संगीत पर निबंध Essay on Music in Hindi

संगीत पर निबंध Essay on Music in Hindi

संगीत हम सभी के जीवन में कितना महत्वपूर्ण है यह बात तो आप बस, टेंपो, कैब और टैक्सियों में बैठकर ही पता लगा सकते हैं। सारा दिन किस तरह बस, टेंपो, टैक्सी का काम करने वाले लोग इसे सुनकर ही नयी ऊर्जा प्राप्त करते है और उन्हें थकावट नही महसूस होती है।

कहते है जब तानसेन दीपक राग और मेघ मल्हार गाया करते थे तो बुझे दिए अपने आप जल जाया करते थे और बारिश हो जाया करती थी।

संगीत पर निबंध Essay on Music in Hindi

आज के समय में हमारे देश में अनेक प्रसिद्ध गायक हैं। जाने-माने गायकों को सभी लोग आजीवन याद रखते हैं। सभी गायकों का बहुत ही सम्मान किया जाता है क्योंकि गायक ही एक उम्दा गाना बनाकर हमें पेश करते हैं जिसे सुनने और गाने से हम सभी को बहुत आनंद मिलता है।

पुराने समय के मशहूर गायक जैसे मोहम्मद रफी, लता मंगेशकर, आशा भोंसले, सोनू निगम, कुमार शानू, उदित नारायण बहुत लोकप्रिय थे। उनके गाने आज भी सुने जाते हैं। ऐसा कहा जाता है कि संगीत कभी नहीं मरता। यह अमर रहता है।  

भारत के लोगों को संगीत सुनना विशेष रूप से पसंद है। हम सभी को गाना गाना और सुनना पसंद है। इसे एक विशेष गुण समझा जाता है। जो लोग अच्छा गाना गा लेते हैं वह अत्यधिक लोकप्रिय हो जाते हैं। सब लोग उनसे मिलना चाहते हैं।

संगीत हम सभी के लिए एक जरूरत है। थकान होने पर संगीत सुनकर ही हमारा तनाव और थकान दूर होता है। बच्चे, बूढ़े और जवान सभी को संगीत सुनना पसंद होता है।

स्कूलों में संगीत एक विषय के रूप में पढ़ाया जाता है। बॉलीवुड में संगीत का व्यवसाय बहुत बड़ा है। एक-एक गाना करोड़ों रुपए में बिकता है। देश के प्रसिद्ध गायक, संगीतकार इस व्यवसाय से लाखों करोड़ों रुपए कमा लेते हैं।

इसे भी पढ़ें -  युद्ध के लाभ और हानि निबंध Yuddh ke Labh aur Hani

संगीत सीखना एक बेहद कठिन विद्या समझी जाती है। बहुत ही कठिन परिश्रम करने पर गायक सही तरह से गाना गाने में सफल हो पाते हैं।

परंतु एक बार प्रसिद्ध हो जाने पर गायक पूरे देश भर में प्रसिद्ध हो जाते हैं और उनके हजारों लाखों फैन बन जाते हैं। सारेगामा प्राइवेट लिमिटेड, यूनिवर्सल म्यूजिक, टिप्स इंडस्ट्रीज लिमिटेड, सोनी म्यूजिक एंटरटेनमेंट भारत की प्रमुख म्यूजिक कंपनियाँ हैं।

संगीत सुनने के फायदे Advantages of Listening Music

मानसिक शांति देता है, तनाव दूर करता है

जब कभी हम तनाव और थकावट महसूस करते हैं तो धीमी आवाज में संगीत सुनते हैं। ऐसा करने से हमारी थकावट तुरंत ही दूर हो जाती है और तनाव भी खत्म हो जाता है। हम सभी को संगीत सुनकर बहुत ही आनंद महसूस होता है।

रोजगार पैदा करता है

संगीत का व्यवसाय बहुत बड़ा है। यह लाखों करोड़ों रुपए का बाजार है। 2017 की रिपोर्ट के अनुसार भारत का संगीत बाजार 725 करोड़ रुपए का है। बड़े-बड़े म्यूजिक कंपनी गानों को बनाकर बेचती हैं।

आजकल इंटरनेट पर संगीत का बिजनेस और अधिक बढ़ गया है। जो संगीतकार फिल्मों के लिए गाने लिखने और गाने का काम करते हैं वह अच्छा पैसा कमाते हैं। इस तरह संगीत बहुत से लोगों को रोजगार देता है।

पढ़ाई में मदद करता है

पढ़ने वाले विद्यार्थी अक्सर पढ़ाई करते समय धीमी आवाज में संगीत सुनना पसंद करते हैं क्योंकि इससे दिमाग को बहुत सुकून मिलता है और पढ़ने में मन भी लगता है। पढ़ते समय धीमी आवाज में संगीत सुनने से मन इधर-उधर नहीं भटकता है और एकाग्रता बढ़ती है।

भगवान की पूजा के लिए संगीत का इस्तेमाल होता है 

हमारे देश में सभी लोग सुबह पूजा करने के लिए भक्ति से भरे गाने, भजन अपने फोन कंप्यूटर पर बजाते हैं। मंदिरों, बाजारों में तो सुबह शाम भक्ति गाने चलते रहते हैं। इसलिए हमारे जीवन में संगीत का महत्व पूजा करने के लिए बहुत अधिक है।

संगीत का टीचर बन सरकारी नौकरी पा सकते हैं

देश के सभी सरकारी स्कूलों में संगीत के टीचरों की नियुक्ति की जाती है। उन्हें सम्मानजनक वेतन दिया जाता है, इसलिए बहुत से लड़के लड़कियां संगीत में अपना करियर बनाते हैं

शादी विवाह और अन्य शुभ अवसरों पर संगीत जरूरी होता है

हमारे देश में शादियों में गाने बजाने का बहुत ही प्रसिद्ध प्रचलन है। जब दूल्हे की बारात निकलती है तो शादियों के मंगल गीत बजाए जाते हैं। यह बहुत ही रोमांचक और खुशहाली भरा अवसर होता है।

शादी में आये मेहमान, रिश्तेदार, यार दोस्त गानों पर खूब डांस करते हैं। भारत में संगीत के बिना कोई शादी हो ही नहीं सकती है। इसके अलावा बच्चों के जन्मदिन पर, मुंडन और दूसरे ख़ुशी के मौकों पर सभी लोग संगीत सुनना पसंद करते है।  

भगवान को भी है संगीत से प्यार

हिंदू धर्म में कृष्ण भगवान बंसी  बजाना पसंद करते थे। उनके हाथों में सदैव बंसी होती थी। मधुर बंसी की आवाज सुनकर गोपियां श्रीकृष्ण तक खींची चली आती थी।

संगीत सुनने से शरीर स्वस्थ रहता है

शोध में पाया गया है कि जो लोग सुबह व्यायाम करते हुए संगीत सुनते हैं उनको अधिक लाभ मिलता है। इससे बूढ़े होने की प्रक्रिया भी धीमी होती है। पढ़ाई के समय संगीत सुनने से पढ़ा हुआ याद रहता है। स्मरण शक्ति बढ़ती है।

इसके अलावा आजकल बहुत से अस्पताल में मरीजों के लिए संगीत सुनने की व्यवस्था होती हैं। बहुत से अस्पतालों में ऑपरेशन के वक्त धीमी आवाज में संगीत बजाया जाता है। इससे मरीजों को कम दर्द का एहसास होता है।

संगीत सुनने से अच्छी नींद आती है

जो लोग रात को सोने से पहले कुछ देर संगीत सुनना पसंद करते हैं उनका तनाव दूर हो जाता है। डिप्रेशन खत्म हो जाता है और वे अपने जीवन की चिंताओं से मुक्त हो जाते हैं। उनको अच्छी नींद आती है। रात को सोने से पहले शास्त्रीय संगीत सुनना चाहिए।

इसे सुनने से मन का भटकाव और परेशान करने वाले विचार दूर होते हैं। मांसपेशियों को आराम मिलता है। एक अच्छी नींद के लिए रात को सोने से पहले 15 से 20 मिनट संगीत जरूर सुनना चाहिए।  

संगीत दिल के रोगियों के लिए बहुत उपयोगी है

दिल के रोगियों के लिए संगीत सुनना बहुत उपयोगी साबित होता है। संगीत सुनने से हमारा दिमाग तुरंत ही रिलैक्स हो जाता है। स्ट्रोक, हार्ट अटैक की समस्या से जूझ रहे मरीजों को बहुत आराम मिलता है। इसके साथ ही उच्च रक्तचाप, हाई ब्लड प्रेशर संतुलित रहता है। हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को सुबह शाम कुछ मिनट संगीत जरूर सुनना चाहिए।

संगीत हमे नई उर्जा से भर देता है

यह बात 100% सच है। इसे आप लोगो ने भी महसूस किया होगा। संगीत सुनकर हम सभी में एक नई ताजगी और ऊर्जा आ जाती है। फिर हम अपना रोज का काम दोगुने जोश से कर पाते है।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.