प्रतियोगी परीक्षा में सफलता के टिप्स How to Prepare for Competitive Exam in Hindi

प्रतियोगी परीक्षा में सफलता के टिप्स How to Prepare for Competitive Exam in Hindi, कैसे Success पायें Entrance Examination को Short time में, जाने  उपाय?

आजकल हर युवा किसी ना किसी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहा है। प्रतियोगी परीक्षायें पास करने से नौकरियां मिलती हैं। इसलिए इसकी डिमांड बहुत अधिक है। आजकल तो बहुत सी कोचिंग आ गई हैं जो प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करवाती हैं।

पर इन परीक्षाओं को पास करना इतना भी आसान नहीं है। इसके लिए सिलेबस बहुत बड़ा होता है। एक सही रणनीति अपनानी होती है। आज के लेख में हम आपको बताएंगे की प्रतियोगी परीक्षा को पास करने के लिए  बेस्ट टिप्स क्या है।

प्रतियोगी परीक्षा में सफलता के टिप्स How to Prepare for Competitive Exam in Hindi

नियमित पढ़ाई करना जरूरी है Regular Study is Important

यदि आप भी किसी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो आपको नियमित पढ़ाई करनी चाहिए। बहुत से लोग कुछ दिन तो नियमित पढ़ाई करते हैं पर फिर पढ़ाई छोड़ देते हैं, या कम पढ़ाई करते हैं। इस तरह आप सफल नहीं हो पाएंगे।

यदि आप परीक्षा में उत्तीर्ण होना चाहते हैं तो आपको हर दिन का समय निर्धारित कर लेना चाहिए। आपको 2 घंटा पढ़ना है या 4 घंटे। बहुत से स्टूडेंट 6 से 8 घंटे प्रतिदिन पढ़ाई करते हैं। ये आप पर निर्भर करता है। नियमित पढ़ाई करके ही आप सफल होंगे।

इसे भी पढ़ें -  मोटापा पर भाषण Speech on Obesity in Hindi

रिवीजन करते रहे Revise your Syllabus

रिवीजन के अंतर्गत पूर्व में पढ़े हुए पाठों को दोहराया जाता है जिससे छात्र-छात्राएं उस पाठ को भूल न जाएं। रिवीजन करना बहुत जरूरी होता है क्योंकि कई पाठ बहुत कठिन होते हैं। आसानी से याद नहीं होते।

जो छात्र लगातार रिवीजन करते रहते हैं उनको पाठ अच्छी तरह से याद हो जाता है। आप समय सारणी बना सकते हैं जैसे हफ्ते में 5 दिन आपको नए पाठ पढ़ने हैं परंतु शनिवार और रविवार को आपको इन पाठों का रिवीसन करना है।

पिछले 10 साल के प्रश्न पत्रों को अवश्य सॉल्व कर ले Always Solve 10-11 Years old Question papers

यह काम बहुत आवश्यक है। जिस परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं उसके पिछले 10 वर्षों के प्रश्न पत्र आप अवश्य सॉल्व कर लीजिए। इससे आपको पता चलेगा कि प्रश्नों का पैटर्न कैसा होता है, किस विषय से कितने प्रश्न आएंगे। यह सारी जानकारी आपको मिल जाएगी।

सिलेबस के अनुसार पढ़ें Read accoding to Syllabus

किसी भी प्रतियोगी परीक्षा जैसे इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट, नीट, आइएएस, पीसीएस, टीचर, बैंकिंग या किसी भी अन्य परीक्षा की तैयारी करते वक्त सिलेबस के अनुसार ही पढ़ना चाहिए। आपको सिलेबस किसी दीवार पर चिपका लेना चाहिए जिससे आपको स्पष्ट रूप से पता रहेगा किस सब्जेक्ट से कौन सा पाठ पढ़ना है।

दिनचर्या (टाइम टेबल) बना कर पढ़ें Make a proper Time Table

आपको यह निश्चित कर लेना चाहिए कि किस विषय को प्रतिदिन कितने घंटे पढ़ना है। यदि विषय अधिक है हफ्ते के 7 दिनों में उन्हें विभाजित कर दें और उसके अनुसार पढ़ाई करें। हर हालत में आप दिनचर्या का पालन करें। जो लोग इसका पालन करते हैं वही सफल होते हैं। यदि आप बीमार है या कोई आवश्यक काम पर जाता है तो दिनचर्या को छोड़ा जा सकता है।

विषय वस्तु को रटे नहीं, समझ कर पढ़ें Understand the Subject matter

आजकल बहुत से छात्र विषय वस्तु को समझना ही नहीं चाहते हैं क्योंकि उसमें काफी दिमाग खर्च होता है। वह शॉर्टकट अपनाकर सिर्फ उत्तर रट लेते हैं। दोस्तों यह ट्रिक बहुत लंबे समय तक काम नहीं आएगी।

इसे भी पढ़ें -  भारतीय शिक्षा प्रणाली पर भाषण Speech on Indian Education System in Hindi

शार्ट टर्म में यह ट्रिक काम आ सकती है परंतु लॉन्ग टर्म में काम नहीं आएगी। आप कोशिश करें की विषय वस्तु को समझ कर पढ़ें जिससे प्रश्न किसी भी रूप में आ जाए तो आप उसे हल कर सके।

अच्छे दोस्त बनाये Make good friends

किसी भी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी के लिए यह बहुत आवश्यक है कि आपके दोस्त भी अच्छे हो। यदि आपके दोस्त पढ़ने वाले और विचार-विमर्श करने वाले होंगे तो उनकी संगत का अच्छा प्रभाव आप पर पड़ेगा। बहुत से स्टूडेंट आपस में ग्रुप बना लेते हैं।

वह दिन भर जो पढ़ते हैं शाम को आपस में ग्रुप डिस्कशन करते हैं। इस तरह की पढ़ाई बहुत ही अच्छी मानी जाती है। ग्रुप डिस्कशन से बहुत फायदे मिलते हैं। किसी प्रश्न में यदि शंका है तो आप ग्रुप में डिस्कस कर सकते हैं।

कुछ अन्य आवश्यक बातें Other Important points to Crack any Competitve or Entrance Examination

  • जिस क्षेत्र में आप कमजोर हैं उसको अधिक समय दें। उदाहरण के तौर पर यदि आप गणित (मैथ्स) में कमजोर है तो उसे अधिक देर तक पढ़ना चाहिए। इससे आपको काफी लाभ होगा।
  • दूसरी आवश्यक बात यह है कि आपको कैरियर का चुनाव अपनी रूचि के अनुसार करना चाहिए। यदि आपको इंजीनियरिंग में दिलचस्पी है तो आप इंजीनियरिंग का चयन करें। यदि आपको बैंकिंग सेक्टर आकर्षक लगता है तो आप बैंकिंग का चुनाव करें। इस तरह हमेशा वही फील्ड चुननी चाहिए जिसमें आपकी रुचि हो।
  • किसी भी परीक्षा की तैयारी आपको पूरी निष्ठा, ईमानदारी और समर्पित होकर करनी चाहिए। जब आप स्वयं अपना 100% देंगे तभी आप सफलता पाएंगे। आजकल किसी भी प्रतियोगी परीक्षा में लाखों छात्र-छात्राएं भाग लेते हैं। इसलिए कंपटीशन दिन प्रतिदिन कठिन होता जा रहा है। ऐसे में सफलता ऐसे छात्र छात्रा को मिलेगी जो पूरी निष्ठा और समर्पण से तैयारी करते हैं।
  • नकारात्मक विचारों से बचना चाहिए। उदाहरण के लिए बहुत से छात्र-छात्राएं प्रतियोगी परीक्षा में असफल हो जाते हैं। इस तरह की बातें सुनकर कोई भी छात्र निराश हो सकता है। आपको स्वयं के ऊपर विश्वास रखना होगा। अपना आत्मविश्वास आपको बनाए रखना होगा।
  • प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए सही पुस्तकों का चयन करना बहुत आवश्यक है। यदि आपको नहीं पता है कि किस पुस्तक से पढ़ाई करनी है तो आप दूसरे मित्रों, रिश्तेदारों से सलाह ले सकते हैं। इसके अलावा इंटरनेट से भी सही पुस्तकों की जानकारी प्राप्त की जा सकती है। आजकल यूट्यूब पर भी हर विषय पढ़ाए जाते हैं। वहां से भी आपको अच्छी जानकारी मिल जाएगी। इसके अलावा कोचिंग के द्वारा भी आपको सही पुस्तकों की जानकारी मिल जायेगी।
  • तनाव से बचने के लिए योगा, व्यायाम, खेलकूद और दूसरे मनोरंजन का सहारा ले सकते हैं। कभी-कभार फिल्म देखने भी जा सकते हैं।
  • प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए आपको हर दिन दैनिक अखबार पढ़ना चाहिए। आप हिंदी या इंग्लिश किसी भी भाषा में अखबार पढ़ सकते हैं। रोजमर्रा की बहुत सी घटनाएं GK और करंट अफेयर्स के रूप में पूछी जाती हैं। इसलिए आपको पता होना चाहिए कि देश दुनिया में क्या चल रहा है। सामान्य ज्ञान और करंट अफेयर्स की आपको जानकारी होनी चाहिए।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.