लेखन में करियर Career as a Writer In Hindi

लेखन में करियर Career as a Writer in Hindi

दोस्तों आज के समय में एक लेखक के रूप में करियर बनाना काफी ज्यादा आसान हो गया है| गूगल, यूट्यूब, ब्लॉग और अन्य सोशल मीडिया के आने के बाद से किसी भी भाषा के लेखक के रूप में करियर बनाना काफी ज्यादा आसान और सुलभ हो चुका है|

लेकिन इस आसानी के कारण लेखन के क्षेत्र में लोगों की संख्या काफी ज्यादा बढ़ी है और लेखन का स्तर भी काफी ज्यादा खराब हुआ है| एक लेखक बनना जहां काफी ज्यादा आसान है तो वहीं एक लेखक के रूप में खुद को स्थापित करना काफी ज्यादा मुश्किल है| इस आर्टिकल में आप यह पढ़ेंगे कि एक लेखक के रूप में कैसे करियर बनाया जा सकता है| 

लेखन में करियर – Career as a Writer In Hindi

लेखकों के प्रकार Types of Writer

एक लेखक की आवश्यकता लगभग हर कार्यालय में रहती है| अलग अलग कार्यालय के लेखकों के अनुसार, लेखकों को निम्न आधार पर वर्गीकृत किया जाता है| अलग अलग कार्य वाले लेखकों की आय भी अलग अलग होती है| 

  • तकनीकी लेखक Technical Writer :- इस प्रकार के लेखक तकनीक के विषय में लिखते हैं| इसमें तकनीक से जुड़े अनेकों प्रकार के उपकरणों और अन्य साधनों को कैसे प्रयोग किया जाए और उनके बारे में लिखा जाता है| इस प्रकार के लेखक इंजीनियरिंग और मैन्यूफैक्चरिंग से जुड़े होते हैं| अगर आप ऐसा लेखक बनते हैं तब आपकी सालाना आय औसतन 6-7 लाख रुपये हो सकती है| आज के वक़्त में जब दुनिया तकनीक के मामले में करीब आगे बढ़ चुकी है और सब कुछ मशीनों पर आधारित है, ऐसे में तकनीकी लेखकों की आवश्यकता काफी ज्यादा बढ़ चुकी है|
  • गैर सरकारी लेखक :- इस प्रकार के लेखक विभिन्न सामाजिक मुद्दों पर अपनी राय रखने के लिए लिखते हैं एवं इस प्रकार के लेखक अक्सर गैर सरकारी संगठनों से जुड़े होते हैं| गौरतलब है कि ऐसे लेखक अलग अलग संस्थाओं से जुड़े होते हैं और वे उनके लिए पैरवी के दस्तावेज और अन्य दस्तावेज लिखते हैं| ऐसे लेखकों की औसत सालाना आय 4-5 लाख रुपये होती है| 
  • वैज्ञानिक लेखक Science Writer :- अगर आप विज्ञान से जुड़े हुए हैं और आपकी विज्ञान में विशेष रुचि है तब आप इस प्रकार के लेखक बन सकते हैं| गौरतलब है कि ऐसे लेखक विज्ञान से जुड़े अलग अलग पहलुओं पर लिखते हैं एवं उनका उद्देशय विज्ञान को लोगों तक पहुंचाना होता है| ऐसे लेखक बहुतायत विज्ञान लैब में ही कार्यरत होते हैं| अगर आप ऐसे लेखक बनते हैं तब आपकी सालाना औसत आय 8-9 लाख रुपये हो सकती है| 
  • स्क्रिप्ट लेखक Screen writer :- अगर आपकी कल्पना में अच्छी समझ है और आप काल्पनिक कहानियाँ लिख लेते हैं, तब आप स्क्रिप्ट लेखक बन सकते हैं| गौरतलब है कि इस प्रकार के लेखकों की आज के वक़्त में भारी डिमांड है| ऐसा लेखक बनने के बाद अगर आप टीवी से जुड़ जाते हैं तब आपकी आय करोड़ों में भी हो सकती है| औसतन ऐसे लेखक कुल 10-12 लाख रुपये सालाना कमाते हैं| 
  • कॉपीराइटर Copywriter :- इस प्रकार के लेखकों की जरूरत लगभग हर कार्यालय में होती है| यदि आप आकर्षक लेख लिखकर लोगों को अपने लेख की ओर आकर्षित कर सकते हैं तब आप ऐसे लेखक बन सकते हैं| इस प्रकार के लेखकों से अक्सर ऐसा कंटेंट लिखवाया जाता है जो कि कार्यरत संस्थान का प्रचार करे और संस्थान द्वारा बेची जा रही वस्तु के बारे मे लोगों को बता सके|
इसे भी पढ़ें -  एक आकर्षक रिज्यूम कैसे बनाएं? How to make an attractive Resume in Hindi?

लेखक बनने के लिए क्या पढ़ें?What to read to become a writer?

एक लेखक बनने के लिए भाषा पर अच्छी पकड़ होना काफी ज्यादा आवश्यक है| यदि आप हिन्दी के लेखक हैं तो आपको हिंदी की बारीकियां पता होनी चाहिए| लेखक बनने के लिए डिप्लोमा से लेकर डिग्री तक किया जा सकता है|

लेखन से जुड़े अलग कोर्स चुनते समय आपको यह ज्ञात होना चाहिए कि आप लेखन में क्या करना चाहते हैं या आप कितने कुशल हैं| लेखक बनने के लिए निम्न पढ़ाई की जा सकती है :- 

  1. डिप्लोमा :- लेखन में डिप्लोमा बारहवीं कक्षा के बाद लिया जा सकता है| अगर आपको लगता है कि आप लेखन पर ज्यादा समय देने से पहले लेखन के बारे में जानकार यह देखना चाहेंगे कि आप लिख सकते हैं या नहीं, या लेखन आपके लिए है या नहीं तो आप डिप्लोमा कर सकते हैं| ऐसा करने से आप को यह पता चल जाएगा कि लेखन क्षेत्र में आप कार्य कर सकते हैं या नहीं| 
  2. बैचलर डिग्री :- लेखन में आगे बढ़ने के लिए बैचलर डिग्री की जा सकती है| इसके लिए आपको अपनी विशेष भाषा के साहित्य में बैचलर करना होगा| जैसे यदि आप हिन्दी में लिखते हैं तो बैचलर इन हिन्दी लिटरेचर, और अंग्रेजी में लिखते हैं तो बैचलर इन इंग्लिश लिटरेचर| बैचलर डिग्री तभी लें जब आप लेखन को लेकर पक्का मन बना चुकें हों| बैचलर करने के लिए बारहवीं कक्षा में ली गई स्ट्रीम मायने नहीं रखेगी| 
  3. मास्टर डिग्री :- यदि आप बैचलर डिग्री कर चुके हैं और लेखन की ओर बढ़ना चाहते हैं तो मास्टर कर सकते हैं| मास्टर करने से पहले आप की बैचलर डिग्री पूरी होनी चाहिए और जिस विषय में आप मास्टर करना चाहते हैं, वह बैचलर का एक हिस्सा जरूर होना चाहिए| 

कितना कमाया जा सकता है? Earnings as a Writer

एक लेखक के रूप में आपकी कार्य कुशलता और आपका लेखन क्षेत्र, आपकी आय निर्धारित करता है| आप कहां और किसके लिए लिख रहे हैं यह भी एक लेखक के तौर पर मायने रखता है|

इसे भी पढ़ें -  सही कैरियर का चुनाव कैसे करें? Right Career Guidance in Hindi

यदि आप एक बहुराष्ट्रीय कम्पनी के लिए लिखते हैं तब आपकी आय करोड़ों में भी हो सकती है और यदि आप एक दैनिक अखबार के लिए लिखते हैं तब आपको मासिक सैलरी 20-30 हजार रुपये मिलेगी|

किसी भी लेखक की औसत सालाना आय 4-5 लाख रुपये होती है| 

कहाँ पढ़ा जा सकता है? Where to study?

एक लेखक बनने के लिए आपको ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन जैसे कोर्स करने होते हैं| ऐसे कोर्स आप अपने पास की किसी भी यूनिवर्सिटी से कर सकते हैं| भारत की दस मुख्य यूनिवर्सिटी निम्न हैं :- 

  • दिल्ली यूनिवर्सिटी 
  • बनारस हिंदू विश्वविद्यालय 
  • छत्रपति साहू जी महाराज यूनिवर्सिटी 
  • लखनऊ यूनिवर्सिटी 
  • राजस्थान यूनिवसिर्टी 
  • इलाहाबाद यूनिवर्सिटी 
  • पटना यूनिवर्सिटी 
  • कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी 
  • चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी 
  • यूनिवर्सिटी ऑफ गोरखपुर 
  • पंडित रविशंकर शुक्ला यूनिवर्सिटी 

एक स्वतंत्र लेखक कैसे बने? How to become an Independent writer?

आज के समय में जब तकनीक काफी ज्यादा आगे बढ़ चुकी है तब आप बिना डिग्री या डिप्लोमा के ही एक लेखक के रूप में खुद को स्थापित कर सकते हैं| हालांकि यह काफी ज्यादा मुश्किल होगा और इसमें आपकी आय न तो निश्चित होगी न निर्धारित| एक स्वतंत्र लेखक बनने के लिए निम्न स्टेप फॉलो करें :- 

  1. सबसे पहले वह लेखन क्षेत्र पहचाने जिसमें आप सर्वाधिक कुशल हैं| जैसे :- मनोरंजन, तकनीक, फैक्ट इत्यादि| 
  2. उसके बाद खुद की पत्रिका शुरू करें या खुद का ही एक ब्लॉग बना लें| 
  3. ब्लॉग पर अपने लेख प्रकाशित करें|
  4. लेखों की संख्या अधिकतम हो जाने पर सोशल मीडिया पर ब्लॉग का प्रचार करें| 

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.