महिला शिक्षा पर निबंध व महत्व Essay and Importance of Women Education in Hindi

महिला शिक्षा पर निबंध व महत्व Essay and Importance of Women Education in Hindi

पिछले वर्षों से भारत के इतिहास में, महिलाओं की तुलना में पुरुषों की उच्च साक्षरता दर होती थी। भारत की स्वतंत्रता के लिए ब्रिटिश राज्य के समय में साक्षर महिलाओं का कुल महिला आबादी का मात्र 2-6% था। भारत गणराज्य की स्थापना के बाद सरकार ने महिलाओं की शिक्षा पर काफी जोर दिया है। महिलाओं को शिक्षित बनाना महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देता है।

महिला शिक्षा पर निबंध व महत्व Essay and Importance of Women Education in Hindi

महिला अधिकार के तथ्य व इतिहास Facts and History of Women’s Rights

कुछ साल पहले महिलाओं को सिर्फ रसोई और बच्चों को संभालने काम दिया जाता था। लोगो को अपने घर की महिलाओं को शिक्षा दिलाने पर यह डर था कि वह शिक्षित होने के बाद वे हिंदू परिवार की व्यवस्था को समाप्त कर देंगी।

दूसरा कारण अहंकार है, जो आज के इस आधुनिक युग में भी ज्यादातर पुरुषों द्वारा किया जाता है। अगर महिलाएं पुरुषों की तुलना में अत्यधिक शिक्षित हो गई तो पुरुषों के अहंकार को चोट लगती है। एक और चीज गरीबी के कारण भी ज्यादातर क्षेत्रों में आज भी कुछ माता-पिता अपने बच्चों को शिक्षा के लिए अनुमति भी नहीं देते थे।

महात्मा ज्योतिबा फूले,उनके साथी और उनकी पत्नी सावित्रीबाई फूले ने महिलाओं की शिक्षा के लिए कई एतिहासिक प्रयासों में योगदान दिया। ज्योतिबा फूले और डॉ बाबा साहब अंबेडकर निम्न जाति के नेता थे, जिन्होंने महिलाओं की शिक्षा के लिए पहल की थी।

वे सामाजिक सुधारक थे, इन्होंने शैक्षिक प्रणाली के खिलाफ काफी लड़ाईयां लड़ी और वे हमेशा महिलाओं की  शिक्षा की समानता का हमेशा समर्थन करते रहे । वे महिला अधिकारों के लिए लड़े और इसमें सफल भी रहे।

इसे भी पढ़ें -  मित्रता दिवस पर निबंध Friendship Day Essay in Hindi

महिला शिक्षा के महत्व Importance of women education

आत्मनिर्भर बनना To become self-sufficient

शिक्षा से महिलाओं के अंदर, आत्मविश्वास, आत्मसम्मान पैदा होता है जिससे वे अपनी क्षमता की खोज कर सकती हैं और वे नए विचारों और नवीनता के मार्ग की ओर अग्रसर होती हैं। शिक्षा से लिंग भेदभाव दूर होता हैं। महिलाएं अपने फ़ैसलों को लेने में सक्षम बनती है। शिक्षित महिलायें आज की दुनिया में स्वतंत्र हैं।

परिवार Family

यदि महिलाओं को शिक्षित किया जाता है, तो इसका लाभ पूरे परिवार को मिलता है। यदि एक महिला शिक्षित होती है, तो वह पूरे घर को शिक्षित कर सकती है। घर की महिलाएं शिक्षा के माध्यम से जो ज्ञान प्राप्त करती है, वह उसका उपयोग अपने बच्चों की बेहतर देखभाल करने में करती है, इसका अर्थ है उचित टीकाकरण, बच्चे की शिक्षा, स्वास्थ्य, स्वछता, आदि

1970 से 1995 के बीच महिला शिक्षा के कारण बाल कुपोषण में कमी आई। शिक्षित महिलाएं परिवार की आय और परिवार की स्थिति में सुधार कर सकती हैं और आज वह शिक्षा के कारण परिवार की समस्याओं को सुलझाने में सक्षम हैं।

समुदाय और समाज Community and society

सामाजिक स्थिरता से संबंधित समस्याओं का समाधान खोजने के लिए महिलाओं की शिक्षा एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। जिससे समुदाय और समाज अधिक समृद्ध हो जाते हैं। महिला शिक्षा के परिणामस्वरूप माता और शिशु मृत्यु दर में कमी के साथ जीवन रक्षा दर, स्कूली शिक्षा और सामुदायिक उत्पादकता में वृद्धि हो रही है।

राष्ट्र की उन्नति Nation’s progress

शिक्षित महिला आर्थिक चुनौतियों का सामना- जैसे कि कृषि उत्पादन के क्षेत्र में, भोजन आत्मनिर्भरता, पर्यावरणीय गिरावट के खिलाफ लड़ाई और पानी और ऊर्जा का संरक्षण करने में सक्षम होती है जिससे देश उन्नति के पथ पर अग्रसर होता है।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.