भारतीय सैनिक पर निबंध Essay on an Indian Soldier in Hindi

इस लेख में एक भारतीय सैनिक पर निबंध (Essay on an Indian Soldier in Hindi) सरल शब्दों में दिया गया है। अगर आप एक भारतीय सैनिक जानकारी खोज रहे हैं तो यह लेख आपकी सहायता कर सकता है।

सैनिक पर निबंध कक्षा 5 से 12 तक विभिन्न रूपों से परीक्षाओं में पूछा जाता है। दिया गया निबंध से सभी विद्यार्थी अपनी जरूरत के अनुसार से प्रयोग कर सकता है।

भारतीय सैनिक पर निबंध Essay on an Indian Soldier in Hindi

ऐसा कोई भी नहीं होगा जो सैनिकों के बारें में न जानता हो। सैनिकों के बारे में हम सभी जानते है सैनिक हमारे देश का वह नागरिक होता है, जो देश को ही अपना घर परिवार समझता है और अपने घर परिवार की रक्षा सीमा पर डटे रहकर हर परिस्थिति में करता है। सभी सेनाओं के सैनिकों को देश प्रेम, देशभक्ति और त्याग का पाठ पढ़ाया जाता है।

सैनिक ही एक ऐसा वीर योद्धा होता है, जो दिन-रात सीमा पर डटे रहते हैं और दुश्मनों को हमारी देश की सीमा के अंदर आने नहीं देते, चाहे इसके लिए उन्हें अपने प्राण ही क्यों ना त्यागने पड़ें। सैनिक ही कुशल योद्धा होतें है, जो भूख-प्यास, सर्दी-गर्मी तथा कई प्राकृतिक आपदाओं को झेलते हुए, अपने देश और राष्ट्र के प्रति सच्ची प्रेम भावना के साथ एक देश भक्त की तरह अपने देश को दुश्मनों से बचाते हैं।

सैनिक त्याग और प्रेम का प्रतीक होता है जो अपने घर परिवार, अपनी पत्नी  तथा बच्चों को छोड़कर सीमा पर देश की रक्षा के लिए हर परिस्थिति में तैयार रहता है।

भारतीय सैनिकों का महत्व Importance of Indian Soldier in Hindi

भारत हो या कोई अन्य देश सभी अपने देशवासियों की सुरक्षा के लिए सैनिकों की नियुक्ति करतें है और सैनिक ही देशवासियों की प्राणों की रक्षा के साथ-साथ देश और देशवासियों के संपत्ति की भी रक्षा करते हैं।

हमारे देश भारत के पास दुनियाँ की चौथी सबसे विशाल सेना जिन्हें तीन मुख्य भागों में बाटा गया है। जिनमें भारतीय नौसेना (Indian Navy), भारतीय थल सेना (Indian Army) और भारतीय वायु सेना (Indian Air Force) हैं।

एक सैनिक ही वह महान व्यक्ति होता है, जो देश की सुरक्षा शांति में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। किसी भी देश के लिए सैनिकों का बड़ा महत्व है। हमारे देश में कई प्रकार की सेनाओं के संगठन है और सभी सेनाओं के संगठनों के सैनिकों में देश-भक्ति देश के प्रति प्रेम और देश के प्रति त्याग की भावना कूट-कूट कर भरी होती है।

इसी कारण से भारतीय सैनिक तन मन से देश की सीमा पर चौकसी के साथ-साथ देश की सीमाओं के अंदर देश की संपत्ति और देश के नागरिकों को सुरक्षा प्रदान करते है। हमारे भारतीय सैनिक अपने कर्तव्य को भली-भांति जानते हैं। इसलिए वह किसी भी प्रकार के खतरे से ना डरते हुये हमारे देश, देशवासियों और देश की संपत्ति की रक्षा करते हैं, चाहे इसके लिए उन्हें अपने प्राण ही क्यों न त्यागने पड़ जाए।

सैनिक हमारे देश के संस्थान और सरकारी स्थानों आदि की भी रक्षा करते हैं, इसीलिए सैनिकों के अभाव में हम सुरक्षा की कामना भी नहीं कर सकते। हमारी सेना और हमारे सैनिक इतने जांबाज और बहादुर होते हैं, कि अकेले ही दस-दस सैनिकों का मुकाबला कर सकते हैं और किसी भी परिस्थिति में आतंकवादी, देश के दुश्मनों को मुहतोड़ जबाब दे सकते है, इसलिए भारत देश के सैनिकों को अन्य देश के सैनिक भी सम्मान करते है। 

भारतीय सैनिकों का जीवन Life of an Indian Soldier in Hindi

अपने परिवार का पालन पोषण करने के लिए कई व्यक्ति अलग-अलग प्रकार का पेशा अपनाते हैं। उन्हीं पेशों में से एक पेशा सैनिक का भी होता है। सैनिक एक व्यक्ति ही होता है,जो अपने देश का ही नागरिक होता है, और अपने जीवन में इतने अनुशासन में होता है, कि आम लोग उन्हें रोबोट भी कहते हैं। 

लेकिन वे अपने परिवार और देश की रक्षा के खातिर ना जाने कैसे-कैसे दुखों को सहते हुए हमारे देश की और राष्ट्रीय संपत्ति की जी जान से रक्षा करते हैं, भारतीय सैनिक का जीवन अत्यंत कठिन होता है।

वह अनुशासित होते हैं, और हर एक काम पूरी निष्ठा और पूरी शक्ति के साथ करते हैं। सैनिक ही वह व्यक्ति होता है, जो विपरीत और विषम परिस्थितियों में भी पूरे होशो हवास के साथ हमारे जीवन की रक्षा करता हैं। धूप-छांव खाना-पीना आदि की भी चिंता उन्हें नहीं सताती और देश-प्रेम तथा देशभक्ति की भावना के कारण वह सारे दुखों को हंसते हुये सहते है, और हमारे देश को दुश्मनों से बचाते हैं।

सैनिकों को जान का खतरा सदा ही बना रहता है, लेकिन वह इस खतरे से स्वयं ही जानकर अनजान बने हुए होते हैं, क्योंकि उनके लिए देश-प्रेम और देश-रक्षा से बढ़कर और कोई चीज ही नहीं होती। अतः हम कह सकते हैं, कि एक सैनिक का अनुशासित जीवन बहुत ही कठिन होता है, जिसे आम नागरिक जीने की सोच तो क्या उसकी कल्पना भी नहीं कर सकता।

जगलों और बर्फीले क्षेत्रों में एक दिन में सैनिक 50 किलोमीटर से भी जायद चलते हैं। हाँथ में भारी भरकम बंधूक, पानी, खाना लिए इतना चलना कोई आम आदमी सोच नहीं सकता। वे सुबह 3-4 बजे प्रतिदिन उठ कर दौड़, व्यायाम, और की प्रकार के ट्रैनिंग लेते हैं जिससे की वह बुरे व्यक्त में देश की रखा कर सकें। सैनिक को जब जहां जाने को कहा जाए वह एक बिना किसी झिझक के चल पड़ता है।

देश के ज्यादातर क्षेत्रों में तो एक सैनिक के परिवार साथ में रह सकते हैं परंतु ऐसे की दुर्गम स्थान हैं जहां परिवार की सुरक्षा के लिए उन्हें वहाँ रखा नहीं जा सकता है। एक सैनिक अपने परिवार को की महीनों तक देखे बिना ऐसे स्थानों में देश की रखा करते हैं जिससे की उसके देश के लोग शांति की नींद सो सकें।

एक भारतीय सैनिक के कर्तव्य Duties of an Indian Soldier in Hindi

सैनिक जीवन में किसी भी सैनिक का मुख्य कर्तव्य देश की निस्वार्थ भाव से सेवा तथा रक्षा करना होता है। किसी भी देश का नागरिक अपने आप को सुरक्षित और निश्चिंत तभी समझ सकता है, जब तक कि उस देश के पास एक सुगठित और शक्तिशाली सेना हो और उस सेना के सैनिक अपने कर्तव्य को ही अपनी जान समझते हों।

सैनिक का सबसे महत्वपूर्ण कर्तव्य किसी भी परिस्थिति में देश की रक्षा करना होता है। चाहे इसके लिए उसे किसी भी युक्ति का प्रयोग क्यों ना करना पड़े?

भारतीय सैनिक का कर्तव्य है, कि वह निस्वार्थ भाव से अपने देश के समस्त नागरिकों की रक्षा करे और उनमें सुरक्षा और शांति की भावना जागृत कर सकें। इसके लिए सैनिकों को कई प्रकार की परीक्षाओं और कठिन अभ्यास से गुजरना पड़ता है, जिससे सैनिकों के ह्रदय में कर्तव्य की भावना कूट-कूट कर भर जाती है, और उनका मुख्य कर्तव्य देशवासियों और देश की सुरक्षा करना ही होता है।

एक सैनिक का कर्तव्य यह भी होता है, कि वह देश की सीमा की रक्षा तो करें, और आपातकालीन परिस्थितियों में देश के नागरिकों को भी सुरक्षा प्रदान करें, इसके साथ सैनिक का एक महत्वपूर्ण कर्तव्य सतर्क रहना भी है। भारतीय सैनिक हमेशा सतर्क रहते हैं, और घुसपैठियों की हर एक हरकत पर नजर रखते हुये देश सेवा और देश भक्ति का परिचय देते हैं।

सैनिक बनने के लिए सैनिकों को कठोर तपस्या करनी पड़ती है क्योंकि सैनिक का मूल मंत्र अनुशासित जीवन होता है। जो भी व्यक्ति अनुशासित जीवन का पालन करता है, और सैनिक बनने की पात्रता रखता है। वही व्यक्ति सैनिक बन पाता है।

हजारों लोगों में कुछ ही लोग सैनिक बन पाते हैं, क्योंकि सैनिक जीवन इतना सरल और आसान नहीं होता। हालांकि उन्हें इस बात के पैसे मिलते हैं लेकिन उनका पूरा जीवन देश हित और राष्ट्र प्रेम में ही व्यतीत हो जाता है। देश के सैनिकों में ही मर मिटने तथा बलिदान और त्याग की भावना कूट-कूट कर भरी होती है, इसीलिए तो कहते हैं।

हम सैनिक अपने देश की धड़कन है/
बस्ती यहां जान भी कण-कण में।
ए देश बसा है सैनिकों की धड़कन में/
जो कभी नहीं है हारते किसी भी रण में।

निष्कर्ष Conclusion

इस लेख में आपने एक भारतीय सैनिक पर निबंध (Essay on an Indian soldier in Hindi) पढ़ा जिसमें सैनिकों के कठिन दिनचर्या से लेकर सक्रीय जीवन का उल्लेख है। आशा है यह लेख आपको सरल लगा होगा अगर यह लेख आपको पसंद आया हो तो इसे शेयर जरुर करें।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.