डेंगू बुखार के लक्षण, कारण, उपचार Dengue Fever Causes Symptoms Treatment in Hindi

इस लेख में आप डेंगू बुखार के लक्षण, कारण, उपचार (Dengue fever causes, symptoms, treatment in hindi) पढ़ेंगे। साथ ही हमने डेंगू फीवर के कुछ निवारण भी बताए हैं जिनका पालन करके आप इससे बच सकते हैं।

डेंगू बुखार के लक्षण, कारण, उपचार Dengue Fever Causes Symptoms Treatment in Hindi

क्या आपको पता है? – डेंगू फीवर (Dengue Fever) बहुत ही खतरनाक बीमारी है जिसे सही समय पर अगर उपचार नहीं किया जाए तो इससे मरीज की जान भी जा सकती है। इसीलिए डेंगू बुखार के लक्षण, कारण, उपचार, तथा निवारण के विषय में पुरी जानकारी रखना आवश्यक है।

डेंगू बुखार क्या है? What is Dengue Fever in Hindi?

डेंगू बुखार (Dengue Fever) मच्छर से फ़ैलने वही एक बीमारी है जो विश्व के उष्णकटिबंधीय और उपोष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में सबसे ज्यादा होता है। यह एक वायरल बीमारी है जो वायरस के कारण होता है।

इसमें बहुत तेज़ बुखार होता है तथा मांशपेशियों और जोड़ों में अत्यधिक दर्द होता है। डेंगू बुखार का वाहक मच्छर होते है। यह डेंगू फीवर तब होता है जब वायरस संक्रमित एडीज मच्छर किसी स्वस्थ व्यक्ति को काटता है।

डेंगू के कुल 5 प्रकार के serotypes होते हैं इसलिए जीवन में बार-बार डेंगू हो सकता है पर जीस serotype से एक बार व्यक्ति infected हो जाता है शरीर उस serotype के लिए immunity जीवन भर के लिए बना लेता है।

लगभग 40% से ज्यादा विश्व की आबादी डेंगू फैलने वाले क्षेत्रों में रहते हैं। WHO (World Health Organization) के अनुसार प्रतिवर्ष विश्व भर में 20 हज़ार से ज्यादा लोगों की मौत डेंगू की वज़ह से होती है जिसमें ज्यादातर बच्चे होते हैं।

और पढ़ें -  अनार खाने के फायदे और नुक्सान Health Benefits of Pomegranate Juice in Hindi

डेंगू बुखार कैसे फैलता है? – मुख्य कारण How is Dengue Fever Spread?

आईए जानते हैं डेंगू बुखार फैलने के कुछ मुख्य कारण:

1. मच्छरों के काटने से डेंगू फैलता है

संक्रमित एडीज प्रजाति (Ae. aegypti or Ae. albopictus) के मच्छर डेंगू के वायरस शरीर में काट कर मनुष्य को संक्रमित करते हैं। इन मच्छरों के लिए अपने अंडे उन कंटेनरों में रखना आम बात है जिनमें हम पानी जमा करते हैं (जैसे बाल्टी, कटोरे, जानवरों के कुंड और फूलों के बर्तन)।

अन्य मच्छरों के विपरीत, ये मच्छर इंसानों को काटना पसंद करते हैं, और ये घर के अंदर और बाहर दोनों जगह पाए जा सकते हैं। जब वे किसी बीमार व्यक्ति को काटते हैं, तो मच्छर वायरस को उठा लेते हैं और इसे दूसरों में फैला देते हैं। संक्रमित मच्छरों के काटने से लोगों में डेंगू वायरस फैलता है।

2. संक्रमित माँ से बच्चे को फैलता है

जब तक गर्भवती महिला पहले से ही डेंगू से संक्रमित है, उसके भ्रूण के संक्रमित होने का खतरा है। अभी तक स्तन के दूध के माध्यम से प्रसारित होने वाले डेंगू के केवल एक पुष्ट मामले की पुष्टि हुई है।

यहां तक ​​कि उन जगहों पर जहां डेंगू बुखार का खतरा है, स्तनपान को इसके द्वारा प्रदान किए जाने वाले स्वास्थ्य लाभों के कारण प्रोत्साहित किया जाता है।

3. अन्य फैलने के कारण

रक्त दान, अंग प्रत्यारोपण, या सुई की चोट से भी डेंगू फैल सकता है, हालांकि यह अत्यंत दुर्लभ है।

डेंगू बुखार के लक्षण Symptoms of Dengue Fever in Hindi

(Dengue Fever) डेंगू बुखार बहुत ज्यादा बढ़ जाने पर ब्लड प्रेशर (BP) कम हो जाता हैर ब्लीडिंग (bleeding) भी हो सकता है जिसे डेंगू हेमरैजिक बुखार (Dengue hemorrhagic Fever) कहा जाता है। अभी तक इस बीमारी के लिए कोई पक्का दवाई नहीं है परन्तु सही समय में इलाज ही इसका बचाव है।

मच्छर के काटने के 4-7 दिन बाद डेंगू बुखार के लक्षण दिखने लगते हैं। जैसे की हमने बताया डेंगू फीवर एक वायरस से संक्रमित होने वाला बुखार है इसके कई प्रकार के लक्षण मनुष्य के शरीर में देखने को मिलते हैं।

उनमें से कुछ मुख्य डेंगू के लक्षण हैं:

  • डेंगू में (40°C/104°F) बुखार यानि की बहुत ज्यादा बुखार होता है
  • सर में बहुत दर्द होना।
  • मांशपेशियों, हड्डी और जोड़ों में बहुत ज्यादा दर्द होना।
  • उलटी आना।
  • मतली आना।
  • आँखों के निचले भाग में दर्द होना।
  • अंगों में सुजन आना।
  • त्वचा पर दाने या लाल होना।
  • लिम्फ नोड में सुजन।
और पढ़ें -  लेमन ग्रास के फायदे और नुकसान Lemon Grass Benefits and Side Effects in Hindi

रक्तस्रावी डेंगू बुखार के लक्षण Dengue Hemorrhagic Fever Symptoms in Hindi

अगर सही समय में डेंगू का उपचार न कराया जाए तो यह रक्तस्रावी डेंगू बुखार (Dengue Hemorrhagic Fever) का रूप ले लेता है। इसके लक्षण डेंगू के शुरुवाती समय के इन्फेक्शन से बहुत ही अलग होते हैं।

रक्तस्रावी डेंगू बुखार के लक्षण:

  • पेट में जोरो का दर्द होना।
  • उलटी का बंद ना होना।
  • दांतों के मसूड़ों और नाक के खून निकलना।
  • पेशाब, मल या उलटी में खून जाना।
  • त्वचा से खून निकलना।
  • थकान।
  • बैचैनी और कमजोरी।

नोट: अगर आप ऊपर दिए हुए किसी भी प्रकार के लक्षण को देखते हैं तो तुरंत अपने नजदीकी चिकित्सा केंद्र को जाएँ या Emergecy पर 108 पर कॉल करें।

डेंगू बुखार के निवारण Prevention of Dengue in Hindi

डेंगू बुकर के निवारण के लिए ज्यादा मच्छर वाले समय में इन चीजों का ध्यान दें-

  • बारिश के महीने में घर के पीछे पानी भरे हुए गमले, प्लास्टिक के कंटेनर, बोतलें या कूलर में पुराना पानी ना रहने दें। एडीज मच्छर के लिए स्वच्छ, स्थिर पानी सही प्रजनन स्थल है। रुके हुए पानी की जांच और उसे खत्म करके खतरे को कम करें।
  • अपने घर के आस-पास साफ़ सफाई रखें। कंटेनरों को स्क्रब करके मच्छर के अंडे निकालें और पौधे के बर्तनों से अतिरिक्त पानी निकाल दें।
  • सोते समय मच्छरदानी का उपयोग करें।
  • जब झाड़ी वाले क्षेत्रों में जाएँ तो फुल हाँथ वाले शर्ट और फुल पेंट पहनें।
  • अपने घर के आस-पास के झाड़ियों और घर में इंसेक्टिसाइड जैसे (Diethyltoluamide – DEET) का छिडकाव करें।
  • लंबी पैंट, लंबी बाजू की शर्ट और मोज़े पहनें, पैंट की टाँगों को जूते या मोज़े में बाँध लें, और त्वचा के खुला होने की मात्रा को कम करने के लिए एक टोपी पहनें।
  • मच्छर सुगंधित साबुन और परफ्यूम की ओर आकर्षित होते हैं, इसलिए इनका इस्तेमाल करने से बचें।
  • पर्मेथ्रिन का उपयोग कपड़ों, जूतों और कैंपिंग उपकरणों के उपचार के लिए किया जा सकता है।
  • सुबह जल्दी और शाम को बाहर निकलने से बचें।
  • सुनिश्चित करें कि जब आप कैंपिंग कर रहे हों या पिकनिक कर रहे हों तो आप किसी भी रुके पानी के पास न हों।
और पढ़ें -  सुदर्शन क्रिया क्या है और कैसे करें? What is Sudarshan Kriya in hindi ?

डेंगू का निदान (टेस्ट) Diagnosis of Dengue

ऊपर दिए हुए लक्षण के दिखने पर डॉक्टर्स डेंगू के लिए DENV Detect IgM Capture (ELISA) टेस्ट करने की सलाह देते थे। यह टेस्ट खासकर डेंगू के निदान के लिए किया जाता था। पर अब नए तरीकों से टेस्ट किया जाता है।

डॉक्टरों द्वारा रक्त परीक्षण का उपयोग यह निर्धारित करने के लिए किया जाता है कि किसी मरीज में डेंगू वायरस के प्रति एंटीबॉडी है या नहीं। डॉक्टरों के लिए वायरोलॉजिकल और सीरोलॉजिकल टेस्ट उपलब्ध हैं।

1. वायरोलॉजिकल टेस्ट

यह परीक्षण विशेष रूप से वायरस से संबंधित घटकों को देखने के लिए डिज़ाइन किया गया है। इस प्रकार के परीक्षण को करने के लिए, हाई चिकित्सा सुविधा तथा विशिष्ट उपकरण और उच्च प्रशिक्षित स्टाफ सदस्यों की आवश्यकता हो सकती है।

2. रक्त परीक्षण का एक दौर

हाल ही में या चल रहे संक्रमण की पुष्टि करने के लिए, यह परीक्षण रक्त में एंटीबॉडी की तलाश करता है। यदि आप देश के बाहर किसी यात्रा से लौटते हैं तो डेंगू बुखार के लक्षण आपको चिकित्सकीय सहायता लेने के लिए मदद करेंगे

डेंगू बुखार के उपचार Treatment of Dengue Fever in Hindi

डेंगू के लिए कोई विशिष्ट उपचार नहीं है क्योंकि यह वायरस के कारण फैलता है। राहत के लिए कुछ उपचार हैं जिनमें से कुछ घरेलू हैं और कुछ के लिए आपको अस्पताल जाना पड़ सकता है। जैसे:

  • सबसे पहले तो ज्यादा से ज्यादा पानी पियें। इससे डिहाइड्रेशन होने से आप बच सकते हैं।
  • ज्यादा बुखार होने पर मात्र पेरासिटामोल की गोली लें।
  • ज्यादा हालत खराब होने पर जितना जल्दी हो सके अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पहुंचें।
  • किसी भी प्रकार के दर्द की गोली लेने से पहले अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

अधिक गंभीर डेंगू बुखार परिस्थिति के लिए निम्नलिखित की आवश्यकता हो सकती है:

गंभीर डिहाइड्रेशन वाले रोगियों के लिए, यदि रोगी मुंह से तरल पदार्थ लेने में असमर्थ है, तो अंतःशिरा (IV) आईवी ड्रिप देना पड़ सकता है।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.