सोशल मिडिया का समाज पर प्रभाव Impact of Social Media on Society in Hindi

इस लेख में हमने सोशल मिडिया का समाज पर प्रभाव Impact of social media on society in Hindi के विषय में बताया है। इसमें आप सोशल मीडिया क्या है, महत्व, प्रकार, समाज पर प्रभाव, फायदे तथा नुकसान जैसी कई जानकारियाँ दी गई है।

सोशल मिडिया क्या है? (What is Social Media?)

सोशल मीडिया मानव जीवन का एक अभिन्न अंग बन चूका है। आज स्थिति यह हो गई है कि सोशल मीडिया के बगैर कोई अपने दिनचर्या की कल्पना भी नहीं कर सकता। 

इस सोशल मीडिया का तात्पर्य ऐसे सूचनाओं अथवा संचार से है, जो विभिन्न कंप्यूटरों, स्मार्टफोंस या अन्य डिवाइस के जरिए संचालित किया जाता है।

सोशल मीडिया इंटरनेट की ऐसे मीडिया है, जहां हर प्रकार की जानकारी मौजूद है। यह एक गहरे समुद्र के जैसा है, जहां सूचनाओं का भंडार है। हालांकि इसके कई प्रकार होते हैं। 

दुनियां भर में अरबों लोग सोशल मीडिया का उपयोग करते हैं। इसके किसी भी प्लेटफार्म का उपयोग करने वाला व्यक्ति इंटरनेट की सहायता से एक वर्चुअल वर्ल्ड से जुड़ जाता है। 

शिक्षा, व्यवसाय, मनोरंजन, संस्कृति और देश दुनिया की खबरें इत्यादि से जुड़े कई सारे विविधता से भरे विकल्प यहां मिल जाते हैं।

सोशल मिडिया का महत्व (Importance of Social Media in Hindi)

  • डिजिटल युग का महत्व समझते हुए भारत सरकार ने भी डिजिटल इंडिया के निमार्ण पर प्रभाव दिया है और इस क्षेत्र में युवाओं को कुछ अद्भुत करने के लिए भी प्रेरित किया है।
  • सूचना, डाक्यूमेंट्स, फोटो, वीडियो इत्यादि से जुड़े हर खबरों के संचार के लिए सोशल मीडिया सबसे बेहतरीन उपाय है।
  • हर एक इंसान जो कुछ सीखना चाहता है, उनके लिए शिक्षा ग्रहण करने का सबसे लाभदायक विकल्प है।
  • दुनिया की ऐसी कोई भी चीज नहीं है, जिसकी जानकारी सोशल मीडिया पर ना हो। यह इतना बड़ा वर्चुअल दुनिया है, जहां हर तरह की जानकारियां उपलब्ध है।
  • सोशल मीडिया की सहायता से ही देश की सरकारें तमाम युवाओं या नौजवानों के लिए रोजगार के अवसरों को प्रस्तुत करती है। इसके विषय में जानकारियां देती है।

सोशल मिडिया के प्रकार (Types of Social Media in Hindi)

अनलाइन सोशल मीडिया बहुत ही विस्तृत क्षेत्र है, जिसमें सोशल नेटवर्क, ब्लॉगिंग, बिजनेस नेटवर्क, फोटो शेयरिंग, सोशल गेमिंग, वीडियो शेयरिंग इत्यादि इसके अंदर ही आते हैं। 

सोशल मीडिया को अलग-अलग प्रकार से विभाजित किया गया है जो निम्नलिखित है:

Social Networks

जैसा कि नाम से ही स्पष्ट हो रहा है, कि सोशल मीडिया की सहायता से आप अपना एक अलग सोशल नेटवर्क तैयार कर सकते हैं। दुनिया के सबसे प्रसिद्ध और बड़े सोशल नेटवर्क्स में आते हैं-

  • Facebook

आंकड़ों के मुताबिक 2021 में करीब 2.89 बिलियन मासिक उपयोगकर्ता सक्रिय रूप से फेसबुक पर दर्ज किए गए हैं। सूचनाओं के अनुसार भारत में करीब 340 मिलियन से अधिक फेसबुक उपयोगकर्ता हैं।

  • Twitter

दूसरे सोशल नेटवर्क के मुकाबले टि्वटर एक अधिक प्रोफेशनल सोशल नेटवर्क माना जाता है। यह सबसे लोकप्रिय सोशल प्लेटफॉर्म्स में से एक है। पिछले आंकड़ों के मुताबिक 300 मिलियन से भी अधिक सक्रिय उपयोगकर्ता ट्विटर के हैं।

  • LinkedIn

लिंक्डइन एक बिजनेस बेस्ड सोशल नेटवर्क है। यहां बड़े बड़े बिजनेसमैन, सीईओ और ऊंचे पदों वाले उपयोगकर्ता भी रहते हैं। पिछले डाटा के मुताबिक लिंकडइन पर करीब 500 मिलियन से ज्यादा उपयोगकर्ता हो चुके हैं।

Messaging Apps

मुख्य रूप से किसी को मैसेज भेजने के लिए सोशल मैसेजिंग एप्स के प्लेटफार्म होते हैं। बिना किसी एक्स्ट्रा चार्ज के आप अपनी बात मैसेजिंग एप्स के माध्यम से दूसरों तक पहुंचा सकते हैं। कुछ बेहद प्रसिद्ध मैसेजिंग एप्स में शामिल है –

  • WhatsApp
  • WeChat
  • Facebook Messenger

Photo & Media Sharing Apps

यह ऐसे खास ऐप्स होते हैं, जिनके माध्यम से आप फोटो और मीडिया को दूसरों के साथ साझा कर सकते हैं। उपयोगकर्ता मनोरंजन के लिए भी इन सोशल प्लेटफॉर्म्स का उपयोग करते हैं। इनमें सबसे लोकप्रिय सोशल नेटवर्क्स नीचे दिए गए हैं।

  • Instagram
  • Imgur
  • YouTube
  • Vimeo

Question Ans Social Network

खास तौर पर किसी प्रश्न और उत्तर को साझा करने के लिए क्वेश्चन एंड आंसर नेटवर्क प्लेटफॉर्म्स होते हैं। जहां लाखों लोग अपने प्रश्नों का जवाब ढूंढते हैं और दूसरों के साथ साझा भी करते हैं। Quora ऐसे सोशल प्लेटफॉर्म्स का सबसे बेहतरीन उदाहरण है।

Review Networks

ऐसे खास तरह के सोशल प्लेटफॉर्म्स जो केवल दूसरी चीजों का रिव्यु देते हैं, वे रिव्यू नेटवर्क के अंतर्गत आते हैं। बड़ी-बड़ी कंपनियां नए प्रोडक्ट के लॉन्च होने के बाद उन्हें बिजनेस प्रमोशन के लिए रिव्यु करवाते हैं, जिससे कि यूजर्स को यह समझने में आसानी हो कि वह प्रोडक्ट को खरीदना चाहते हैं या नहीं।

Social Shopping Networks

साधारण खरीदारी से अलग यह एक ऐसा शॉपिंग नेटवर्क उपयोगकर्ता को उपलब्ध कराता है, जहां वह घर बैठे ही अपने प्रोडक्ट्स का रिव्यु देखकर उसे ऑर्डर कर सकता है। 

कुछ ऐसे विशेषज्ञ जो वस्तु का रिव्यू करके इस प्रोडक्ट को खरीदने लायक आकर्षक लेख लिखते हैं, उन्हें नियुक्त किया जाता है। Social shopping network से जुड़ी कई वेबसाइट है।

Economy Networks

Economy networks ऐसे सोशल मीडिया के प्लेटफार्म होते हैं, जहां उपयोगकर्ता कुछ शुल्क अदा करके अपने जरूरत की चीजें प्राप्त कर लेता है। उदाहरण स्वरूप ऑनलाइन फूड ऑर्डर करने के लिए या ऑनलाइन कैब जैसे सुविधाएं इकोनॉमी नेटवर्क्स के अंतर्गत आते हैं।

सोशल मिडिया का समाज पर प्रभाव (Impact of social media on society in Hindi)

सोशल मीडिया की ताकत का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है, कि वह किसी भी समाज की दशा को सुधार भी सकता है और बिगाड़ भी सकता है।

यह उपयोगकर्ता पर निर्भर करता है कि वह सोशल मीडिया का उपयोग किस तरह कर रहा है। यदि कुछ जानने और सीखने के उद्देश्य से इसका उपयोग किया जाए, तो एक उच्च और आदर्श जीवन की कल्पना की जा सकती है। 

लेकिन वहीं अगर केवल मनोरंजन और टाइम पास करने के लिए इसका उपयोग किया जाए, तो आप अपने कीमती समय को गंवा बैठेंगे और कुछ भी नहीं सीख पाएंगे। 

अर्थात सोशल मीडिया के गहरे लहरों के साथ जो बह गया वह जीवन में बहुत आगे बढ़ जाएगा, लेकिन वहीं अगर इसका दुरुपयोग करके इन लहरों के विपरीत कोई जाएगा, तो उसका जीवन बद से बदतर हो सकता है।

सोशल मिडिया के फायदे 10 Advantages of Social Media in Hindi

नए अवसरों की पहचान

ऐसे लोग जो अपने टैलेंट को दुनिया के सामने प्रस्तुत करके अपनी आवाज को और भी मुखर करना चाहते हैं, उनके लिए सोशल मीडिया सबसे मददगार प्लेटफार्म है। 

इसके माध्यम से हर कोई समाज का एक अपेक्षित व आभासी संसार की सहायता से करोड़ों लोगों के साथ जुड़कर अपने लिए एक नए अवसर की तलाश कर सकता है।

सकारात्मकता का द्वार

दुनिया में हर इंसान को कुछ अच्छा करने के लिए मोटिवेशन की जरूरत होती ही है। सोशल मीडिया की मदद से हर कोई स्वयं को सकारात्मकता से भर सकता है। 

ऐसे कई प्लेटफार्म है जहां बेहतरीन और प्रेरणादायक पुस्तकें, सुविचार इत्यादि आसानी से उपलब्ध है। हर उस पुस्तक को आप सोशल मीडिया के जरिए प्राप्त कर सकते हैं, जो आस-पास बहुत दुर्लभ से मिलते हैं अर्थात सोशल मीडिया हमारे लिए सकारात्मकता का एक द्वार स्वरूप है।

देश दुनियां की ख़बरें

खबरो अथवा सूचनाओं के संचार के लिए सोशल मीडिया बेहतरीन है। दुनिया के किसी भी कोने में बैठ कर आप देश दुनिया की खबरें प्राप्त कर सकते हैं। 

ऐसी कोई जानकारी नहीं है, जो सोशल मीडिया पर उपस्थित ना हो। सरल शब्दों में कहा जाए तो सोशल मीडिया ज्ञान का भंडार है, जहां से हर कोई अपने आवश्यकतानुसार ज्ञान ग्रहण कर सकता है।

कला और साहित्य का प्रचार

सोशल मीडिया का सबसे महत्वपूर्ण लाभ कला और साहित्य के प्रचार प्रसार से है। हर रोज करोड़ों लोग अपने छुपे हुए कला को प्रदर्शित करके लोगों के बीच जगह बनाते हैं। इसके माध्यम से कई विलुप्त होती संस्कृतियों और कलाओ से भी रूबरू होने का अवसर प्राप्त होता है।

रोज़गार का माध्यम

आपको जानकर आश्चर्य होगा की आने वाले समय में ज्यादातर रोजगार लोगों को सोशल मीडिया के सहायता से ही प्राप्त होंगे। डिजिटल युग में अधिकतर रोजगार अप्रत्यक्ष रूप से ही प्राप्त होता है। 

वर्तमान में अधिकतर देश विदेश की कंपनियां अपने यहां खाली वैकेंसीज के लिए सोशल मीडिया पर ही पोस्ट करते हैं, जिससे कि अन्य लोगों को इसके विषय में पता चले और उन्हें रोजगार मिल सके।

ज्ञान प्राप्ति का जरिया

बिना पैसा खर्च किए व अधिक समय गवाएं बिल्कुल मुफ्त में ज्ञान प्राप्त करने का यदि कोई इकलौता मार्ग है, तो वह सोशल मीडिया है। सोशल मीडिया की दुनिया में बच्चे, बड़े हर किसी के लिए असीमित ज्ञान उपलब्ध है। 

विचारों के प्रसारण में सुगमता 

सोशल प्लेटफॉर्म की मदद से लोग अपने विचारों को दूसरों के साथ साझा करते हैं। सोशल मीडिया के उपयोग से कोई नागरिक बड़े बड़े अधिकारी और मंत्रियों तक व केंद्र सरकार के तमाम विभागों के साथ अपने विचारों को प्रस्तुत कर सकता है। इसलिए इसके उचित उपयोग से आप अपनी बात को दुनिया के सामने रख सकते हैं।

परिवार और परिचितों तक पहुंच

जो लोग किसी कारणवश अपने परिवार से दूर रहकर नौकरी, पढ़ाई लिखाई या कामकाज इत्यादि करते हैं, तो वे सोशल मीडिया की सहायता से अपने परिवार और परिचितों के साथ संवाद कर सकते हैं। व्हाट्सएप जैसे कई बेहतरीन चैटिंग एप्स के जरिए आप अपने परिचितों से जुड़े रह सकते हैं।

विविध संस्कृतियों की पहचान

अपने निजी जीवन या संस्कृति से अलग हटकर दुनिया की तमाम संस्कृतियों के विषय में ज्ञान प्राप्त कर उनसे सोशल मीडिया के सहायता से जुड़ा जा सकता है। 

इसका उपयोग कर के बेहद आसानी से इन संस्कृतियों की पहचान की जा सकती है। इसके अलावा संस्कृति के उत्थान से लेकर वर्तमान तक की सारी कुंडली सोशल मीडिया पर उपलब्ध है।

मनोरंजन का साधन

अधिकतर लोग मनोरंजन के उद्देश्य से सोशल मीडिया का ज्यादा उपयोग करते हैं। यहां अपने मनपसंद टेलीविजन प्रसारण से लेकर सभी कार्यक्रम सोशल मीडिया की सहायता से देखे जा सकते हैं। इस तरह समय व्यतीत करने और मनोरंजन का भी एक माध्यम है।

सोशल मिडिया के नुकसान (10 Disadvantages of Social Media in Hindi)

साइबर बुलिंग

सोशल मीडिया के जरिए साइबर बुलिंग जैसे गंभीर अपराधों को भी अंजाम दिया जाता है। इसके अलावा मादक पदार्थों के सेवन, अपराधिक गतिविधियों इत्यादि जैसे संवेदनशील कृति भी दर्शकों के जीवन को प्रभावित करते हैं। खास तौर पर बच्चे साइबर बुलिंग का अधिक शिकार होते हैं।

समय की बर्बादी

जिसने सोशल मीडिया के इस विशाल दुनिया में रहना सीख लिया, उसके लिए यह किसी वरदान से कम नहीं। लेकिन इसके जंजाल में जो फस गया, वह कोई भी लाभ लेने के बजाय केवल अपना समय व्यर्थ करता रहता है।

कई सोशल रिपोर्ट में यह बताया गया है कि लोग ज्यादातर अपने समय की बर्बादी सोशल मीडिया के कारण ही करते हैं।

साईबर स्टॉकिंग

सभी जानते हैं कि साइबरस्टॉकिंग एक गंभीर अपराध है, जो अवैध गतिविधि के अंतर्गत भी आता है। ऐसे साइबर क्रिमिनल्स हर समय आपके जरूरी पर्सनल डिटेल्स पर नजर गड़ाए बैठे रहते हैं, जिनसे वह आप को ब्लैकमेल करके लाभ उठा सकें।

अपराध को बढ़ावा

यह वास्तविकता है कि सोशल मीडिया के अधिकतम उपयोग के कारण समाज में अपराधिक गतिविधियां बढ़ रही हैं। कम उम्र के नौजवान ही ऐसी गतिविधियों के चपेट में ज्यादा आते हैं। यह समाज के लिए बहुत नकारात्मक प्रभाव है।

झूठे अफ़वाह

कई बार समाज में अशांति फैलाने के लिए झूठी अफवाहें फैला दी जाती हैं, जिसके कारण माहौल बहुत बिगड़ जाता है। ऐसी अफवाहें कई बार आक्रामकता और दंगे का स्वरूप भी ले लेते हैं।

शिक्षा पद्धति पर विपरीत प्रभाव

यह सच है कि सोशल मीडिया आज के शिक्षा पद्धति पर बहुत नकारात्मक प्रभाव डाल रहा है। शिक्षा संस्थानों में अब इस प्रकार से पढ़ाई लिखाई नहीं हो रही है, जैसे पहले के समय में होती थी। 

विद्यार्थियों के हाथ में पुस्तकों से ज्यादा मोबाइल फोंस देखने को मिलता है, जिससे यह साबित होता है कि सोशल मीडिया किस तरह से विद्यार्थियों की शिक्षा को प्रभावित कर रही है।

हैकिंग

साइबर हैकिंग के विषय में तो आप सभी ने सुना ही होगा। सोशल मीडिया साइबर हैकर्स के लिए लक्ष्य साधने का एक आसान रास्ता है। हैकर्स दूसरों के पर्सनल डिटेल्स की चोरी करते हैं। यदि सुरक्षा नहीं बरती गई तो आपको इस बात का आभास भी नहीं होगा, कि कब आप साइबर अपराधियों के नजर में आ जाएंगे।

स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं

सोशल मीडिया का ज्यादा उपयोग करने के कारण स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याएं भी खड़ी हो जाती है। इसके उपयोग से सोशल मीडिया की लत भी लग जाती है। इसके कारण आंखों में जलन की समस्या, आखों का नंबर बढ़ना और नींद की कमी जैसी अन्य समस्याएं भी उत्पन्न होती हैं।

द्वेषपूर्ण व कट्टरवाद संवादों को बढ़ावा

देश में अशांति फैलाने वाले कट्टरवादी समुदाय हर समय अपने प्रोपेगेंडा के जरिए द्वेष पूर्ण गतिविधियों को बढ़ावा देते रहते हैं। सोशल मीडिया के उपयोग से ही ऐसे असामाजिक तत्व देश में दंगे करवाते हैं।

ऑनलाइन ट्रोलिंग

ऑनलाइन ट्रोलिंग एक बहुत बड़ी समस्या बन चुकी है। कई बार लोगों को इतना टोल कर दिया जाता है, कि वे आत्महत्या करने पर भी मजबूर हो जाते हैं। 

किसी दो तीन व्यक्ति के बोलने से कोई अधिक प्रभाव नहीं पड़ता लेकिन जब करोड़ों लोग एक साथ मिलकर ऑनलाइन ट्रोलिंग करते हैं, तो सामने वाले व्यक्ति के भविष्य पर भी इसका नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

सोशल मिडिया के दुष्प्रभाव से कैसे बचें?

डिजिटल साक्षरता की जरूरत 

देश दुनिया में बढ़ते डिजिटल क्राइम्स को नजरअंदाज न करते हुए स्कूल कॉलेजों के पाठ्यक्रम और स्थानीय लोगों को डिजिटल साक्षरता से अवगत कराना।

उपयोग के लिए समय निर्धारण

सोशल मीडिया पर अपने कीमती समय को व्यर्थ न करके इसके उपयोग के लिए एक निश्चित समय का निर्धारण करना।

फ़ोन से दूरी बनाए

यदि जरूरी ना हो तो अपने खाली समय में कुछ अन्य महत्वपूर्ण कार्य करना और फोन से दूरी बना लेना चाहिए।

बच्चों के सर्च हिस्ट्री पर नज़र रखें

बच्चों में इतनी बुद्धि नहीं होती, कि वह क्या देखें और क्या नहीं। इसीलिए सभी अभिभावकों को अपने बच्चों के सर्च हिस्ट्री पर जरूर नजर रखना चाहिए।

वास्तविक जीवन जिए

सोशल मीडिया की नकली जिंदगी को छोड़कर अपने अनमोल जीवन के हर एक पल को खुल कर जीना चाहिए और नई चीजें सीखनी चाहिए।

द्वेषपूर्ण कंटेंट से दूर रहें

समय बहुत कीमती है, इसीलिए इसे केवल अपने विकास के लिए ही उपयोग करें और कट्टरवादी कंटेंट से बहुत दूर रहें।

मनोरंजन के लिए निर्भर न हों

मनोरंजन के लिए सोशल मीडिया इकलौता साधन नहीं है। कोशिश करें कि मनोरंजन के उद्देश्य के लिए अब सोशल मीडिया नहीं बल्कि किसी दूसरे चीज को सहारा बनाए।

स्वास्थ्य पर ध्यान दें

एक अच्छा स्वास्थ्य किसी वरदान से कम नहीं होता इसीलिए सोशल मीडिया के चक्कर में अपना स्वास्थ्य ना बिगड़े। इसका उपयोग करते समय, समय निर्धारित करके उचित मात्रा में इसका उपयोग करें।

निजी जानकारियों को गुप्त रखे

अपनी सभी जानकारियों को सोशल मीडिया पर शेयर करना किसी जोख़िम से कम नहीं। कभी भी अपनी पर्सनल डिटेल्स को दूसरों के साथ साझा करने से पहले सौ बार सोचें।

विवेकपूर्वक उपयोग

सोशल मीडिया पर ट्रेंड करने वाले अफवाहों से सजग रहना और उनके विषय में पूरी जानकारी इकट्ठा करके ही कुछ निर्णय लेना।

15 thoughts on “सोशल मिडिया का समाज पर प्रभाव Impact of Social Media on Society in Hindi”

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.