर देते है।

KYC के लिए ज़रूरी दस्तावेज

इसमें ग्राहक का id जैसे आधार कार्ड, वोटर कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट आदि लगा सकते है, हालाँकि पेन कार्ड भी आपका परिचय पत्र होता है पर उसमे आपका एक निश्चित पता नहीं दिया रहता है, लेकिन बाकि सभी में आपका घर का पता होता है।

ग्राहक की हाल ही में खिचवायी गयी पासपोर्ट के आकार की फोटो की ज़रूरत होती है , ये सभी दस्तावेज आपके KYC कहलाते है।

इसे भी पढ़ें -  इंटरनेट के फायदे और नुकसान Advantages and Disadvantages of Internet in Hindi

म्यूच्यूअल फण्ड में पैसे लगाने के लिए ज़रूरी है KYC

अगर हम म्यूच्यूअल फण्ड में पैसे लगाना चाहते है तो यह प्रक्रिया हम ऑनलाइन करना चाहते है तो हमें सबसे पहले गूगल पर जाकर KYC म्यूच्यूअल फंड फॉर्म टाइप करना होगा तब आपके सामने एक फॉर्म आएगा जो कि आपको भरना पड़ेगा और उसमे आपको अपना एक किसी भी ऐसे address proof आई डी का पूरा विवरण करना होता जो कि केंद्र सरकार से वेरीफाई हो फिर आप इसे आपके नजदीकी डिस्ट्रीव्युटर के पास जमा कर सकते है। यह एक साधारण प्रक्रिया है।

CKYC क्या है?

इसको हम सेंट्रल KYC कहते है जिसको हमारी भारत सरकार ने जुलाई 2015 में प्रस्ताव पारित किया और 1 फरवरी 2017 में इसे लागू कर दिया गया।  इससे हमें कुछ लाभ भी मिलते है जैसे यदि आपने कोई जीवन बीमा लिया है और अपने उनको अपना cKYC भरकर दे दिया हो तो आपको एक 14 नम्बर का एक किन नम्बर मिलेगा और जब कभी आप अपना कोई बैंक में खाता खोलना चाहते है या आप म्यूच्यूअल फण्ड में पैसे लगाना चाहते है तो आपको केवल वो नम्बर उस फॉर्म में भरना पड़ेगा और इसतरह आप दोवारा से KYC नहीं जमा करने की प्रक्रिया से बच जायेंगे।cKYC सर्वर पर आपकी सारी जानकारी को सुरक्षित कर लेता है।

EKYC क्या है

eKYC एक otp पिन के आधार पर कार्य करता है। इसको आप CAMS site पर  जाकर भी कर सकते है। इसके लिये आपको सबसे पहले गूगल पर जाकर CAMS eKYC लिखना होगा फिर आपके सामने कुछ लिंक आएँगी जिसमे से आपको CAMS eKYC वाली लिंक को खोलना है इसमें आपको कुछ बातों को याद रखना होता है इसमें SEBI RAGULATORY BODY ने इसमें एक राशि को प्रतिबंधित कर दिया है जो है -१ साल में प्रत्येक म्यूच्यूअल फंड पर केवल 50000 की राशि । अगर किसी भी व्यक्ति को इससे भी ज्यादा की राशि  म्यूच्यूअल फंड में लगाना है तो उसको कुछ नियमकेका पालन करना होगें इसके लिए आपको किसी भी POA याCAMS के पास जाकर इस काम को  पूर्ण करना होगा।

हम KYC फॉर्म कहा मिलता है

यह फॉर्म आप आपके नजदीकी सभी बैंकों से प्राप्त कर सकते है।  

कुछ ऐप जिनमें हम  KYC हम का उपयोग करके कुछ फायदे प्राप्त कर सकते है :

PayTm में KYC ऑनलाइन करने की विधि :

  1. अपने PayTm को सबसे पहले डाउनलोड करले।
  2. फिर PayTm को अपने फोन में खोले और इस ऐप में sign in करें।
  3. अब आप KYC आइकन को चुन लें।
  4. फिर आप आगे proccess को चुन ले।
  5. इसके बाद आपको आपका १२ संख्याओं का आधार कार्ड का नंबर भरना होगा ।
  6. इसके बाद आपको PayTm में दी गए सारे नियम और कानून से सहमति के लिए उस बॉक्स को चुनना होगा।
  7. फिर आपको otp नम्बर को इसमें वेरीफाई करना होगा।
  8. इसके बाद इसके एक फॉर्म में आपको आपके माता और पिता का नाम भरना होगा आपका जन्म की तारीख और अन्य जानकारियां भरनी होगी।
  9. और इसमें दिए गए सबमिट बटन को दवाना होगा।
  10. अंत में आपको एक सूचना दी जाएगी की आपकी प्रक्रियां सफल रही इसका मतलब आपका KYC PayTm में register हो गया है।
इसे भी पढ़ें -  इंटरनेट काम कैसे करता है? How internet works in Hindi?

PayTm में KYC का उपयोग

अगर हम PayTm में KYC नहीं लगाते है, तो आप अपने PayTm अकाउंट में एक महीने में केवल 20,000 की राशि का उपयोग कर सकते लेकिन आप अगर PayTm में अपना KYC लगाते है तो आप एक महत्वपूर्ण ग्राहक  बन जाते है और कम से कम 1,00000 तक की राशि का उपयोग भी कर सकते है।

अगर अपने अपना KYC PayTm में नहीं लगाया है तो आपको किसी दूसरे खाते में पैसे डालते समय  २प्रतिशत की राशि PayTm कंपनी को देना होगी और अगर आप KYC को PayTm में जोड़ चुके है तो आपको कोई भी राशि नहीं चुकाना पड़ेगी।

PayTm में KYC के फायदे

अगर आप २ मूवी के टिकिट लेते है तो आपको 100 रूपए तक बापस मिल जाते है आप एयर टिकिट को बुक करते है तो 500 तक की राशि बापस मिल सकती है। अगर आप 800 से उपर कोई  ऑनलाइन खरीददारी करते है तो 200 रूपए तक की राशि बापस प्राप्त कर सकते है पर ये सभी पैसे आपको एक कोड के रूप में बापस मिलते है जिसे हम प्रोमोकोड के नाम से जानते है।

शेयर करें

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.