नेतृत्व कला पर निबंध Essay on Leadership in Hindi

नेतृत्व कला पर निबंध Essay on Leadership in Hindi

नेतृत्व एक महान गुण है जिसे अपनाकर व्यक्ति समाज और खुद के लिए एक मिसाल बन सकता है। आज हमारे चारो ओर अनेक नेता मौजूद है जिनके बताये रास्ते पर सभी लोग चलते है। “नेतृत्व” शब्द की उत्पत्ति ‘Lead’ शब्द से हुई है जिसका अर्थ है मार्गदर्शन करना।

यह मार्गदर्शन किसी भी क्षेत्र में हो सकता है जैसे राजनीति के क्षेत्र में महात्मा गांधी ने हमारे देश का नेतृत्व किया। व्यापार के क्षेत्र में धीरूभाई अम्बानी, रतन टाटा, बिड़ला आदि ने नेतृत्व किया। सॉफ्टवेर निर्माण के क्षेत्र में बिल गेट्स ने सम्पूर्ण विश्व का नेतृत्व किया।

इस योग्यता का सम्बन्ध मानसिक योग्यता से है। जो व्यक्ति सभी बातो को गहराई से जानता समझता है वही नेतृत्व कर पाता है। इसलिए लिए उस क्षेत्र का ज्ञान होना बहुत आवश्यक है। आज हम अपने चारो ओर विभिन्न लोगो को देखते है जिन्होंने अपने-अपने क्षेत्रो में विकास किया और समाज को आगे बढ़ाया। नेतृत्व का सम्बन्ध सिर्फ राजनितिक नेता बनना नही होता है।

किसी भी क्षेत्र में लोगो का मार्गदर्शन करने वाले व्यक्ति को नेता कहते है और उसकी योग्यता को नेतृत्व कला कहते है। इसे ज्ञान की एक शाखा माना जाता है। नेतृत्व वही कर सकता है जो ज्ञानी और बुद्धिजीवी होगा।

नेतृत्व कला पर निबंध Essay on Leadership in Hindi

नेतृत्व कला/अग्रणीयता की परिभाषा   DEFINITIONS OF LEADERSHIP IN HINDI

एलन कीथ गेनेंटेक-  “नेतृत्व वह है जो अंततः लोगों के लिए एक ऐसा मार्ग बनाना जिसमें लोग अपना योगदान दे कर कुछ असाधारण कर सकें”  

हाज एवं जानसन- “औपचारिक, अनौपचारिक परिस्थितियों में व्यक्तियों के व्यवहार को अनुकूल करने की योग्यता नेतृत्व है”

टेरी- “नेतृत्व अधीनस्थों को उनके ऐच्छिक संघर्ष के लिए प्रेरित करने का कार्य है, ताकि सामूहिक उद्देश्य प्राप्त हो सकें”

डगलस मैकग्रैगर- “नेतृत्व, नेता और परिस्थितियों के संबंध का नाम है।  परिस्थिति के सम्मुख उभरना ही नेतृत्व है”

चेस्टर बर्नाड- “नेतृत्व सामूहिक इच्छा शक्ति” को संचार के माध्यम से समन्वित करता है ताकि उद्देश्य प्राप्त हो सके”

कीथ डेविस- “नेतृत्व परिभाषित लक्ष्यों को प्राप्त करने हेतु अन्य को सहमत करने की क्षमता है”

विश्व के प्रमुख नेतृत्व कर्ता/ नेता- WORLD’S FAMOUS LEADERS

अब्राहम लिंकन इन्होने रंगभेद की निति को खत्म किया। उत्तरी अमेरिका में काले लोगो को गोरो के बराबर सम्मान दिलाया। अश्वेत गुलाम प्रथा को खत्म किया।

महात्मा गांधी हमारे देश को आजाद किया। दलित लोगो के लिए “हरीजन” शब्द बनाया और उनको सम्मान दिलाया। दलित प्रथा, छुआछूत को खत्म करने में योगदान दिया।

मलाला युसुफ़ज़ई इन्होने पाकिस्तान में रहते हुए आतंकवादियों का सामना किया और गोली खाने के बाद भी वहां की लड़कियों को स्कूल जाने के लिए प्रेरित किया।

मार्क जुकेरबर्ग इन्होने “फेसबुक” बनाकर सोशल मिडिया का नया रूप पेश किया। आज इनकी कम्पनी दुनिया की सबसे बड़ी सोशल मिडिया कम्पनी है। वर्तमान में जुकेरबर्ग 3 लाख करोड़ रुपयों के मालिक है।

किरण मजूमदार शॉ- इन्होने “बायोकॉन लिमिटेड” कम्पनी बनाई है। ये दुनिया की सबसे शक्तिशाली महिलाओं में से एक हैं। जैव-प्रौद्योगिकी क्षेत्र में इन्होने अहम योगदान दिया है।

इंद्रा नूई ये अमेरिका में पेप्सी की मुख्य कार्यकारी अधिकारी है। दुनिया की सबसे प्रभावशाली महिलाओं में से एक है। इनके मार्गदर्शन में रहते हुए पेप्सी का लाभ 2.5 अरब अमेरिकी डॉलर से बढ़कर 6.5 अरब अमेरिकी डॉलर हो गया। ‘वाल स्ट्रीट जर्नल’ ने उन्हें 2008 मे ‘50 वीमेन टू वाच’ सूची में रखा था।

किरण बेदी- ये देश की पुलिस सेवा (IPS) में पहली महिला अधिकारी है। इन्होने दिल्ली की “तिहाड़ जेल” को आदर्श स्थल बनाया। अपराधियों का मानवीयकरण का काम शुरू किया।

स्टीव जॉब्स इन्होने मोबाइल, लैपटॉप, और कम्प्यूटर के क्षेत्र में क्रान्ति ला दी। इन्होने मेकिनटोश एप्पल 1 कंप्यूटर का आविष्कार किया। इनको माइक्रो कम्प्यूटर क्रान्ति का जनक कहा जाता है। इन्होने “ऐप्पल” कम्पनी की स्थापना की। इसके i-phones आज के समय में प्रचलित है।

इस तरह हम देखते है की नेतृत्व क्षमता किसी भी क्षेत्र में दिखाई जा सकती है।

कुशल नेतृत्व कला/अग्रणीयता की विशेषताएँ CHARACTERISTICS OF LEADERSHIP

इसके द्वारा लोगो का मनोबल बढ़ाया जाता है। उनको प्रेरित किया जाता है। समाज नेताओं के दिखाये रास्ते पर चलने का प्रयास करता है। इसके द्वारा मानवीय घटकों का प्रबन्धन किया जाता है।

उदाहरण के तौर पर किसी फैक्ट्री में काम करने वाले मजदूर अपने अधिकारी के निर्देश का पालन करते है तभी अच्छा उत्पाद बना पाते है। नेतृत्व कला में लोगो का एक समूह होता है और साथ ही एक सामूहिक उद्देश्य होता है। जैसे जब देश गुलाम था तो सभी देशवासियों का एक उद्देश्य था अंग्रेजो से आजादी पाना।

सफल नेता वही बन सकता है जो लोगो को समझता हो। व्यावहारिक ज्ञान रखता हो। किताबी ज्ञान वाले लोग सफल नेता नही बन सकते है। सफल नेता बनने के लिए बातचीत करने की अच्छी कला होना जरुरी है।

यदि नेता अपने मन की बात लोगो को बता ही नही पायेगा तो सब प्रयास विफल हो जायेगा। उदाहरण के तौर पर हमारे देश के प्रधानमंत्री- नरेंद्र मोदी जो बोलने और भाषण देने की कला में माहिर है।

स्वेच्छा से काम करना– एक सफल नेता कभी भी पैसे के लिए काम नही करता है। वो समाज बदलना चाहता है। नई क्रांति लाना चाहता है, कुरीतियों को खत्म करना चाहता है इसलिए उसका स्वेच्छा से काम करना जरूरी है। किसी को जबरदस्ती नेता नही बनाया जा सकता।

यह एक प्राकृतिक गुण है। यह एक प्रबंधकीय कार्य है। एक सफल नेता वही बन सकता है जिसको शासन, प्रसासन, और प्रबन्धन का ज्ञान हो। उदाहरण के लिए एक जिलाधिकारी पूरे जिले का नेतृत्व करता है। जिले में होने वाली किसी भी अच्छी बुरी घटना का उत्तरदायी होता है।

नेतृत्व कला के लिए परिस्तिथि का होना बहुत जरूरी है। जैसे कुछ साल तक हमारा देश इंटरनेट के इस्तेमाल में बहुत पीछे था। लोगो को ये सुविधा बहुत ही महंगे शुल्क पर मिल रही थी और क्वालिटी भी बेहद घटिया थी।

आज भारत में मुकेश अम्बानी ने “जिओ” जैसी कम्पनी लांच करके देशवासियों को सस्ती और अच्छी क्वालिटी की सेवा दी है। इस तरह से उन्होंने अपनी नेतृत्व क्षमता को देश के सामने प्रस्तुत किया है।

नेतृत्व के प्रकार TYPES OF LEADERSHIP

  • नौकरशाह
  • अधिनायक
  • कुटनीतिज्ञ
  • विशेषज्ञ
  • सहभागी

नेतृत्व के कार्य FUNCTIONS OF LEADERSHIP

  • निर्णय करना
  • सलाह, सुझाव देना
  • उद्देश्य बनाना
  • प्रेरणा देना, प्रेरणा श्रोत बनना
  • प्रबन्धन करना
  • प्रतिनिधित्व करना
  • ऐसी नीतियाँ बनाना जिससे उस संस्था, कम्पनी, क्षेत्र, देश, प्रदेश, राज्य का विकास हो सके, लाभ हो सके
  • नये आविष्कार और नई खोजे करना
  • नई विकासकारी योजनाये बनाना
  • समाज, देश, विश्व के लिए मिसाल बनना
  • आदेश देना
  • अनुशासन बनाना
  • अधीन कर्मचारियों, अनुयायियों का पोषण करना, उनका मार्गदर्शन करना
  • कर्मचारियों, अनुयायियों में समन्वय बनाये रखना
  • किसी भी संकट से सस्था, कम्पनी, क्षेत्र, देश, प्रदेश, राज्य को बचाना, समस्याओं का हल निकालना

सफल नेतृत्व कला कैसे सीखे? HOW TO DEVELOP GOOD LEADERSHIP SKILLS?

  • लोगो, अनुयायियों से काम करवाने की कला होनी चाहिये
  • नेता के पास खुद से बड़ा लक्ष्य होना चाहिये
  • अपने काम को ध्यान से करे
  • जिम्मदार होना चाहिये
  • आपके अंदर आत्मविश्वास होना जरूरी है
  • सफल नेता के लिए प्रतिबद्धता, कमिटमेंट होना जरूरी है
  • अपने कर्मचारी, अनुयायिओं से सम्पर्क बनाये रखे, उसकी समस्या को सुने
  • अपनी ताकत और कमजोरी पहचाने
  • संगठित रहना जरूरी है
  • अपने क्षेत्र के बारे में जानकारी रखे, आने वाली चुतानियों के लिए तैयार रहे

नेतृत्व कला का महत्व IMPORTANCE OF LEADERSHIP

  • उच्च स्तरीय प्रबन्धन जैसे CEO, चेयरमैन, MD
  • मध्यम स्तरीय प्रबंधन  जैसे निदेशक, विभाग प्रमुख,
  • सम्मुख स्तर प्रबन्धन जैसे निम्न श्रेणी के कार्यकर्ता, कर्मचारी, फोरमैन, सुपरवाइसर

निष्कर्ष Conclusion

नेतृत्व कला अपने आप मे एक अद्भुत कला है। जिन लोगो में ये क्षमता होती है उनका सम्मान पूरे समाज में होता है। आज हम सभी अपने नेताओं को और उनके द्वारा दिए गये योगदानो को याद करते है। उनके बताये रस्ते पर चलते है।

एक बड़े स्तर पर कहा जा सकता है कि नेतृत्व कला जन्मजात योग्यता है। यह किसी को सिखाई नही जा सकती। पर यदि किसी व्यक्ति में यह हुनर है तो उसे निखारा जरुर जा सकता है। आज के लेख मे हमने अपने आपको नेतृत्व कला के बारे में विस्तार से रोचक जानकारी दी है। आपको ये लेख कैसा लगा जरुर बतायें।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.