पर्यटन का फायदा और नुकसान Advantages and Disadvantages of Tourism in Hindi

इस लेख में हिंदी में पर्यटन का फायदा और नुकसान (Advantages and Disadvantages of Tourism in Hindi) के विषय में जानकारी दी गई है। इसमें पर्यटन का महत्त्व, भारत के प्रमुख पर्यटन स्थल और पर्यटन के कुछ लाभ और हानि के बारे में विस्तार से बताया गया है।

पर्यटन का महत्त्व Importance of Tourism in Hindi

पर्यटन कितना महत्वपूर्ण है, इसका अंदाजा हम प्राचीन भारतीय ग्रंथों से लगा सकते हैं। बड़े-बड़े ऋषि मुनियों और विद्वानों ने पर्यटन को जीवन का सबसे महत्वपूर्ण भाग बताया है। 

बिना विश्व दर्शन किए ज्ञान कभी पूर्ण नहीं हो सकता है। भारतीय साहित्य ग्रंथों जैसे, पंचतंत्र में पर्यटन के महत्व का साफ उल्लेख किया गया है।

जिस प्रकार पुस्तकों के स्वाध्याय से ज्ञान की प्राप्ति होती है, उसी तरह पर्यटन ज्ञान प्राप्ति का सबसे सर्वश्रेष्ठ मार्ग होता है। विभिन्नता एक ऐसा शब्द है, जो इस पूरी दुनिया में सामान्य है। 

विभिन्न भाषाएं, संस्कृतियों, लोक साहित्य, इतिहास, स्थल, घटनाएं इत्यादि के विषय में जानने का सबसे अच्छा मार्ग पर्यटन है।

पर्यटन किसी भी देश की रीढ़ की हड्डी होती है, जो अर्थव्यवस्था को जीवित रखने में बहुत बड़ा योगदान देती है। इसके अलावा करोड़ों लोगों को जीवन यापन करने के लिए रोजगार का साधन भी मुहैया कराती है।

जब पूरे दुनिया में कोरोना महामारी फैली हुई थी, तब लगभग सभी पर्यटन स्थलों को पूर्ण रूप से बंद कर दिया गया था। यदि इसके कारण होने वाले कुल नुकसान की गणना की जाए, तो पर्यटन बंद पड़ जाने के कारण करोड़ों का नुकसान सारे देश को सहना पड़ा था। 

दुनिया में ऐसे कई देश हैं, जिनकी अर्थव्यवस्था मुख्य रूप से पर्यटन पर ही आश्रित है। यदि कुछ दिनों के लिए भी पर्यटन स्थलों को बंद कर दिया जाए, तो ऐसे देशों में आर्थिक आपातकाल जैसी विकट स्थिति की संभावना उत्पन्न हो सकती है।

भारत के प्रमुख पर्यटन स्थल Top Tourist Places in India

हमारा देश यूं तो नए विभिन्नताओं से भरा पड़ा है, जहां देखने योग्य अनगिनत सुंदर और ऐतिहासिक स्थल मौजूद है। आइए भारत के कुछ प्रमुख पर्यटन स्थलों के बारे में जानते हैं-

उत्तर तथा पश्चिम भारत के प्रमुख पर्यटन स्थल-

औली (उत्तराखंड), शिमला (हिमाचल प्रदेश), डलहौजी (हिमाचल प्रदेश), मथुरा और वृंदावन, लेह लद्दाख (जम्मू और कश्मीर), स्पीति (हिमाचल प्रदेश), नई दिल्ली, आगरा (उत्तर प्रदेश), कुल्लू और मनाली (हिमाचल प्रदेश), हरिद्वार और ऋषिकेश (उत्तराखंड), श्रीनगर (जम्मू और कश्मीर), अमृतसर (पंजाब), चंडीगढ़ (पंजाब), मसूरी (उत्तराखंड), पुष्कर, जयपुर, जैसलमेर, जोधपुर (राजस्थान), कच्छ (गुजरात), मुंबई (महाराष्ट्र), अजमेर इत्यादि।

दक्षिण भारत के प्रमुख पर्यटन स्थल-

मैसूर (कर्नाटक), कुर्ग (कर्नाटक), मुन्नार (केरल), ऊटी (तमिलनाडु), कुन्नूर (तमिलनाडु), कोडाइकनाल (तमिलनाडु), विथिरी (केरल), कुद्रेमुख (कर्नाटक), नंदी हिल्स (कर्नाटक), इडुक्की (केरल) इत्यादि।

पूर्वी भारत के प्रमुख पर्यटन स्थल- 

अंडमान निकोबार द्वीप समूह, चेरापूंजी (मेघालय), दार्जिलिंग, जमशेदपुर, कटक, भुवनेश्वर, कोलकाता, रांची, गंगटोक, रवंगला, पेलिंग (सिक्किम) बोमडिला (अरुणाचल प्रदेश), शिलांग इत्यादि।

पर्यटन का फायदा Advantages of Tourism in Hindi

रोज़गार का केन्द्र

रोजगार को उत्पन्न करने में पर्यटन के विशेष मायने हैं। देश विदेश में भ्रमण करने वाले पर्यटकों के कारण लाखों रोजगार के माध्यम विकसित होते हैं। पर्यटन के कारण करोड़ों लोगों को जीवन यापन करने में मदद मिलती है।

अर्थव्यवस्था 

देश की अर्थव्यवस्था में पर्यटन का बहुत बड़ा योगदान होता है। यदि पर्यटन को अर्थव्यवस्था से अलग कर दिया जाए, तो देश की कुल अर्थव्यवस्था भी ज्यादा विकास नहीं कर पाएगी। पर्यटन में प्रगति होने पर अर्थव्यवस्था में भी नए सकारात्मक बदलाव आते हैं।

मनोरंजन का सर्वश्रेष्ठ मार्ग

यात्रा करने से न केवल लोग चिंता मुक्त होते हैं, बल्कि साथ ही उनका मनोरंजन भी हो जाता है। नई जगह, नए लोग और नए वातावरण से अच्छा मनोरंजन और दूसरा कुछ नहीं हो सकता है।

अंतरराष्ट्रीय संबंधों को बढ़ावा

जब एक देश के नागरिक दूसरे देशों में पर्यटन स्थलों की यात्रा करने जाते हैं, तो इससे न केवल व्यक्तित्व स्तर पर बल्कि उन देशों के बीच अथवा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर संबंधों में सकारात्मक वृद्धि देखी जाती है। इस प्रकार राष्ट्रों में भी मित्रता की भावना विकसित होती है।

विविधताओं की जानकारी 

यह दुनिया अनगिनत जानकारियों से भरी पड़ी है। दुनिया के विस्तृत विविधताओं की जानकारी लेने के लिए पर्यटन अनिवार्य होता है। यह किसी भी चीज के विषय में जानने या सीखने के लिए सबसे प्रैक्टिकल मार्ग होता है।  

राष्ट्रीय विकास को बढ़ावा

पर्यटन विभाग के द्वारा जितना योगदान देश की अर्थव्यवस्था में सम्मिलित किया जाएगा, उससे कुल मिलाकर राष्ट्र का ही विकास होता है। पर्यटकों के आवागमन से विकास के कई नए अवसर खड़े होते हैं, जिससे राष्ट्रीय विकास को बढ़ावा मिलता है।

एकता को बढ़ावा

जाहिर सी बात है कि जब देश विदेश से लोग नए पर्यटन स्थलों पर जाते हैं और वहां का रुख करते हैं, तो स्थानीय लोगों और पर्यटकों के बीच एकता की भावना अन्दर से प्रकट होती है। परिणामस्वरूप  यह अंतराष्ट्रीय एकता को भी बढ़ावा देता है।

स्वच्छता को प्रोत्साहन

देश के किसी भी स्थल पर जब पर्यटक भ्रमण करने आते हैं, तो केंद्र सरकार भी उन स्थान और उसके आसपास के क्षेत्रों का विकास करने में एड़ी चोटी का जोर लगा देती है। पर्यटकों के समक्ष एक अच्छा उदाहरण पेश करने के लिए ही सही, लेकिन पर्यटन से स्वच्छता को प्रोत्साहन अवश्य मिलता है।

पर्यटन का नुकसान Disadvantages of Tourism in Hindi

पर्यावरणीय क्षति

कई बार पर्यटक इतने बेफिक्र हो जाते हैं, कि उन्हें पर्यावरण का भान ही नहीं रहता और वे स्वच्छता का ख्याल भूल जाते हैं। इसके अलावा जितने पर्यटक विभिन्न देशों से यात्रा करके पर्यटन स्थल तक पहुंचते हैं, यातायात के साधनों के कारण भी पर्यावरण को भारी क्षति पहुंचती है।

पर्यटकों का व्यवहार

विदेशी पर्यटकों के मामले में अक्सर यह देखा जाता है, कि वे स्थानीय लोगों के साथ जाने अनजाने में दुर्व्यवहार करते हैं। अपने आप को ऊंचा दिखाने के लिए कई बार यह पर्यटक अभद्रता पर भी उतर जाते हैं, जो पर्यटन का एक नकारात्मक पहलू माना जा सकता है।

स्थानीय संस्कृति पर प्रभाव

पर्यटन के कारण उत्पन्न होने वाली एक बड़ी समस्या यह भी है कि इससे संस्कृतियों के बीच टकराव भी देखा जाता है। 

कई बार बाहर से आए हुए पर्यटकों के लिए स्थानीय संस्कृति को लेकर सम्मानजनक भावना नहीं रहती, जिसके कारण स्थानीय रीति रिवाज और परंपराओं का सम्मान न करने के कारण दो संस्कृतियों के बीच मतभेद उत्पन्न हो जाता है।

मौसमी नौकरियां

पर्यटन के कारण भले ही देश में नए नए रोजगार के अवसर प्रकट होते हैं, लेकिन यह कहना गलत नहीं होगा कि अधिकतर रोजगार मौसमी होते हैं। 

अर्थात यह पर्यटकों के ऊपर निर्भर होता है, कि रोजगार सफल होगा या विफल। ऐसे में कोई गारंटी नहीं रहती की लोगों से कब उनकी आजीविका चलाने का साधन छीन जाए।

छोटे व्यवसायों के लिए चुनौती

पर्यटन के क्षेत्र में व्यवसाय करने वाले छोटे-मोटे व्यापारियों के लिए सबसे बड़ी चुनौती अपने व्यवसाय क्षेत्र में बड़े कारोबारियों की प्रतिस्पर्धा में लंबे समय तक टिके रहना होता है। 

कुछ परिस्थितियों में छोटे व्यवसाय ऐसे स्पर्धा वाले क्षेत्रों में आ तो जाते हैं, लेकिन लंबे समय तक टिक पाना उनके लिए एक बडी चुनौती होती है।

इंफ्रास्ट्रक्चर और कनेक्टिविटी का अभाव 

देश में पर्यटन का विस्तार बड़े स्तर पर किया जा सकता है, बशर्ते वहां इंफ्रास्ट्रक्चर तथा कनेक्टिविटी दुरुस्त हो। इसके अभाव में इतना विकास और लाभ नहीं मिल पाता है, जितना की होना चाहिए। 

आज भी ऐसे कई खूबसूरत पर्यटन स्थल हैं, लेकीन अधिकार न तो वहां ढंग का इंफ्रास्ट्रक्चर मौजूद होता है और न ही अन्य आवश्यक सुविधाएं।

विदेशी व्यवसाय के स्वामी

यह एक बड़ी समस्या है कि पर्यटन स्थलों पर बेची जाने वाली वस्तुएं विदेशी व्यापारियों के प्रभुत्व में होती हैं। इसके कारण स्थानीय व्यापारियों को इतना मुनाफा नहीं मिल पाता और उनकी चीजें भी पर्यटकों द्वारा बहुत कम स्तर पर खरीदी जाते हैं। 

इसके अलावा लोगों में भी भारतीय प्रोडक्ट्स के लिए इतना विश्वास नही रहता, जितना की कोई अन्य प्रख्यात विदेशी वस्तुओं के लिए होता है।

अन्य क्षेत्रों की उपेक्षा

केवल पर्यटन क्षेत्र में निर्भर होने के कारण अन्य महत्वपूर्ण क्षेत्रों के विकास को अनदेखा किया जा रहा है। माना की अर्थव्यवस्था में पर्यटन बहुत बड़ा सहयोगी है, लेकिन इसके अलावा भी कई क्षेत्र हैं जो बढ़-चढ़कर अर्थव्यवस्था में योगदान देते हैं। 

उदाहरण स्वरूप किसी वैश्विक महामारी, युद्ध या प्राकृतिक आपदाओं के कारण बड़ी शीघ्रता से पर्यटन क्षेत्र का विनाश होता है।  यदि अन्य क्षेत्रों की उपेक्षा की जाती है, तो इससे अर्थव्यवस्था की नीव बुरी तरह से हील सकती है।

पर्यटन के दौरान लूट पाट का डर

पर्यटन से जुड़ी दूसरी समस्या यह भी है कि पर्यटकों को हर समय अपने वस्तुओं की सुरक्षा की चिंता सताती रहती है। जरूरी और कीमती सामानों के साथ यात्रा करने के दौरान पर्यटकों के साथ लूटमार या चोरी होने का बहुत ज्यादा डर रहता है।

कौशल का अभाव

यह तो सच बात है की पर्यटन अधिकतर मौसमी रोजगार प्रदान करता है। कई बार छोटे स्तर के व्यापारियों में कौशल की कमी के कारण उन्हें अपने व्यवसाय में घाटा सहना पड़ता है। अनस्किल्ड लेबर के कारण प्रगति नहीं हो पाती है।

निष्कर्ष Conclusion

इस लेख में आपने पर्यटन का फायदा और नुकसान (Advantages and Disadvantages of Tourism in Hindi) के बारे में पढ़ा। आशा है यह लेख आपको जानकारी से भरपूर लगा होगा। अगर यह लेख आपको अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें।

2 thoughts on “पर्यटन का फायदा और नुकसान Advantages and Disadvantages of Tourism in Hindi”

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.