भारतीय सेना पर निबंध Essay on Indian Army in Hindi

भारतीय सेना पर निबंध Essay on Indian army in Hindi

भारत की सेना विश्व की सर्वश्रेष्ठ सेना में से है, जिसने मौका पड़ने पर दुश्मन के छक्के छुड़ा दिए हैं। विश्व की 10 बड़ी सेनाओं में भारत की सेना दूसरे स्थान पर है जबकि पहले स्थान पर चीन की सेना है।

भारत की सेना में 14 लाख सिपाही हैं। भारतीय सेना में 3 भाग हैं- वायु सेना, जल सेना और वायु सेना। भारतीय सैनिक अपनी जांबाजी और बहादुरी के लिए जाने जाते हैं। भारतीय सेना की स्थापना 1 अप्रैल 1895 ई० को की गई थी।

वर्तमान में इसमें 1237117 सक्रीय जवान और 960000 रिजर्व जवान कार्यरत है। भारतीय सेनाओं का कमांडर इन चीफ राष्ट्रपति होता है। वर्तमान में भारतीय रक्षा मंत्री “निर्मला सीतारमण” हैं।

पढ़ें : भारतीय सेना दिवस पर निबंध

भारतीय सेना पर निबंध Essay on Indian Army in Hindi

भारतीय सेना द्वारा लड़े गये प्रमुख युद्ध Conflicts and operations performed by Indian Army

प्रथम कश्मीर युद्ध 1947

भारत-पाकिस्तान के विभाजन के बाद तुरंत ही जम्मू कश्मीर के मुद्दे को लेकर भारत और पाकिस्तान में युद्ध शुरू हो गया था। पाकिस्तान की सेनाओं ने 22 अक्टूबर 1947 को जम्मू कश्मीर पर आक्रमण कर दिया था।

इसे भी पढ़ें -  पैसे बचाने के जबरदस्त टिप्स Save Money Tips in India Hindi

भारत पाकिस्तान युद्ध 1965

भारत और पाकिस्तान की सेनाओं के बीच दूसरा युद्ध 1965 में हुआ था। इस युद्ध में भारत विजयी हुआ था। पाकिस्तान के राष्ट्रपति अयूब खान ने ऑपरेशन जिब्राल्टर अगस्त 1965 को लांच किया था जिसमें पाकिस्तान की पैरामिलिट्री ट्रूप्स भारत के अधिकार वाले जम्मू कश्मीर में प्रवेश कर गये और उन्होंने भारत के खिलाफ भावनाओं को भड़काने का काम किया था।

भारत चीन युद्ध 1967

पढ़ें : भारत चीन के बिच युद्ध पर पूरी जानकारी

इस युद्ध में चीन की सेनाओं ने भारत के सिक्किम राज्य में 1 अक्टूबर 1967 को घुसने का प्रयास किया था। 10 अक्टूबर 1967 को दोनों तरफ की सेनाओं के बीच झड़प हुई थी।

इस युद्ध में भारत के 88 जवान मारे गए थे और 163 जवान घायल हुए थे, जबकि चीन के 300 जवान मारे गए थे और 450 जवान घायल हुए थे। हारने के पश्चात चीन की सेना सिक्किम से वापस चली गई थी।

बांग्लादेश लिबरेशन वॉर 1971

इसमें भारत के 3500 सिपाही मारे गए थे और पाकिस्तान के 11000 सिपाही मारे गए थे। पाकिस्तान के 220 टैंक इस युद्ध में नष्ट हो गए थे।

सियाचिन संघर्ष 1984

इस युद्ध में भारत ने अप्रैल 1984 को ऑपरेशन में मेघदूत चलाया था।

कारगिल युद्ध 1999

इस युद्ध में पाकिस्तान को हराने के लिए ऑपरेशन विजय चलाया गया था। इस युद्ध की शुरुआत 3 मई 1999 को हुई थी। पाकिस्तान ने अपने 5000 सैनिकों को लेकर कारगिल की ऊंची पहाड़ियों पर घुसपैठ कर ली थी।

उन सैनिकों को भगाने के लिए ऑपरेशन विजय चलाया गया। यह युद्ध 17 दिनों तक चला। इसमें हजारों बम मोर्टार रॉकेट तोप गोलीबारी का इस्तेमाल किया गया। इसके साथ ही पाकिस्तान के खिलाफ मिग-27 और मिग- 29 का भी इस्तेमाल किया गया था।

भारतीय सेना का मिशन और उद्देश्य Mission and doctrine of Indian Army

भारतीय सेना का प्रथम उद्देश्य देश और उसकी सीमाओं की रक्षा करना है। पर आजकल कुछ अन्य काम भी भारतीय सेनाओं को दे दिए गए हैं, जैसे आंतरिक सुरक्षा, जम्मू कश्मीर और उत्तरी पूर्वी राज्य में शांति बनाए रखना इत्यादि।

इसे भी पढ़ें -  भारतीय वायु सेना दिवस निबंध Essay on Indian Air Force Day in Hindi

देश पर होने वाले किसी भी प्रकार के हमले का तुरंत उत्तर देना इसका मुख्य लक्ष्य है। हमारे देश की सेना इतनी बड़ी है कि यह कई प्रकार के काम कर सकती है।

भारतीय सेना का प्रशिक्षण Training of Indian Army

भारतीय सैनिकों को प्रशिक्षण देने का काम भारतीय सैन्य अकादमी देहरादून (Indian Military Academy, Dehradun), अधिकारी प्रशिक्षण अकादमी, चेन्नई (Officers Training Academy ,Chennai) करता है। इसके अलावा आर्मी वार कॉलेज – मध्य प्रदेश, गुलमर्ग, जम्मू कश्मीर की शाखाओं में भी भारतीय सेना को प्रशिक्षण दिया जाता है।

भारतीय सेना का संगठन Rank Structure in Indian Army

भारत के सशस्त्र सेनाओं में अधिकारियों की नियुक्ति उनकी योग्यता और अनुभव के आधार पर होती है। अधिकारियों को फील्ड मार्शल, जनरल, लेफ्टिनेंट जनरल, मेजर जनरल, ब्रिगेडियर, कर्नल, लेफ्टिनेंट कर्नल, मेजर, कैप्टन, लेफ्टिनेंट की उपाधि दी जाती है।

भारतीय सेना में दिए जाने वाले पुरस्कार और मेडल Medal and Awards of Indian Army

युद्ध के दौरान वीरता का प्रदर्शन करने वाले भारतीय सैनिकों को परमवीर चक्र, महावीर चक्र, वीर चक्र, कीर्ति चक्र, शौर्य चक्र, अशोक चक्र जैसे पुरस्कारों से नवाजा जाता है। इस प्रकार के पुरस्कारों में प्रशस्ति पत्र और मेडल के अलावा नगद धनराशि दी जाती है।

भारतीय सेना के सैन्य हथियार Equipments of Indian Army

भारतीय सेना के द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले अधिकतर हथियार देश में ही स्वदेशी तकनीक से बनाए गए हैं। डीआरडीओ (Defence Research and Development Organisation (DRDO) भारतीय सेना के लिए हथियार बनाने का काम करता है।  यह संस्थान भारत की सेना के लिए राडार, हथियार, अर्जुन टैंक बनाता है।

भारतीय सेना में इंटरकॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल, एंटी टैंक मिसाइल, क्रूज मिसाइल, बंदूकें, रॉकेट, मोर्टार, चेतक, हेलीकॉप्टर, ak-47 एसॉल्ट राइफल, इंसास राइफल, स्नाइपर राइफल, नाग एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल, पृथ्वी मिसाइल, प्रहार मिसाइल, शौर्य मिसाइल, ब्रह्मोस मिसाइल, निर्भय मिसाइल, अग्नि-5, अग्नि 6 मिसाइल जैसे हथियारों की एक विस्तृत श्रृंखला मौजूद है।

इसे भी पढ़ें -  प्लास्टिक का उपयोग बंद करें निबंध Essay on Say No to Plastic in Hindi

भारतीय सेना का खर्च

2019-20 में भारतीय सेना का खर्च 4,31,011 crore (US$ 60.9 Billion) है।

भारतीय सेना के बारे में कुछ रोचक तथ्य  Amazing facts about Indian Army

इंडियन आर्मी के विषय में कुछ ज़बरदस्त तथ्य –

  1. जंगलों में लड़ने के लिए भारत की सेना को विश्व की सेनाओं में श्रेष्ठ माना जाता है। भारत की सेना की विशेषता जानने के लिए ब्रिटेन, रूस, अमेरिका जैसे देश की सेनाये भारत में आकर प्रशिक्षण और जानकारी लेती है।
  2. भारत के राष्ट्रपति की सुरक्षा के लिए भारत की सेना की एक टुकड़ी राष्ट्रपति भवन में ही रहती है जो 24 घंटे राष्ट्रपति की सुरक्षा करती है।
  3. लद्दाख में द्रास और सुरु नदी के बीच स्थित “बेली ब्रिज” (जो दुनिया का सबसे ऊंचा ब्रिज है) का निर्माण भारतीय सेना ने 1982 में किया था।
  4. भारतीय सेना में घुड़सवारों की एक टुकड़ी है। वर्तमान में सिर्फ 3 देशों में घुड़सवार की सेना होती है। भारत उनमें से एक है।
  5. भारतीय सेना सियाचिन ग्लेशियर (जो विश्व का सबसे ऊंचा युद्ध का मैदान है) पर अभ्यास करती है। यह युद्ध का मैदान समुद्र तल से 5000 मीटर ऊपर है। बेहद विषम परिस्थितियों में भारतीय सेना यहां पर युद्ध अभ्यास करती है।
  6. पूरे देश में भारतीय सेना के 53 कैंटोनमेंट और 9 आर्मी बेस हैं।
  7. भारत की सेना दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी सेना है।
  8. भारतीय मिलिट्री इंजीनियरिंग सर्विसेज भारत की सबसे बड़ी हथियार निर्माता कंपनी है।
  9. असम राइफल भारतीय सेना की सबसे पुरानी पैरामिलिट्री फोर्स है। इसकी स्थापना 1835 में की गई थी।
  10. संयुक्त राष्ट्र के शांति अभियान के अनुसार भारत की सेनाओं को विश्व के दूसरे देश में युद्ध करने के लिए भेजा जाता है।

भारतीय सेना की वेबसाइट

https://indianarmy.nic.in/home

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.