मेथी के स्वास्थ्य लाभ व हानि Benefits and Side Effects of Fenugreek in Hindi

Contents

मेथी के स्वास्थ्य लाभ व हानि Benefits and Side Effects of Fenugreek in Hindi

क्या आपने मेथी के विषय में सुना है? क्या आप मेथी के पत्तों, बीज के स्वास्थ्य लाभ के बारे में जानते हैं? अगर आप अभी तक मेथी के विषय में नहीं जानते हैं और इसके औषधीय गुण के बारे में जानना चाहते हैं तो  इस विषय में यह आर्टिकल आपकी बहुत मदद करने वाला है। मेथी के अदभुत स्वास्थ्य लाभ आपको एक बेहतर स्वस्थ जीवन जीने में मदद कर सकते हैं।

मेथी पुरुषों, महिलाओं और बच्चों सबके लिए एक अच्छा पोषक तत्व है जो आसानी से हमारे आस पास उपलब्ध है। चलिए समय नष्ट ना करते हो आपको मेथी के विषय में पूरी जानकारी प्रदान करते हैं।

मेथी के स्वास्थ्य लाभ व हानि Benefits and Side Effects of Fenugreek in Hindi

मेथी क्या है? What is Fenugreek in Hindi?

मेथी एक औषधीय वार्षिक पौधा है जिसकी हरी पत्तियां और छोटे सफेद फूल होते हैं।इस पौधे का वैज्ञानिक नाम Trigonella foenum-graecum है। मेथी का पौधा लगभग दो से तीन फीट लंबा होता है, और बीज के फली में 10-20 छोटे, सपाट, पीले-भूरे, तेज और सुगंधित बीज होते हैं।

इसे भी पढ़ें -  निपा वायरस क्या है? Nipah Virus Symptoms Prevention Treatment Facts in Hindi

औषधि के रूप में बिज का सबसे ज्यादा उपयोग किया जाता है और पत्तों का उपयोग खाना पकाने में किया जाता है। मेथी का पौधा लगभग दो से तीन फीट लंबा होता है, और बीज के फली में 10-20 छोटे, सपाट, पीले-भूरे, तेज और सुगंधित बीज होते हैं।

मेथी के पोषक तत्व

1 बड़ा चमचा – मेथी के बीज में होता है –

  • 35.5 कैलोरी
  • 6.4 ग्राम कार्बोहाइड्रेट
  • 2.5 ग्राम प्रोटीन
  • 0.7 ग्राम वसा
  • 2.7 ग्राम फाइबर
  • 3.7 मिलीग्राम आयरन
  • 0.1 मिलीग्राम मैंगनीज
  • 0.1 मिलीग्राम कॉपर
  • 21 मिलीग्राम मैग्नीशियम
  • 32.6 मिलीग्राम फॉस्फोरस
  • 0.1 मिलीग्राम विटामिन बी6

मेथी के स्वास्थ्य लाभ Heath benefits of Methi – Fenugreek

1. पाचनतंत्र के समस्या को हल करता है Keeps digestive system healthy

मेथी कई प्रकार से पाचन समस्याओं जैसे पेट में दर्द, कब्ज, पेट में सूजन, एसीडिटी को कम करता है।  मेथी में पानी घुलनशील फाइबर की मात्रा अधिक होती है जो कब्ज से राहत दिलाता है। मेथी पाचन तंत्र को स्वस्थ रखता है और अल्सरेटिव कोलाइटिस के उपचार के लिए यह एक बेहतरीन प्रकृतिक उपाय है।

2. शरीर में सूजन कम करता है Reduces inflammation in body

मेथी से शरीर के अंदर कई प्रकार के घाव और सुजन कम करता हैं जैसे मुहं के छाले, फोड़े, ब्रोंकाइटिस, त्वचा संबधी संक्रमण, लम्बी खांसी, या गुर्दे जी बिमारियां। मेथी शरीर के अन्दर के साथ-साथ बाहर के सुजन को भी कम करता है जैसे बाहरी घाव में सुजन, खुजली, गाउट या पैर में अलसर।

3. पुरुषों में कामेच्छा बढाता है Increase Libido in males

पुरुषों के लिए मेथी हर्निया, गंजापन, जैसी परेशानियों को दूर करता है। माना जाता है मेथी यौन उत्तेजना को बढ़ता है क्योंकि यह शरीर में टेस्टोस्टेरोन के स्तर में वृद्धि करता है। कई शोधकर्ताओं ने पाया कि 6 हफ़्तों तक 600 मिलीग्राम मेथी के खाने से पुरुषों के यौन प्रदर्शन में सुधार पाए गए हैं।

इसे भी पढ़ें -  वज़न बढ़ाने के सुरक्षित उपाय Fast and Naturally Body Weight Gain Tips in Hindi

4.  स्तनपान में दूध प्रवाह को बढाता है Increases milk flow during breastfeeding

मेथी उन महिलाओं को स्तनपान के दौरान दूध प्रवाह को बढाने में मदद करता है जिनको गर्भावस्था के बाद शिशु स्तनपान में दूध कि कमी हो रही है। ऐसे लोगों के लिए मेथी गैलेक्टैगॉग के रूप में काम आता है। यह दूध नलिकाओं को उत्तेजित करता है और 24 घंटे तक दूध उत्पादन में वृद्धि कर सकता है।

Loading...

5. भोजन के मसलों में उपयोग होता है Used as Spices in Indian recipes

खाद्य पदार्थों में, मेथी को मसाले मिश्रणों में अक्सर एक घटक के रूप में शामिल किया जाता है, जो ज्यादातर भारतीय घरों में पाया जाता है जैसे सुखी पत्तियां सब्जियों में या अचार में बिज को और साग के रूप में कच्ची पत्तोयों को पकाया जाता है।

6. रक्त शर्करा में सुधार करता है Best for Diabetic patients

मेथी के बिज को रात के समय भिगो कर चबाने से डायबिटीज के रोगोयों में रक्त शर्करा में सुधार देखा गया है। यह एक प्राकृतिक बिज है जिसका मधुमेह के रोगियों को बहुत फायदा हुआ है।

7. मासिक धर्म को ठीक करता है Fixes Menstrual cycle issues

मेथी को एक शक्तिशाली पदार्थ के रूप में माना जाता है जो मासिक धर्म की प्रक्रिया को आसान बनाता है और संबंधित लक्षणों को राहत देता है। इसके नियमित रूप से उपयोग से मासिक धर्म नियमित ना होने और अत्यधिक पीड़ा होने कि प्रक्रिया दूर होती है।

8. कोलेस्ट्रॉल स्तर कम करता है Reduces cholesterol level

शोध अध्ययन से पता चलता है कि मेथी खाने से कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद मिलती है। यह कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (एलडीएल कोलेस्ट्रॉल) के स्तर को कम करने में मदद करता है, जो एथरोस्क्लेरोसिस , दिल के दौरे और स्ट्रोक जैसी विभिन्न स्थितियों को बढाते है। यह फाइबर का एक समृद्ध स्रोत है, जो धमनियों और शरीर के रक्त वाहिकाओं के अतिरिक्त कोलेस्ट्रॉल को तोड़ देता है।

इसे भी पढ़ें -  गर्भावस्था में देखभाल कैसे करें? Pregnancy Care Week by Week Tips Hindi

9. कार्डियोवैस्कुलर मुश्किलों को कम करता है Kepps away from Cardiovascular diseases

बीज में 25% गलाक्टोमनान होता है। यह एक प्रकार का प्राकृतिक घुलनशील फाइबर है जो विशेष रूप से कार्डियोवैस्कुलर बीमारियों में कमी से संबंधित है। साथ ही कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करने के कारण भी यह ह्रदय रोगों से दूर रखता है।

10. लिवर को स्वस्थ रखता है Keeps liver healthy

मेथी के पानी में भिगोये हुए बिज खाने से लिवर भी स्वस्थ रहता है क्योंकि इससे भूख बढ़ता है, खाना अच्छे से हज़म होता है और पेट म्यूकोसा या श्लेष्मा को स्वस्थ रखता है।

मेथी के दुष्प्रभाव Side Effects of Fenugreek in Hindi

कुछ संभावित मेथी साइड इफेक्ट्स हैं। जब मुंह से खाया जाता है, तो यह गैस, सूजन और दस्त का कारण बन सकता है। जब मेथी सीधे त्वचा पर लगाया जात है तो मेथी भी जलन पैदा कर सकती है, इसलिए हमेशा पहले एक छोटे से क्षेत्र का परीक्षण करें।

यद्यपि मेथी का उपयोग गर्भावस्था में पहले किया गया है, फिर भी गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को मेथी लेने के दौरान सावधानी बरतनी चाहिए। सुनिश्चित करें कि आप उपयोग से पहले मेथी के बारे में अपने स्वास्थ्य देखभाल या  से डॉक्टर से बात करें।

यह भी ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि मेथी हानिकारक प्रभाव पैदा कर सकती है जो रक्त को पतला कर सकती है और कुछ लोगों में अत्यधिक रक्तस्राव का कारण बन सकती है। अंतर्निहित रक्तस्राव विकार(Inherited bleeding disorder) वाले लोग या जो खून बहने वाली दवाएं या एंटीकोगुल्टेंट लेते हैं उन्हें अपने डॉक्टरों की मंजूरी के बिना मेथी नहीं लेनी चाहिए।

Loading...

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.