इंटरनेट पोर्नोग्राफी पर निबंध Essay on Internet Pornography in Hindi

इंटरनेट पोर्नोग्राफी पर निबंध Essay on Internet Pornography in Hindi

इंटरनेट आज के दौर की बहुत बड़ी जरूरत बन गया है। इंटरनेट से हम क्या कुछ नहीं कर सकते हैं, इंटरनेट एक ऐसा माध्यम है जिसके द्वारा हम दुनिया भर के काम कर सकते हैं, वह भी बिना कहीं जाए, सिर्फ एक जगह पर बैठकर।

इंटरनेट पोर्नोग्राफी पर निबंध Essay on Internet Pornography in Hindi

आज ऑनलाइन अनेकों काम हो सकते हैं जैसे पढ़ाई, बिजली या अन्य बिल का भुगतान, खाना ऑर्डर करना, वस्तुएं खरीदना, दूर दराज बैठे लोगों से बात करना, अपना मनोरंजन करना आदि, अथवा यह सूची बहुत लंबी जा सकती है। हम सभी जानते हैं कि इंटरनेट एक जबरदस्त खोज है, आज के युग में कम ही ऐसे लोग होंगे जो इंटरनेट से परिचित ना हो।

इंटरनेट को अब तक का सबसे बड़ा आविष्कार माना जाता है और इसकी मदद से हम अपने ढेरों काम निपटा सकते हैं, परंतु यह कहना भी गलत होगा कि इस माध्यम सिर्फ लाभ हैं, हानि नहीं। बिल्कुल, हम जानते हैं कि इंटरनेट से अनेकों फायदे हैं, हमारे हजारों काम इसी से होते हैं।

इसमें कोई दो राय नहीं पर लाभ के साथ-साथ इसके अपने नुकसान भी हैं, और नुकसान की फेहरिस्त भी काफी लंबी है। इंटरनेट वैसे अपने आप में नुकसानदायक नहीं है, बस इसको इस्तेमाल करने का तरीका सही होना चाहिए; मतलब इंटरनेट से आप को नुकसान हो सकता है या फायदा, यह आप के उपयोग पर निर्भर करता है; अर्थात बहुत ज्यादा लंबे वक्त तक या अत्यधिक उपयोग से नुकसान ही ज्यादा होगा, लाभ नहीं।

इन्टरनेट के कुछ हानि Some Disadvantages of Internet

पढ़ें: इंटरनेट के फायदे और नुक्सान पर पूरी जानकारी

सबसे पहली बात, अगर आप कंप्यूटर और इंटरनेट का इस्तेमाल रोजमर्रा की जिंदगी में करते हैं तो आपको उपयोग से संबंधित सुरक्षा नीतियां पता होनी चाहिए वरना आप साइबर अपराध का शिकार बन सकते हैं, उदाहरण के तौर पर अपनी निजी जानकारी आसानी से किसी को उपलब्ध ना कराएं जैसे ईमेल आईडी, पासवर्ड, बैंक अकाउंट नंबर आदि।

अगर आप इंटरनेट के माध्यम से खरीदारी मतलब ऑनलाइन शॉपिंग के शौकीन है तो भी सावधान रहें, हमेशा अच्छी जांची परखी वेबसाइट से ही खरीदें, अन्यथा आप ठगी का शिकार हो सकते हैं।

इसे भी पढ़ें -  पर्यावरण संरक्षण निबंध व नारे Save Environment Essay and Slogan in Hindi

बिल वगैरह का भुगतान करते वक्त भी ध्यान दें कि वेबसाइट सुरक्षित हो वरना आपके साथ धोखा हो सकता है और आप की धनराशि डूब सकती है।

इन सबके उपरांत, इंटरनेट का सबसे ज्यादा उभरता हुआ पहलू है सोशल नेटवर्किंग साइट्स या यूं भी कह सकते हैं कि यह हमारी दुनिया का सबसे बड़ा छलावा है, इसे छलावा शब्द से क्यों संबोधित कर रहे हैं ?? क्योंकि इन वेबसाइट्स पर होता कुछ है और दिखता कुछ है; मतलब इन सोशल नेटवर्किंग साइट्स की सच्चाई असल दुनिया से बहुत परे है।

सोशल नेटवर्किंग साइट्स जैसे के फेसबुक, टि्वटर, व्हाट्सएप, इंस्टाग्राम, आदि को करोड़ों अरबों लोग इस्तेमाल करते हैं या यूं कहें कि ज्यादातर इन साइट्स का दुरुपयोग ही होता है । इन साइट्स पर लोग अपना निजी अकाउंट बनाकर अपने जीवन की झूठी छवि पेश करते हैं, लोग अलग-अलग चीजें पोस्ट करते हैं जैसे कि अपनी छुट्टियों की तस्वीरें, कपड़ों की तस्वीरें, खाने की तस्वीरें, पालतू जानवरों की तस्वीरें आदि।

इन पोस्ट द्वारा हर व्यक्ति यह दिखाना चाहता है कि वह अपने जीवन में अत्यंत खुश है, बस सुख ही सुख है जिंदगी में, जो कि वास्तव में सबसे बड़ा छल है क्योंकि यह तो प्रकृति और जीवन का ही नियम है कि केवल सुखों से मिलकर जीवन नहीं बनता है; जब दुख की अनुभूति होती है तभी हमें एहसास होता है कि सुख कितना महत्वपूर्ण है। अगर सिर्फ सुख ही सुख होगा, तब तो हमें पता ही नहीं चल पाएगा कि क्या खराब है और क्या अच्छा !!

परंतु इन साइट्स पर भारी तादाद में यह आडंबर देखने को मिलता है। हर कोई बस यह दर्शाना चाहता है कि वही सबसे अच्छा है, सर्वोपरि है, सबसे काबिल है, सबसे ज्यादा बुद्धिमान है, सबसे ज्यादा सुंदर है आदि। हालांकि सही तौर पर यह सब सच नहीं होता है, हर मनुष्य में कुछ ना कुछ कमी होती ही है यह प्रकृति का नियम है, अर्थात यह सबसे बड़ी झूठ की दुनिया है।  सोशल नेटवर्किंग साइट्स, पढ़ने वाले बच्चों, छात्रों के लिए भी अत्यंत नुकसानदायक हो सकती है, क्योंकि इन सब चीजों से दिमाग भटकता है और पढ़ाई में मन नहीं लगता है।

इंटरनेट की सबसे खराब बात यह है कि यह आपका समय बहुत खाता है, जी हां इंटरनेट की ऐसी लत होती है कि उपयोगकर्ता को यह पता ही नहीं चल पाता है कि वह कितना समय इस पर बिता रहे हैं,  अपना वह समय वे पढ़ाई, खेलकूद तथा अन्य बेहतर कामों में लगा सकते हैं।

पोर्नोग्राफी – इन्टरनेट का सबसे बड़ा पहलु How Pornography is affecting Peoples?

अब हम चर्चा करेंगे इंटरनेट के सबसे खतरनाक पहलू पोर्नोग्राफी पर। पॉर्न मतलब अश्लील सामग्री, जैसे अश्लील तस्वीरें, अश्लील वीडियो आदि जिसमें महिला और पुरुष को नग्न अथवा अर्धनग्न अवस्था में दिखाया जाता है।

यह काफी उत्तेजक हो सकती है और इन सब की लत भी पड़ सकती है। पोर्नोग्राफी देखने वालो के लिए वैसी ही है जैसे शराबी या नशेड़ी के लिए शराब और चरस।  एक हद तक वह जानता है कि यह सब सही नहीं है, पर फिर भी वह छोड़ नहीं पाता है।

सबसे खराब बात तो यह है कि पोर्नोग्राफी वेबसाइट सभी के लिए आसानी से उपलब्ध है, जो भी इंटरनेट का उपयोग करते हैं; ना ही कोई उम्र की सीमा है और इनकी सुरक्षा नीतियां भी कमजोर है इसका मतलब यह है कि छोटे नाबालिक बच्चो को भी यह आसानी से उपलब्ध है। क्या पॉर्न वाकई इतना हानिकारक हो सकता है ??? जी हां बिल्कुल, आइए जानते हैं-

लगातार पोर्न देखने से इसकी लत लग जाती है, जो कि अपने आप में एक खराब बात है। इस खराब आदत से शारीरिक स्वास्थ्य पर बहुत खराब प्रभाव देखने को मिलता है, यह सिर्फ कही सुनी बात नहीं है बल्कि वैज्ञानिकों ने यह साबित किया है कि हमारी प्रजनन प्रणाली में बीमारियां उत्पन्न हो जाती है अथवा सेहत भी खराब होती है।

इसकी लत से मानसिक स्वास्थ्य को भी हानि पहुंचती है, पोर्न देखने वाला इंसान यह सोचता है कि असल दुनिया में भी यही सब वास्तव में होता है, हालांकि यह सत्य नहीं है। पोर्न की दुनिया अत्यधिक दिखावटी और झूठी होती है।

जो लोग पोर्न की लत का शिकार होते हैं, उनकी एकाग्रता में कमी आ जाती है, वह कभी भी मन लगाकर कोई काम नहीं कर पाते हैं, अगर किशोरावस्था में यह लत लग जाए, तो पढ़ाई में मन नहीं लगता है, हमेशा दिमाग में खराब विचार ही रहते हैं।

सबसे खराब पहलू यह है कि बहुत छोटे बच्चों तक भी इसकी पहुंच बहुत आसान है, जो कि हमारे समाज के लिए असल में चिंताजनक बात है। जिन बच्चों की उम्र भी नहीं है इन सब चीजों की, वह भी यह सब देख रहे हैं और अपनी उम्र से पहले ही मानसिक और शारीरिक तौर पर परिपक्व हो रहे हैं, जो कि अंत में स्वास्थ्य के लिए अत्यंत लाभप्रद है।

निष्कर्ष Conclusion

अंत में यही कहना चाहेंगे के इंटरनेट इस युग की क्रांति है, परंतु इस माध्यम द्वारा लोगों के हित में ही काम हो, तो ही अच्छा है; इसी में हमारे समाज के लिए भी बेहतरी होगी। सरकार को भी सख्त नियम बनाने होंगे, ताकि इंटरनेट का उपयोग सीमित ही रहे और समाज में गंदगी ना फैले; साथ ही साथ देश का नागरिक होने के नाते हमें भी अपनी जिम्मेदारी समझनी होगी, अपना योगदान देना होगा, ताकि समाज स्वस्थ रहे, और इन सब चीजों पर रोक लगाने के लिए हमें भी सख्त कदम लेने होंगे।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.