सोशल मिडिया का समाज पर प्रभाव Impact of Social Media on Society in Hindi

Contents

सोशल मिडिया का समाज पर प्रभाव Impact of Social Media on Society in Hindi

आज के समय में शायद ही ऐसा कोई होगा जो सोशल मिडिया का इस्तेमाल नही करता होगा। बच्चे, युवा और बूढ़े सभी आजकल सोशल मिडिया पर सक्रिय रहते है। लोग घंटे घंटे अपने जरूरी काम छोड़कर फेसबुक, व्हाट्सअप, यूट्यूब, ट्विटर, जैसे प्लेटफोर्म पर लगे रहते है। आजकल यह बहुत ही प्रसिद्द हो गया है। हर कोई लोग इनका उपयोग कर रहे हैं।

अपने दोस्तों को संदेश, फोटो, विडियो भेजने के लिए हम इसे करते है। आज भारत में 70 करोड़ लोगो के पास फोन है जिसमे से 25 करोड़ लोग स्मार्ट फोन का इस्तेमाल करते हैं। इन 25 करोड़ लोगो में से 15 करोड़ लोग सोशल मीडिया पर सक्रिय है।

इसी से इसकी ताकत का अंदाजा लगता है। देश में करोड़ो लोग इसका इस्तेमाल कर रहे है। आजकल हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी, सुषमा स्वराज, आमिर खान, अमिताभ बच्चन, बड़े बड़े राजनेता, खिलाड़ी, मशहूर हस्तियाँ सोशल मीडिया पर सक्रिय है।

आज के समय में यह बहुत प्रसिद्द हो गया है। लोग इसका इस्तेमाल विचारों की अभियक्ति के लिए करते हैं। पर इससे फायदा के साथ नुकसान भी है। आज हम आपको बतायेंगे की इस क्या लाभ और हानियाँ है।

सोशल मिडिया का समाज पर प्रभाव Impact of Social Media on Society in Hindi

सोशल मिडिया के प्रसिद्द प्लेटफोर्म  Famous Social media now days

  • फेसबुक
  • ट्विटर
  • इन्स्टाग्राम
  • यूट्यूब
  • गूगल+
  • लिंक्ड इन
  • व्हाट्सअप
  • टम्बलर
  • माय स्पेस
इसे भी पढ़ें -  भारत स्वतंत्रता दिवस पर जीके प्रश्न GK Questions on India Independence Day in Hindi English

सोशल मीडिया द्वारा दी जाने वाली सेवाएँ Services provided by Social Media

  • मुफ्त संदेश भेजना
  • मुफ्त फोटो भेजना
  • मुफ्त विडियो भेजना
  • मुफ्त कालिंग
  • मुफ्त विडियो कालिंग
  • मुफ्त पैसे भेजने की सुविधा

सोशल मीडिया से लाभ/ सकारात्मक प्रभाव Advantages of Social Media in Hindi (Positive Effect)

प्रियजनों से सीधा सम्पर्क

इससे सबसे बड़ा लाभ है की हम अपने दोस्तों, रिश्तेदारों, प्रियजनों से सीधा सम्पर्क में रह सकते है और कोई शुल्क भी नही लगता है। सभी तरह के सोशल मिडिया प्लेटफोर्म पूरी तरह फ्री है। कोई पैसा नही देना पड़ता है।

अपने प्रिय जनों को संदेश, फोटो, विडियो भेज सकते है। फ्री कालिंग कर सकते है। इस पर रहने से सभी दोस्तों के बारे में पता चलता रहता है। वो कहाँ जा रहे है। क्या कर रहे है, किस समारोह, पार्टी में शिरकत कर रहे है सब पता चलता रहता है।

अभिव्यक्ति की आजादी

फेसबुक, ट्विटर जैसे मिडिया पर हम अपनी अभियक्ति पर सकते है। अपने मनपसंद विषय- जैसे फिल्म, क्रिकेट, बागवानी, अपने निजी जीवन, शादी, किसी समारोह की अभिव्यक्ति कर सकते है। आज सोशल मीडिया अभिव्यक्ति का सशक्त साधन बन गया है। अन्याय के खिलाफ आवाज उठाने का साधन बन गया है।

मनोरंजन का साधन

इस पर आप अनेक नये दोस्त बना सकते है। आप ग्रुप में जुड़कर किसी विशेष तरह के शौक वाले लोगो से जुड़कर अपना मनोरंजन कर सकते है।

आजकल क्रिकेट, शायरी, फिल्म जगत, बागवानी, खाना पकाना (पाक कला), बागवानी, किताब पढने के शौक़ीन जैसे अनेक ग्रुप बने हुए है जिनसे जुड़कर आप अपने शौक को और निखार सकते है। इस तरह से सोशल मिडिया मनोरंजन का सशक्त साधन है।

ज्ञान का भंडार

सोशल मिडिया आजकल ज्ञान का नया भंडार बन गया है। इस पर हर तरह की जानकारी आप पा सकते है। किसी भी सवाल का जवाब एक्सपर्ट से पूछ सकते है। इस तरह से यह ज्ञान का भंडार भी है।

पढ़ाई करने का नया तरीका

आजकल बड़े बड़े सस्थान, कोचिंग, टीचर, प्रोफेसर सोशल मिडिया जैसे यूट्यूब पर पढ़ाते है। ये बिलकुल मुफ्त होता है। विद्दार्थियों को कोई पैसा नही देना पढ़ता है। गरीब छात्र भी यहाँ से पढ़ सकते हैं.

पैसा कमाने का नया साधन

आज के इंटरनेट के जमाने में हजारो लोग सोशल मिडिया की मदद से पैसा कमा रहे है। लोग अपना चैनेल बनाकर अपने विडियो, पोस्ट लगाकर हजारो लाखो हर महीना कमा रहे है। यूट्यूब जैसे प्लेटफोर्म पर आज लाखो लोगो ने अपने चैनेल बना लिए है।

इसे भी पढ़ें -  ज्वार भाटा क्या है? कारण और प्रकार What are Tides in Hindi? Its Causes and Types

वो अपना हुनर दिखाकर पैसा कमा रहे है। कॉमेडी शो बनाकर, पढ़ाकर, यात्रा व्लोग बनाकर, खाना पकाना सिखाकर, गाना गाकर, एक्टिंग करके लोग हजारो लाखो रुपये कमा रहे है। इस तरह से सोशल मीडिया ने रोजगार के नये अवसर खोले है।

बिजनेस/व्यापार बढ़ाने का साधन

आजकल सोशल मीडिया का सबसे अच्छा फायदा यह है कि आप अपने बिजनेस, व्यापार का प्रचार, प्रसार इस पर कर सकते हैं। जिन लोगो ने कोई कम्पनी बना रखी है वो अपना प्रचार यहाँ कर सकते है। इससे उनको नये ग्राहक मिलते है। उनकी आय बढ़ जाती है।

सोशल मीडिया से नुकसान/ नकारात्मक प्रभाव  Disadvantages of Social Media in Hindi (Negetive Effect)

लोगो को इसकी लत लग गयी है

यह इसकी सबसे बड़ी खामी है। यह इतना आकर्षक साधन है कि लोग इसे कई कई घंटो तक उपयोग करते रहते है। लोगो को इसकी लत लग गयी है। इस्तेमाल करने वाले अपने जरूरी काम छोड़कर इसको करते रहते है।

बच्चे अपनी पढाई से जी चुराने लगे है। वो जादातर समय फेसबुक, ट्विटर, यूट्यूब पर चिपके रहते है। जादातर देर तक कम्प्यूटर, मोबाइल फोन के इस्तेमाल से उनकी आँखे कमजोर हो जाती है।

लगातार एक ही जगह पर बैठे रहने से मोटापा बढ़ रहा है। उच्च रक्तचाप, मधुमेह, दिल की बीमारियाँ हो जाती है। इसलिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल सीमित समय के लिए करना चाहिये।

समय की हानि

सोशल मीडिया के यूजर्स अपने कीमती समय को नष्ट कर देते है जो वो अपने भविष्य को बनाने में इस्तेमाल कर सकते है। बच्चे से लेकर बड़े तक रोज 3 से 4 घंटे सोशल मीडिया पर देते हैं।

पैसे की हानि

लोग सोशल मीडिया का उपयोग करने के लिए बार-बार अपने फोन में इंटरनेट पैक पड़वाते है। इस तरह से पैसे की हानि होती है।

सोशल मीडिया गैर जिम्मेदार बनाता है

आजकल ऐसा कुछ जादा ही होने लगा है। पुलिसवाले, शिक्षक, बैंक कर्मी, रेलवे कर्मी, अन्य नौकरी करने वाले कर्मचारी अपने ऑफिस में अपनी ड्यूटी करने की जगह फेसबुक, व्हाट्स, यूट्यूब करने में मस्त रहते है। वो अपने कर्तव्य का निर्वाहन सही तरह से नही करते है।

आये दिन इस तरह की खबरे सुनने को मिल रही है। पुलिस वाले अपराधियों को पकड़ने में ध्यान नही देते, शिक्षक स्कूल में बच्चो की पढ़ाई की तरफ ध्यान नही दे रहा है। वो सभी फोन पर सोशल मीडिया करते रहते है।

अफवाह फैलाता है सोशल मीडिया

दोस्तों हमारे समाज में अच्छे बुरे सभी तरह के लोग है। कुछ आसामाजिक लोग सोशल मीडिया पर झूठी अफवाह फैला देते है। वो किसी झूठी तस्वीर, विडियो को एडिट करके पब्लिश कर देते है। जिससे तरह तरह की समस्याये पैदा होती है। कई बार किसी निर्दोष व्यक्ति को चोर, लुटेरा समझकर लोग पीट पीटकर उसकी हत्या तक कर देते है।

इसे भी पढ़ें -  भारत की नदियाँ इनकी प्रणाली Rivers of India in Hindi

कई बार दंगे भड़काने की कोशिश की जाती है। उदाहरण के तौर पर सन 2013 में मुजफ्फर नगर दंगे में सोशल मिडिया पर अनेक झूठी अफवाहे फैलाई गयी थी।

हिंदू- मुस्लिम, विभिन्न धर्मो वाले लोगो को उकसाने की कोशिश की जाती है। धार्मिक कट्टरता, धार्मिक उन्माद फैलाने का प्रयास किया जाता है। इसलिए हमे सोचकर समझकर सोशल मीडिया का इस्तेमाल करना चाहिये।

वास्तविकता से दूर ले जाता है सोशल मीडिया

इसका नशा ही कुछ ऐसा है कि अच्छे अच्छे लोग इसकी चपेट में आ जाते है। जब लोगो को इसकी लत लग जाती है तो वो वर्चुअल (virutal), आभासी दोस्त को ही अपना असली दोस्त समझ बैठते है जबकि वो व्यक्ति तो सैकड़ो किमी दूर रहता है। इस तरह लोग असलियत से दूर चले जाते है। सपनीली दुनिया में खो जाते है।

कुछ लोग तो कई कई दिनों तक घर से बाहर ही नही निकलते है। फेसबुक, ट्विटर, व्हाट्सअप पर लगे रहते है। वो अपने आस पड़ोस में लोगो से मिलना जुलना बंद कर देते है। पड़ोस में क्या हो रहा है, उससे बेखबर रहते है। सोशल मीडिया के दोस्तों को अपना असली दोस्त समझ लेते है। इस तरह यह वास्तविकता से दूर ले जाता है।

राजनीतिक पार्टियाँ गलत इस्तेमाल करती है

आज देश में अनेक राजनीतिक पार्टियाँ जाति, धर्म, सम्प्रदाय आदि की बाते करके जादा से जादा वोट पाने की कोशिश करती है। पार्टियों के नेता Hate speech “घृणा संदेश” देकर सोशल मीडिया पर लगा देते है।

वो अपना उल्लू सीधा करना चाहते है। वो फेसबुक, ट्विटर, व्हाट्सअप जैसे मीडिया पर लोगो को उकसाने की कोशिश करते है। वो ये सब वोट पाने के लिए और निजी स्वार्थ करने के लिए करते हैं।

निष्कर्ष Conclusion

आज के लेख में हमने आपको “सोशल मीडिया का समाज पर प्रभाव” के बारे में विस्तार से बताया है। जिस तरह हर सिक्के के 2 पहलू होते है उसी तरह सोशल मीडिया के भी 2 पहलू है- अच्छा और बुरा। यदि हम इसका सोच समझकर इस्तेमाल करेंगे तो यह फायदेमंद साबित होगा। इसलिए हमे इसका विवेक के साथ इस्तेमाल करना चाहिये।

11 thoughts on “सोशल मिडिया का समाज पर प्रभाव Impact of Social Media on Society in Hindi”

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.